1. हिन्दी समाचार
  2. टाटा संस को NCLAT का बड़ा झटका, साइरस मिस्त्री को फिर चेयरमैन बनाने का आदेश

टाटा संस को NCLAT का बड़ा झटका, साइरस मिस्त्री को फिर चेयरमैन बनाने का आदेश

Tata Sons Gets Big Blow From Nclat Order To Make Cyrus Mistry Chairman Again

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। टाटा के मौजूदा प्रबंधन को नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल (NCALT) से बड़ा झटका मिला है। टाटा के मौजूदा प्रबंधन को नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्राइब्यूनल (NCALT) से बड़ा झटका मिला है। NCALT  ने टाटा सन्स के चेयरमैन पद से साइ‍रस मिस्त्री के हटाने को अवैध ठहरा दिया है और उन्हें इस पद पर फिर से बहाल करने का आदेश दिया है। हालांकि टाटा समूह के पास इस फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का अभी मौका है।
 
एनसीएलटी में केस हारने के बाद मिस्त्री अपीलेट ट्रिब्यूनल पहुंचे थे। एनसीएलटी ने 9 जुलाई 2018 के फैसले में कहा था कि टाटा सन्स का बोर्ड सायरस मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाने के लिए सक्षम था। मिस्त्री को इसलिए हटाया गया क्योंकि कंपनी बोर्ड और बड़े शेयरधारकों को उन पर भरोसा नहीं रहा था। अपीलेट ट्रिब्यूनल ने जुलाई में फैसला सुरक्षित रखा था।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

बता दें अक्टूबर 2016 में सायरस मिस्त्री टाटा सन्स के चेयरमैन पद से हटाए गए थे। दो महीने बाद मिस्त्री की ओर से सायरस इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड और स्टर्लिंग इन्वेस्टमेंट कॉर्प ने टाटा सन्स के फैसले को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की मुंबई बेंच में चुनौती दी थी। कंपनियों की दलील थी कि मिस्त्री को हटाने का फैसला कंपनीज एक्ट के नियमों के मुताबिक नहीं था। जुलाई 2018 में एनसीएलटी ने उनके दावे को खारिज कर दिया। बाद में सायरस मिस्त्री ने खुद एनसीएलटी के फैसले के खिलाफ अपील की थी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...