Lord Shiva News in Hindi

Maha Shivratri 2022: भक्तों की पुकार भगवान शिव शीघ्र सुनते है, इस दिन है शिवरात्रि का विशेष पर्व

Maha Shivratri 2022: भक्तों की पुकार भगवान शिव शीघ्र सुनते है, इस दिन है शिवरात्रि का विशेष पर्व

Maha Shivratri 2022: भगवान शिव की आराधना का विशेष पर्व महाशिवरात्रि है। भगवान शिव को  भोलेनाथ भी कहा जाता है। शिव भक्तों में भगवान शिव को सरल ,निर्मल और दयावान कहा जाता है। भगवान शिव के बारे में मान्यता है कि वे भक्तों की पुकार को जल्द ही सुनते है।

महाशिवरात्रि पर इस तरह से पूजा करने पर भगवान शिव होंगे प्रसन्न

महाशिवरात्रि पर इस तरह से पूजा करने पर भगवान शिव होंगे प्रसन्न

महाशिवरात्रि हिन्दू के लिए बड़ा ही पावन पर्व होता है। इस दिन माता पार्वती और भगवान भोलेनाथ की पूजा की जाती है। भगवान शिव और माता पार्वती के मिलन उत्सव को महाशिवरात्रि पर्व के रूप में मनाते हैं। जो व्यक्ति एस दिन भगवान शिव की  विधि-विधान से पूजा करता है।

Magh Pradosh Vrat 2022:  माघ प्रदोष के दिन भगवान शिव की पूजा  का विशेष महत्व है, प्रभु को अर्पित करना चाहिए धतूरा और पंचामृत

Magh Pradosh Vrat 2022:  माघ प्रदोष के दिन भगवान शिव की पूजा  का विशेष महत्व है, प्रभु को अर्पित करना चाहिए धतूरा और पंचामृत

Magh Pradosh Vrat 2022 : व्रतों में श्रेष्ठ  माघ प्रदोष व्रत का सनातन धर्म में बहुत महत्व है। प्रदोष व्रत के बारे में धर्मिक मान्यता है कि इस व्रत को करने से शिव भगवान की कृपा प्राप्त होती। भगवान शिव को समर्पित प्रदोष  व्रत का पालन भक्त गण निराहार और

Magh Month Pradosh Vrat 2022: इस दिन है माघ माह का पहला प्रदोष व्रत, जानें तिथि और मुहूर्त

Magh Month Pradosh Vrat 2022: इस दिन है माघ माह का पहला प्रदोष व्रत, जानें तिथि और मुहूर्त

Magh Month Pradosh Vrat 2022 : हिंदू धर्म में प्रदोष व्रत की बहुत मान्यता है। माघ माह का पहला प्रदोष व्रत रविवार के दिन पड़ रहा है इसलिये इसे रवि प्रदोष कहा जाता है। माघ माह में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी 30 जनवरी को पड़ने के कारण इसे रवि प्रदोष

Shani Pradosh Vrat 2022 : इस दिन है शनि प्रदोष , भगवान शिव का गंगाजल और गाय के दूध से  करें अभिषेक 

Shani Pradosh Vrat 2022 : इस दिन है शनि प्रदोष , भगवान शिव का गंगाजल और गाय के दूध से  करें अभिषेक 

Shani Pradosh Vrat 2022 : प्रदोष का व्रत जीवन के दोषों को दूर करता है। यह व्रत भगवान भोलेनाथ की आराधना करने का व्रत है। भगवान भोलेनाथ को सर्मपित यह व्रत जीवन के समस्त कष्टों का समूल नाश करता है। सूर्य के उत्तरायण होने के अगले ही दिन 15 जनवरी

Shiv Stuti Monday : भगवान शिव की स्तुति पाठ करने से पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं

Shiv Stuti Monday : भगवान शिव की स्तुति पाठ करने से पूरी होती हैं सभी मनोकामनाएं

shiv stuti monday : सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित है। भगवान शिव को भोलेनाथ, शंकर, महेश, रुद्र, नीलकंठ, गंगाधार आदि नामों से भी जाना जाता है। भक्तों पर शीघ्र ही कृपा कराने वाले भोलेनाथ संपूर्ण सृष्टि के कष्टों को हरते है। भगवान शिव सोमवार के दिन पूजा करने

Kal Bhairav Jayanti 2021: इस दिन है काल भैरव जयंती, भगवान भैरव की पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है

Kal Bhairav Jayanti 2021: इस दिन है काल भैरव जयंती, भगवान भैरव की पूरे विधि-विधान से पूजा-अर्चना की जाती है

Kal Bhairav Jayanti 2021: भगवान भैरव भगवान शिव के रौद्र रूप हैं। मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को कालभैरव जयंती के रूप में मनाते हैं। 27 नवंबर, दिन शनिवार को इस बार कालभैरव की जयंती पड़ रही है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान कालभैरव का

Shami plant : इस पौधे को लगाने से घर में आती है सुख-समृद्धि, घर की कलह को भी करता है दूर

Shami plant : इस पौधे को लगाने से घर में आती है सुख-समृद्धि, घर की कलह को भी करता है दूर

Shami plant: शमी के पौधे को भगवान शिव का सबसे प्रिय माना जाता है। शमी का पौधा जहां होता है वहां भगवान् शिव का वास होता है और शनि की बुरी दृष्टि नहीं पड़ती है। पौधे को घर में लगाने से न सिर्फ सुख-समृद्धि आती है बल्कि पैसे की तंगी

कार्तिक मास प्रदोष व्रत: भगवान शिव के प्रसन्न करने के लिए रख जाता यह व्रत,जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

कार्तिक मास प्रदोष व्रत: भगवान शिव के प्रसन्न करने के लिए रख जाता यह व्रत,जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

प्रदोष व्रत: हर माह की त्रयोदशी के दिन भगवान शिव के प्रसन्न करने के लिए प्रदोष व्रत रखा जाता है।कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी के दिन भी प्रदोष व्रत रखा जाएगा। इस बार 16 नवंबर को प्रदोष व्रत पड़ रहा है। मान्यता है कि जो प्रदोष में पूरे

सावन 2021: इन पत्तियों में होता है शिव का वास,चढ़ाने ​पर मिलता है मनोवांक्षित फल

सावन 2021: इन पत्तियों में होता है शिव का वास,चढ़ाने ​पर मिलता है मनोवांक्षित फल

सावन 2021: इस समय सावन का महीना चल रहा है। सावन भगवान शिव जी का पवित्र महीना है। ऐसी प्राचीन मान्यता है कि इस माह में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हर क्षण,हर घड़ी अनुकूल होती है। भगवान महादेव की पूजा अर्चना के लिए इस माह में शुभ

सावन 2021: सावन माह में करें ये पूजा, नहीं भोगना पड़ेगा बुरे कर्मों का फल

सावन 2021: सावन माह में करें ये पूजा, नहीं भोगना पड़ेगा बुरे कर्मों का फल

सावन 2021: सावन भगवान शिव जी का पवित्र महीना है। इस समय सावन का महीना चल रहा है। ऐसी प्राचीन मान्यता है कि इस माह में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हर क्षण,हर घड़ी अनुकूल होती है। भगवान महादेव की पूजा अर्चना के लिए इस माह में शुभ

नागपंचमी के दिन भगवान शिव को अर्पित करें नाग-नागिन का जोड़ा, इस दोष से मिलेगी मुक्ति

नागपंचमी के दिन भगवान शिव को अर्पित करें नाग-नागिन का जोड़ा, इस दोष से मिलेगी मुक्ति

Nagpanchami: जीवन में जब सफलता नहीं मिलती और संद्यर्षों से रातों दिन सामना करना पड़ता है तो भाग्य के खेल को जानने की इच्छा व्यक्ति के अंदर आ ही जाती है। कुंडली में जब ग्रहों की चाल अनुकूल न हो तो कुंडली के दोषों की ओर ध्यान जाता है। ज्योतिषविदों

सावन सोमवार 2021: सावन का पहला सोमवार है आज, भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

सावन सोमवार 2021: सावन का पहला सोमवार है आज, भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए करें ये काम

Sawan 2021: सवान के सोमवार का विशेष महत्व होता है।आज सावन का पहला सोमवार है। क्योंकि सोमवार का दिन चन्द्र देवता का दिन होता है। और चन्द्रमा के ईष्ट भगवान शिव हैं। सावन के सोमवार को सभी भक्त भगवान शिव की विधि विधान से पूजा करते हैं। सावन के सोमवार

सोमवार को करें भगवान शिव के दर्शन और शिव चालीसा का पाठ, ऊर्जा से रहेंगे लबालब

सोमवार को करें भगवान शिव के दर्शन और शिव चालीसा का पाठ, ऊर्जा से रहेंगे लबालब

लखनऊ: सोमवार भगवान शिव को समर्पित है। सोम यानी चंद्रमा का दिन। इसी के नाम से सप्ताह के शुरुआती दिन को सोमवार भी कहा जाता है। सोम को अमृत कहा जाता है क्योंकि वह कभी नष्ट नहीं होता अर्थात सोम ऊर्जा है। इस दिन सुबह उठकर आप भगवान शिव के

आज है बुध प्रदोष व्रत, इन मंत्रों से भगवान शिव को करें प्रसन्न्

आज है बुध प्रदोष व्रत, इन मंत्रों से भगवान शिव को करें प्रसन्न्

नई दिल्ली: भगवान शिव की असीम कृपा पाने के लिए शिव भक्त भोले नाथ् को प्रसन्न करने के लिए अनेक प्रकार के जप तप करते हैं। भगवान भोले नाथ् का को समर्पित व्रत प्रदोष है। एक महीने में दो बार प्रदोष व्रत पड़ता है। एक कृष्ण पक्ष में और एक