1. हिन्दी समाचार
  2. तबलीगी जमात: मौलाना साद के ठिकाने का चल गया पता फिर भी दिल्ली पुलिस ने नही किया गिरफ्तार

तबलीगी जमात: मौलाना साद के ठिकाने का चल गया पता फिर भी दिल्ली पुलिस ने नही किया गिरफ्तार

Tabligi Jamaat Maulana Saads Whereabouts Revealed Yet Delhi Police Did Not Arrest

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या देश में 6000 के आस पास पंहुच गयी है। ये संख्या बीते एक हफ्ते में दोगुनी हो गयी हैं। पूरे देश में संक्रमितों की संख्या में हुई बढ़ोतरी के पीछे तबलीगी जमात को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। लेकिन जमात के अमीर मौलाना साद अब तक फरार हैं। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, मौलाना साद को दिल्ली के जाकिर नगर में ट्रेस कर लिया गया है लेकिन अभी भी उसकी गिरफ्तारी नही की गयी है।

पढ़ें :- महराजगंज:महिला अस्पताल में सीएमओ को लगा पहला टीका, डीएम ने जांची व्यवस्था

क्राइम ब्रांच सूत्रों के मुताबिक, मौलाना साद दिल्ली के जाकिर नगर में स्थित अपने घर में क्वारंटाइन हैं। हालांकि, दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि मौलाना साद से अभी पूछताछ नहीं कर सकती है। दरअसल, जमात से जुड़े अधिकतर लोगों में जिस तरह से कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है, उससे यह भी आशंका है कि मौलाना साद भी कोरोना की चपेट में न आ गए हों। इसलिए एहतियातन क्राइम ब्रांच अभी मौलाना साद के क्वारंटाइन अवधि के पूरा होने का इंतजार कर रही है।

निजामुद्दीन स्थित मरकज के मौलाना 31 मार्च को मुकदमा दर्ज होने के बाद से दिल्ली पुलिस की पकड़ में नहीं आ रहे हैं। उत्तर प्रदेश के शामली स्थित उनके पैतृक निवास कांघला से लेकर सहारनपुर स्थित उनके ससुराल तक पुलिस ने दबिश दी थी। दिल्ली में निजामुद्दीन और जाकिर नगर के घर पर भी उन्हें तलाशा गया था। लेकिन वह जांच एजेंसी के हाथ नहीं लगे। इस मामले में आरोपी बनाए गए उनके छह साथियों के बारे में भी पुलिस को कुछ पता नहीं लग सका है। मौलाना साद की लोकेशन अब जाकिर नगर में किसी रिश्तेदार के घर बताई जा रही है। क्राइम ब्रांच के अफसरों का कहना है कि वह इसे पुख्ता कर रहे हैं, जिसके बाद उन पर निगरानी रखी जाएगी।

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में हुई बड़ी लापरवाही के मुख्य आरोपी मौलाना साद और प्रबंधन से जुड़े पदाधिकारियों से क्राइम ब्रांच ने सवाल पूछे हैं। मौलाना साद के नाम से जारी नोटिस में 26 सवालों का जवाब पूरे विवरण के साथ मांगा है। जिसमें संगठन के रजिस्ट्रेशन से लेकर उससे जुड़ी कई गतिविधियों से जुड़ी जानकारियां शामिल हैं। क्राइम ब्रांच ने मरकज से जुड़े जमात के 11 लोगों से पूछताछ की है। उनके जरिए जांच से जुड़े कुछ तथ्यों का पता लगाने का प्रयास किया गया। बरामद दस्तावेजों से जुड़ी जानकारी के बारे में पूछताछ की गई। मरकज आने वाले लोगों की एंट्री के काम से जुड़े कर्मियों का ब्योरा भी लिया गया है।

पढ़ें :- ब्रिसबेन में खेला जा रहा चौथे टेस्ट मैच दूसरे दिन बारिश के कारण रूका खेल, भारत ने गवाएं दो विकेट

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...