चेन्नई: पुराने बस स्टैंड की छत गिरी, आठ कर्मचारियों की मौत

चेन्नई। शुक्रवार को नागापट्टनम जिले में एक पुराने बस स्टैंड की छत गिरने से बड़ा हादसा हो गया। इस हादसे में तमिलनाडु राज्य परिवहन निगम के आठ कर्मचारियों की मौत हो गई। वहीं इस दुर्घटना में तीन अन्य लोग घायल हुए हैं। बताया जा रहा है, घटना के वक्त तमिलनाडु राज्य परिवहन निगम के कर्मचारी पोरेयार बस स्टैंड के आराम गृह में सो रहे थे।

राज्य परिवहन मंत्री एम.आर. विजयभास्कर ने दुर्घटना स्थल का दौरा किया। उन्होंने मीडिया से कहा कि इस संदर्भ में जांच की जा रही है और मृतकों के परिजनों को मुआवजा दिया जाएगा। पीएमके के संस्थापक एस. रामादोस ने कहा कि पार्टी संघ के नेताओं ने 2005 में राज्य परिवहन प्रबंधन से इमारत की मरम्म्त की अपील की थी। ये इमारत काफी पुरानी हो गई थी और कमजोर भी नजर आ रही थी।

{ यह भी पढ़ें:- कुर्सी से नीचे गिरने से दबंग IPS अधिकारी देवाशीष की मौत }

रामादोस ने कहा कि परिवहन निगम प्रबंधन ने अपने इंजीनियरों से इस बात का प्रमाण दिखाया कि यह इमारत काफी मजबूत है और उन्होंने अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। बस स्टैंड दुर्घटना का यह दूसरा मामला है। इससे पहले, सितम्बर में भी कोयम्बटूर में एक बस स्टैंड की छत गिरने से चार लोगों की मौत हो गई और सात अन्य लोग घायल हो गए। यह दुर्घटना सोमानुर बस स्टैंड पर हुई।

मुआवजे का ऐलान

{ यह भी पढ़ें:- भाजपा सांसद के गोद लिये गांव में 30 मौतें, स्वास्थ्य महकमा बीमारी का पता लगाने में नाकाम }

मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने इस दुर्घटना में मारे गए लोगों को 7.5 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायल लोगों के लिए 1.5 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की। इसके अलावा, जिन लोगों को कम चोटें आई, उनके लिए 50-50 हजार रुपये के मुआवजे की घोषणा की गई। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने कहा कि मृतकों के परिवारों के एक-एक सदस्य को राज्य परिवहन निगम में उनकी योग्यता के आधार पर नौकरी भी दी जाएगी।

Loading...