Astrology Today News in Hindi

27 जून 2022 का पंचांग: जाने आज का पंचांग, शुभ मुहूर्त और नक्षत्र की चाल के बारे में …

27 जून 2022 का पंचांग: जाने आज का पंचांग, शुभ मुहूर्त और नक्षत्र की चाल के बारे में …

27 जून 2022 का पंचांग : आज आषाढ़ कृष्ण पक्ष की चतुर्दर्शी तिथि और सोमवार का दिन है। चतुर्दर्शी तिथि आज का पूरा दिन पार कर के अगले दिन सुबह 5 बजकर 13 मिनट तक रहेगी। आज सुबह 6 बजकर 47 मिनट तक शूल योग रहेगा। साथ ही आज शाम

Astrology : आज का पंचांग, यहां जाने शुभ मुहूर्त और नक्षत्र की चाल

Astrology : आज का पंचांग, यहां जाने शुभ मुहूर्त और नक्षत्र की चाल

Panchang for 2nd June 2022: ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष तृतीया, गुरुवार, राक्षस संवत्सर विक्रम संवत 2079, शक संवत 1944. शुभ पंचांग, मुहूर्त के बारे में जानें.. विक्रम संवत – 2079, राक्षस शक सम्वत – 1944, शुभकृत् पूर्णिमांत – ज्येष्ठ अमांत – ज्येष्ठ तिथि (Tithi) शुक्ल पक्ष तृतीया – Jun 01 09:47

पंचांग: मंगलवार, 31 मई, 2022

पंचांग: मंगलवार, 31 मई, 2022

पंचांग: मंगलवार, 31 मई, 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – ज्येष्ठ तिथि शुक्ल पक्ष प्रतिपदा – 30 मई 05:00 अपराह्न – 31 मई 07:19 अपराह्न शुक्ल पक्ष द्वितीया – 31 मई 07:19 अपराह्न – जून 01 09:47 अपराह्न

वास्तु टिप्स: नीम का पेड़ शनि और पितृ दोष से छुटकारा पाने में करता है मदद। जानिए इसका लाभ

वास्तु टिप्स: नीम का पेड़ शनि और पितृ दोष से छुटकारा पाने में करता है मदद। जानिए इसका लाभ

धार्मिक शास्त्रों में पेड़-पौधों सहित प्रकृति के सभी तत्वों को बहुत महत्व दिया गया है। इन्हीं में से एक है। नीम का पेड़ यह न केवल स्वास्थ्य की दृष्टि से अच्छा है बल्कि ज्योतिष शास्त्र में भी यह पेड़ बहुत ही परोपकारी और लाभकारी माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के

पंचांग: सोमवार, 30 मई, 2022

पंचांग: सोमवार, 30 मई, 2022

पंचांग: सोमवार, 30 मई, 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – वैशाख तिथि कृष्ण पक्ष अमावस्या – 29 मई 02:55 अपराह्न – 30 मई 05:00 अपराह्न शुक्ल पक्ष प्रतिपदा – 30 मई 05:00 अपराह्न – 31 मई 07:19

सोमवती अमावस्या 2022: धन संबंधी समस्याओं, बेरोजगारी और आर्थिक संकट की समस्या से निजात पाने के लिए करें ये खास उपाय

सोमवती अमावस्या 2022: धन संबंधी समस्याओं, बेरोजगारी और आर्थिक संकट की समस्या से निजात पाने के लिए करें ये खास उपाय

सोमवती अमावस्या 2022: इस साल 30 मई को ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की अमावस्या और सोमवार है। सोमवार के दिन पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या के नाम से जाना जाता है। अमावस्या तिथि 30 मई शाम 5 बजे तक रहेगी। 30 मई की रात 11.38 बजे तक सुकर्म योग रहेगा।

पंचांग: रविवार, 29 मई 2022

पंचांग: रविवार, 29 मई 2022

पंचांग: रविवार, 29 मई 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – वैशाख तिथि कृष्ण पक्ष चतुर्दशी – 28 मई 01:09 अपराह्न – 29 मई 02:55 अपराह्न कृष्ण पक्ष अमावस्या – 29 मई 02:55 अपराह्न – 30 मई 05:00

पंचांग: शनिवार, 28 मई, 2022

पंचांग: शनिवार, 28 मई, 2022

पंचांग: शनिवार, 28 मई, 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – वैशाख तिथि कृष्ण पक्ष त्रयोदशी – 27 मई 11:48 पूर्वाह्न – 28 मई 01:09 अपराह्न कृष्ण पक्ष चतुर्दशी – 28 मई 01:09 अपराह्न – 29 मई 02:55

वट सावित्री व्रत 2022: विवाहित महिलाओं को व्रत करते समय कभी नहीं करनी चाहिए ये गलतियां

वट सावित्री व्रत 2022: विवाहित महिलाओं को व्रत करते समय कभी नहीं करनी चाहिए ये गलतियां

वट सावित्री व्रत 2022: वट सावित्री व्रत हर साल कृष्ण पक्ष की अमावस्या के दिन मनाया जाता है। इस वर्ष वट सावित्री का व्रत 30 मई 2022 को होगा। सोमवती अमावस्या भी 30 मई को है, इस दिन किए गए व्रत, स्नान, दान और पूजा का फल बेजोड़ है। वट

जून 2022 व्रत कैलेंडर: गणेश चतुर्थी से लेकर माशिक शिवरात्रि तक, देखिये इस महीने के सभी त्योहारों की सूची

जून 2022 व्रत कैलेंडर: गणेश चतुर्थी से लेकर माशिक शिवरात्रि तक, देखिये इस महीने के सभी त्योहारों की सूची

जून 2022 व्रत कैलेंडर: वैनायकी श्री गणेश चतुर्थी से जो 11 जून 2022 को पड़ता है, 27 जून, 2022 को माशिक शिवरात्रि, वर्ष के छठे महीने, जून में कई व्रत और त्यौहार होते हैं। साथ ही इस माह शनिवार 11 जून को निर्जला एकादशी भी है जिसे भीमसेनी एकादशी के

पंचांग: शुक्रवार, 27 मई, 2022

पंचांग: शुक्रवार, 27 मई, 2022

पंचांग: शुक्रवार, 27 मई, 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – वैशाख तिथि कृष्ण पक्ष द्वादशी – 26 मई 10:54 पूर्वाह्न – 27 मई 11:48 पूर्वाह्न कृष्ण पक्ष त्रयोदशी – 27 मई 11:48 पूर्वाह्न – 28 मई 01:09

देखिये केसर के 7 लाभ: यह आपकी किस्मत को चमकाता है और वित्तीय नुकसान की भरपाई करने में मदद करता है।

देखिये केसर के 7 लाभ: यह आपकी किस्मत को चमकाता है और वित्तीय नुकसान की भरपाई करने में मदद करता है।

केसर का इस्तेमाल खाने के स्वाद और रंग को बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन एक तरफ जहां केसर खाने का स्वाद बढ़ा देता है वहीं दूसरी तरफ ज्योतिष के अनुसार केसर के कई फायदे हैं सनातन धर्म की बात करें तो पूजा में केसर का अधिक महत्व है।

जानिए शनिदेव को प्रसन्न करने के उपाय

जानिए शनिदेव को प्रसन्न करने के उपाय

शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है। वह कर्म का शासक है और लोगों को उनके कर्मों के अनुसार पुरस्कृत करता है। लोगों के विश्वास के विपरीत, शनिदेव न केवल लोगों के लिए बुरी स्थिति लाते हैं बल्कि यह सुनिश्चित करते हैं कि हर किसी को उनके कार्यों का

शनि जयंती 2022: जानिए तिथि, महत्व, उपय और वह सब कुछ

शनि जयंती 2022: जानिए तिथि, महत्व, उपय और वह सब कुछ

शनि जयंती 2022: ज्योतिष के अनुसार नौ ग्रहों में शनि उर्फ ​​शनि का विशेष स्थान है। शनि जयंती या शनि देव की जयंती ज्येष्ठ मास और वैशाख मास की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है। शनि ग्रह, जो किसी व्यक्ति को दंड देने या आशीर्वाद देने के लिए जाना जाता

पंचांग: बुधवार, 25 मई, 2022

पंचांग: बुधवार, 25 मई, 2022

पंचांग: बुधवार, 25 मई, 2022 विक्रम संवत – 2079, राक्षस : शक संवत – 1944, शुभकृतो पूर्णिमांता – ज्येष्ठ : अमंत मास – वैशाख तिथि कृष्ण पक्ष दशमी – 24 मई 10:45 पूर्वाह्न – 25 मई 10:32 पूर्वाह्न कृष्ण पक्ष एकादशी – 25 मई 10:32 पूर्वाह्न – 26 मई 10:54