सोनौली में अफसर बनकर टप्पेबाजों ने उड़ाये 80 हजार

pardaphash
सोनौली में अफसर बनकर टप्पेबाजों ने उड़ाये 80 हजार

महराजगंज। महराजगंज जिले के सोनौली में नेपाली नागरिक से साहब बन जांच के नाम पर उच्चकों ने 80 हजार रुपया झोले से निकाल लिया और फरार हो गए। इस मामले में नेपाली नागरिक ने सोनौली पुलिस को तहरीर देकर जांच की मांग की है। व्यापार मंडल ने इस तरह के मामले में कार्रवाई करते हुए तत्काल रोक लगाने की मांग की है। कहा कि इससे नेपाली नागरिकों में भय का माहौल पनपेगा।

Tappabees Flew 80 Thousand As Officers In Sonauli :

नेपाल के अरघा खांची जनपद निवासी चूड़ामणि शर्मा बैंक के रिटायर्ड कर्मचारी हैं। वह नौतनवा स्टेट बैंक से 80 हजार व सोनौली एसबीआई से दो हजार रुपया निकाले। पैसा को झोला में रख अपने भाई डीपी शर्मा के साथ पैदल मुख्य रोड से नेपाल जा रहे थे। सोनौली के बस स्टैंड के पास एक अज्ञात व्यक्ति ने चूड़ामणि शर्मा को रोका। कहा कि झोले में क्या है? साहब बगल में खड़े हैं। उनसे जांच कराइए।

चूड़ामणि ने बताया कि झोला में पैसा है। वह बैंक से निकाल कर आ रहे हैं। झोला जांच करने बड़ी बारीकी से उच्चकों ने उसमें से अस्सी हजार रुपया निकाल लिया। फिर वह फरार हो गए। चूड़ामणि शर्मा के भाई डीपी शर्मा ने भी पैसा निकाला था, लेकिन उनका 50 हजार रुपया बच गया। घटना के बाद दोनों भाई सोनौली कोतवाली पहुंचे। प्रभारी निरीक्षक विजयराज सिंह से लिखित शिकायत कर गाढ़ी कमाई का पैसा वापस दिलाने की गुहार लगाई।

इस संबंध में कोतवाल ने कहा कि मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी गई है। शीघ्र ही आरोपित पकड़े जाएंगे।

महराजगंज। महराजगंज जिले के सोनौली में नेपाली नागरिक से साहब बन जांच के नाम पर उच्चकों ने 80 हजार रुपया झोले से निकाल लिया और फरार हो गए। इस मामले में नेपाली नागरिक ने सोनौली पुलिस को तहरीर देकर जांच की मांग की है। व्यापार मंडल ने इस तरह के मामले में कार्रवाई करते हुए तत्काल रोक लगाने की मांग की है। कहा कि इससे नेपाली नागरिकों में भय का माहौल पनपेगा। नेपाल के अरघा खांची जनपद निवासी चूड़ामणि शर्मा बैंक के रिटायर्ड कर्मचारी हैं। वह नौतनवा स्टेट बैंक से 80 हजार व सोनौली एसबीआई से दो हजार रुपया निकाले। पैसा को झोला में रख अपने भाई डीपी शर्मा के साथ पैदल मुख्य रोड से नेपाल जा रहे थे। सोनौली के बस स्टैंड के पास एक अज्ञात व्यक्ति ने चूड़ामणि शर्मा को रोका। कहा कि झोले में क्या है? साहब बगल में खड़े हैं। उनसे जांच कराइए। चूड़ामणि ने बताया कि झोला में पैसा है। वह बैंक से निकाल कर आ रहे हैं। झोला जांच करने बड़ी बारीकी से उच्चकों ने उसमें से अस्सी हजार रुपया निकाल लिया। फिर वह फरार हो गए। चूड़ामणि शर्मा के भाई डीपी शर्मा ने भी पैसा निकाला था, लेकिन उनका 50 हजार रुपया बच गया। घटना के बाद दोनों भाई सोनौली कोतवाली पहुंचे। प्रभारी निरीक्षक विजयराज सिंह से लिखित शिकायत कर गाढ़ी कमाई का पैसा वापस दिलाने की गुहार लगाई। इस संबंध में कोतवाल ने कहा कि मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी गई है। शीघ्र ही आरोपित पकड़े जाएंगे।