1. हिन्दी समाचार
  2. प्रवासी मजदूरों को लकर राहुल ने केंद्र पर बोला हमला कहा- उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई

प्रवासी मजदूरों को लकर राहुल ने केंद्र पर बोला हमला कहा- उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई

Taking The Migrant Laborers Rahul Said The Attack On The Center Said Saw His Death There Is A Modi Government Which Has Not Been Reported

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के मद्देनजर देश में लगाए गए लॉडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों का मामला एक बार फिर गरम हो गया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रवासी मजदूरों की मौत को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर शायराना अंदाज में हमला बोला है। राहुल गांधी ने कहा है कि मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गईं।

पढ़ें :- हाथरस केस: पीड़ित परिवार से मिलने जायेंगे राहुल और प्रियंका, बढ़ाई की सुरक्षा व्यवस्था

राहुल गांधी ने क्या ट्वीट किया है?

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा है कि मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गईं। तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुई, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई।

बता दें कि मॉनसून सत्र के पहले दिन केंद्र सरकार ने संसद को बताया है कि प्रवासी मजदूरों के मौत का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। लॉकडाउन की वजह से लाखों मजदूरों ने शहरों से गांवों की ओर पलायन किया था, जिनमें से कई की मौत रास्ते में अलग-अलग वजहों से हो गई थी।

मजदूर लॉकडाउन से सबसे ज्यादा हुए प्रभावित

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण जब देश में लॉकडाउन लागू किया गया, तो उस दौरान प्रवासी मजदूर इससे खासा प्रभावित हुए। प्रवासी मजदूरों का जत्था इस दौरान बड़े औद्योगिक शहरों से निकलकर अपने मूल स्थान पर लौटने लगा।

लाखों की संख्या में मजदूर सड़कों पर उतरे और इस दौरान देशभर में कई जगह सड़क हादसे हुए। इसमें कई मजदूरों की मौत हुई। इसके बाद सरकार ने मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया।

सरकार के पास नहीं है कोई डाटा

वहीं, सोमवार को मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने सरकार से सवाल किया कि लॉकडाउन के दौरान कितने प्रवासी मजदूरों की मौत हुई, क्या सरकार के पास इसके संबंध में कोई डाटा है। इस पर केंद्र ने कहा कि सरकार के पास प्रवासी मजदूरों की मौत की संख्या को लेकर कोई डाटा उपलब्ध नहीं है।

पढ़ें :- हाथरस केस: एसआईटी पीड़ित परिवार से मुलाकात कर शुरू की जांच, सात दिनों में रिपोर्ट में देने का दावा

बता दें कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी वर्तमान में देश से बाहर हैं। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी सालाना चिकित्सा जांच करवाने के लिए विदेश गई हुई हैं। सोनिया के साथ राहुल भी विदेश गए हैं। हालांकि, राहुल द्वारा लगातार ट्वीट कर सरकार पर हमला बोला जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...