पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय

नेता बनने की चाहत लिए डीजीपी पद से वीआरएस लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय बने कथावाचक

नेता बनने की चाहत लिए डीजीपी पद से वीआरएस लेने वाले गुप्तेश्वर पांडेय बने कथावाचक

पटना। बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडये अपने बयान के कारण अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। बिहार विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने वीआरएस ले लिया था, जिसके बाद वह नीतीश कुमार की पार्टी का दामन थाम लिए थे। हालांकि चुनाव में उन्हें नीतीश कुमार ने टिकट नहीं दिया। वहीं अब

‘कथावाचक’ बने बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, दिख रहे हैं अध्यात्म में लीन

‘कथावाचक’ बने बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, दिख रहे हैं अध्यात्म में लीन

पटना: बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय अब आध्यात्म में लीन दिख रहे हैं।एक बार फिर चर्चाओं में है। इस बार हो रही चर्चा की वजह है कि पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर अब कथावाचक के अवतार में नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर पूर्व डीजीपी का एक पोस्टर भी तेजी