तामसिक भोजन करने से शरीर को नहीं मिलती ऊर्जा

तामसिक भोजन ,tamasic food
तामसिक भोजन करने से शरीर को नहीं मिलती ऊर्जा

Tamasic Foods Decrease The Energy Of The Body

लखनऊ। भोजन प्रमुख रूप से तीन तरह का होता है। सात्विक भोजन में दूध, दही,चावल, हरी सब्जियां मीठे फल, नारियल, सौंफ, इलायची आ आती हैं। बढ़िया किस्म का मांस, शराब, अधिकांश मसाले और फल आदि राजसिक गुण वाले होते हैं। आपको बता दें कि तामसिक गुण वाले भोजन में प्राण ऊर्जा नहीं होती। इससे वह शक्ति और ऊर्जा नहीं आती जिसे आयुर्वेद में ओजस कहा जाता है।

ये हैं तामसिक गुण वाले भोजन

  • तेज गंध वाले तथा नींद लाने वाले खाद्य पदार्थ को तामसिक गुण वाला भोजन होते हैं।
  • प्याज, तेल या चर्बी वाले खाद्य, शराब, दवाइयां, कॉफी, तंबाकू आदि ऐसे पदार्थ हैं, जिन्हें तामसिक गुण वाला माना जाता है। डिब्बाबंद खाद्य पदार्थ और रासायनिक पदार्थों से तैयार रस (फलों से निकाले रस नहीं) तामसिक गुण वाले होते हैं।
  • रासायनिक उर्वरकों तथा कीटनाशक दवाओं से उगाए गए खाद्य पदार्थों की प्रकृति तामसिक होती है।
  • इन खाद्य पदार्थों के उपयोग से व्यक्ति आलसी बनता है।
लखनऊ। भोजन प्रमुख रूप से तीन तरह का होता है। सात्विक भोजन में दूध, दही,चावल, हरी सब्जियां मीठे फल, नारियल, सौंफ, इलायची आ आती हैं। बढ़िया किस्म का मांस, शराब, अधिकांश मसाले और फल आदि राजसिक गुण वाले होते हैं। आपको बता दें कि तामसिक गुण वाले भोजन में प्राण ऊर्जा नहीं होती। इससे वह शक्ति और ऊर्जा नहीं आती जिसे आयुर्वेद में ओजस कहा जाता है। ये हैं तामसिक गुण वाले भोजन तेज गंध वाले तथा नींद लाने वाले…