Lakhimpur Violence News in Hindi

Lakhimpur Violence पर बोली प्रियंका ने लिखी पीएम को लिखी चिट्ठी, कहा- उनको बर्खास्त कीजिये…

Lakhimpur Violence पर बोली प्रियंका ने लिखी पीएम को लिखी चिट्ठी, कहा- उनको बर्खास्त कीजिये…

लखनऊ: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) ने लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence) मामले में पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए पीएम मोदी (PM Modi) को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने यूपी सरकार पर न्याय की आवाज दबाने का आरोप लगाया। आपको बता दें, इस चिट्ठी में प्रियंका ने लखीमपुर (Lakhimpur

Lakhimpur Kheri Case: घर के बाहर नोटिस चस्पा होते ही बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच पहुंचे अंकित दास

Lakhimpur Kheri Case: घर के बाहर नोटिस चस्पा होते ही बयान दर्ज कराने क्राइम ब्रांच पहुंचे अंकित दास

Lakhimpur Kheri Case: लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में पुलिस कार्रवाई में जुटी हुई है। कस्टडी रिमांड में आशीष मिश्रा (Ashish Mishra) से पूछताछ जारी है। इस बीच एसआईटी (SIT) ने आज लखनऊ स्थित अंकित दास (Ankit Das) के घर के बाहर नोटिस चस्पा किया है, जिसके बाद

वरुण गांधी और बीजेपी नेतृत्व में बढ़ी दूरियां, तो कांग्रेस ने किया स्वागत लिखा ‘दुख भरे दिन बीते रे भइया…’

वरुण गांधी और बीजेपी नेतृत्व में बढ़ी दूरियां, तो कांग्रेस ने किया स्वागत लिखा ‘दुख भरे दिन बीते रे भइया…’

प्रयागराज। पीलीभीत (Pilibhit) से बीजेपी (BJP) सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) किसानों आंदोलन के दौरान हुई हिंसा व अन्य मुद्दों को लेकर लगातार योगी सरकार (Yogi Government)  को चुनौती देते दिख रहे हैं। इसी बीच कांग्रेस (Congress) के नेताओं ने वरुण गांधी (Varun Gandhi) बगावती रुख को भांपते हुए उनके

BJP MP Varun Gandhi को मिला शिवसेना का साथ, बोली- खड़ा करना होगा नया स्वतंत्रता आंदोलन

BJP MP Varun Gandhi को मिला शिवसेना का साथ, बोली- खड़ा करना होगा नया स्वतंत्रता आंदोलन

मुंबई। पीलीभीत (Pilibhit) से बीजेपी सांसद वरुण गांधी (BJP MP Varun Gandhi)  किसान आंदोलन और लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence) को लेकर अपनी ही पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं। वरुण गांधी की इस मुहिम को अब शिवसेना का साथ मिल गया है। शिवसेना (Shiv Sena) ने सोमवार को कहा

कहता रहा आशीष की मैं घटना स्थल पर मौजूद नहीं था लेकिन नहीं दे पाया ठोस सबूत, हुआ गिरफ्तार

कहता रहा आशीष की मैं घटना स्थल पर मौजूद नहीं था लेकिन नहीं दे पाया ठोस सबूत, हुआ गिरफ्तार

लखीमपुर। आखिरकार लखीमपुर हिंसा का मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा उर्फ मोनू कल देर रात गिरफ्तार हो गया। क्राइम ब्रांच (Crime Branch) दफ्तर पर लगभग 12 घंटे तक चली पूछताछ के बाद पुलिस ने आशीष को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पूछताछ के दौरान आशीष ने एक ही जवाब देकर पुलिस

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा-लखीमपुर कांड से वापसी की उम्मीद सिर्फ गलतफहमी है

प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा-लखीमपुर कांड से वापसी की उम्मीद सिर्फ गलतफहमी है

नई दिल्ली। लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur Violence) के बाद कांग्रेस नेता राहुल (Rahul gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने जिस तरह से विपक्ष की भूमिका निभाई है उससे कई कयास लगाए जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि कांग्रेस अगर ऐसे ही विपक्ष की भूमिका ​निभाती रही तो वो

Akhilesh Yadav बोले-‘लखीमपुर हत्याकांड’ में वीडियो साक्ष्यों के बावजूद बीजेपी के सत्ता दंभियों को हो गया है मोतियाबिंद

Akhilesh Yadav बोले-‘लखीमपुर हत्याकांड’ में वीडियो साक्ष्यों के बावजूद बीजेपी के सत्ता दंभियों को हो गया है मोतियाबिंद

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा कि ‘लखीमपुर हत्याकांड’ में नये वीडियो साक्ष्यों के बावजूद भी भाजपा सरकार को कुछ नज़र नहीं आ रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा को सत्ता के दंभ

BJP MP Varun Gandhi ने लखीमपुर हिंसा का शेयर किया नया वीडियो, बोले- निर्दोष किसानों के बिखरे खून की जवाबदेही तय होनी चाहिए

BJP MP Varun Gandhi ने लखीमपुर हिंसा का शेयर किया नया वीडियो, बोले- निर्दोष किसानों के बिखरे खून की जवाबदेही तय होनी चाहिए

पीलीभीत। पीलीभीत से बीजेपी के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) किसानों के मसले पर लगातार आवाज उठा रहे हैं। लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur violence)  मामले पर पहले भी ट्वीट कर वरुण गांधी (Varun Gandhi)  ने अब वीडियो ट्वीट कर न्याय की गुहार लगा चुके हैं। लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur violence) की घटना

Lakhimpur Violence: पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, जानिए कैसे हुई किसानों की मौत?

Lakhimpur Violence: पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, जानिए कैसे हुई किसानों की मौत?

लखीमपुर खीरी: किसान आंदोलन (peasant movement) को तकरीबन 9 महीने से ज्यादा हो गायें हैं लेकिन अब तक सरकार उनकी सुनने को तैयार नहीं हुई लेकिन बीते रविवार को लखीमपुर मे हुए हिंसा ने इस आंदोलन को रौद्र रूप (Agitate the movement) लेने पर मजबूर कर दिया। किसानों के विरोध