पाकिस्तान का महिमामंडन करने वाली शिक्षिका निलंबित, जांच कमेटी गठित

shadab khanam
पाकिस्तान का महिमामंडन करने वाली शिक्षिका निलंबित, जांच कमेटी गठित

गोरखपुर के प्रतिष्ठित जीएन नेशनल पब्लिक स्कूल में एक शिक्षिका की हरकत से हंगामा मच गया। शिक्षिका ने अंग्रेजी की ऑनलाइन क्लास में नाउन समझाने के नाम पर व्हाट्एसएप ग्रुप में पाकिस्तान के महिमामंडन वाले कई उदाहरण दिए। इन उदाहरणों पर बच्‍चे चौंके अपने माता-पिता से शिकायत की। इसके बाद हंगामा मच गया।

Teacher Glorifying Pakistan Suspended Inquiry Committee Formed :

शिक्षिका क्‍लास फोर्थ ‘ए’ की क्‍लास टीचर बताई जाती हैं। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि उनकी हरकत पाकिस्तान के पक्ष में बच्चों का ब्रेनवाश करने की साजिश है। अभिभावकों के सख्‍त तेवर देकर स्‍कूल प्रबंधन ने फिलहाल शिक्षिका को काम से रोक दिया है। उन्‍होंने शिक्षिका को बर्खास्‍त करने की बात कही है। उधर, नौकरी जाती देख शिक्षिका ने भी अपनी सफाई देनी शुरू कर दी। उनकी कोशिश इसे एक छोटी सी गलती बताकर बच जाने की है।

कोरोना लॉकडाउन के चलते आजकल ज्‍यादातर स्‍कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। इसके लिए व्हाट्सएप और वेबकास्ट ग्रुप बने हैं। जीएन नेशनल पब्लिक स्‍कूल में जोरशोर से ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं। इसी दौरान शुक्रवार को कक्षा चार-ए के व्हाट्एसएप ग्रुप में अंग्रेजी की ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान शिक्षिका शादाब खानम ने कई पोस्‍ट डाले। वह नाउन का मतलब समझा रही थीं। लेकिन उनके उदाहरणों में भारत के नहीं पाकित्‍स्‍तान जिक्र किया जा रहा था।

पाकिस्‍तान को ‘मदर लैंड’ बताने की कोशिश के साथ कई आपत्तिजनक बातें लिखी जा रही थीं। कुछ ही देर में ये पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो गए। शिक्षिका ने व्हाट्स एप ग्रुप पर एक पीडीएफ फाइल भी पोस्‍ट की थी जिसमें पाकिस्तान से संबंधित तीन अलग-अलग बातें थीं। एक में लिखा था ‘पाकिस्तानी आर्मी’ (I will join pak army), दूसरे में लिखा था, ‘पाकिस्तान हमारी मातृभूमि’ (Pakistan is our dear homeland) बताया गया। तीसरे उदाहरण में पाकिस्तानी पायलट राशिद मिन्हास (Rashid minhas was a brave soldier) की बहादुरी का जिक्र था।

यह पीडीएफ अभिभावकों ने देखी तो उन्‍होंने तत्‍काल इसकी शिकायत स्कूल प्रबंधन से की। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि यह बच्चों पर राष्ट्रविरोधी मानसिकता थोपने की साजिश है। कई अभिभावकों ने शिक्षिका को गिरफ्तार करने और राष्‍ट्रदोह का मुकदमा चलाने की भी मांग की। अभिभावकों ने बताया कि इस व्हाट्स एप ग्रुप की एडमिन शिक्षिका शादाब खानम ही हैं। ग्रुप में 40-50 बच्चे जुड़े हैं।
 
स्कूल ने शिक्षिका को काम से रोका

पाकिस्तान से जुड़ा उदाहरण ऑनलाइन क्लास में डाला गया। ये खबर जैसे ही स्कूल प्रबंधन तक पंहुची तो स्कूल प्रबंधन भी हरकत में आ गया है। स्कूल प्रबंधक गोरख प्रसाद सिंह ने कहा कि ये गलती स्वीकार्य नहीं है। शिक्षिका को कारण बताओं नोटिस जारी कर दिया गया है। साथ ही जब तक उनका जवाब नहीं मिलता है तब तक शिक्षिका को ऑनलाइन क्लास में अध्ध्यन सामाग्री डालने पर रोक लगा दी गई है। शिक्षिका का जवाब देखने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

जो हुआ वह गलती थी, मैं भारतीय हूं

ऑनलाइन क्लास में पाकिस्तान का उदाहरण देने वाली शिक्षिका शादाब खानम ने कहा कि जल्दबाजी में ऑनलाइन कंटेंट अपलोड करने में गलती हुई है। गूगल से मैने जब ‘डिफिनेशन ऑफ नाउन विद एक्जाम्पल’ इमेज में सर्च किया तो उसमें ये पाकिस्तान वाले उदाहरण मिले। जल्दबाजी में मैने बिना पढ़े उसे व्हॉट्सग्रुप पर अपलोड कर दिया। हालांकि उसके फौरन बाद ही मैने ग्रुप पर साफ कर दिया था कि गलती से इंडिया की जगह पाकिस्तान लिखा गया है। इन्हे सिर्फ उदाहरण समझा जाये। मैं सच्ची देशभक्त हूं और कभी ऐसी बात जानबूझ कर नहीं कर सकती जो देशद्रोह की श्रेणी में आये। मुझे भारतीय होने पर गर्व है।

गोरखपुर के प्रतिष्ठित जीएन नेशनल पब्लिक स्कूल में एक शिक्षिका की हरकत से हंगामा मच गया। शिक्षिका ने अंग्रेजी की ऑनलाइन क्लास में नाउन समझाने के नाम पर व्हाट्एसएप ग्रुप में पाकिस्तान के महिमामंडन वाले कई उदाहरण दिए। इन उदाहरणों पर बच्‍चे चौंके अपने माता-पिता से शिकायत की। इसके बाद हंगामा मच गया। शिक्षिका क्‍लास फोर्थ 'ए' की क्‍लास टीचर बताई जाती हैं। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि उनकी हरकत पाकिस्तान के पक्ष में बच्चों का ब्रेनवाश करने की साजिश है। अभिभावकों के सख्‍त तेवर देकर स्‍कूल प्रबंधन ने फिलहाल शिक्षिका को काम से रोक दिया है। उन्‍होंने शिक्षिका को बर्खास्‍त करने की बात कही है। उधर, नौकरी जाती देख शिक्षिका ने भी अपनी सफाई देनी शुरू कर दी। उनकी कोशिश इसे एक छोटी सी गलती बताकर बच जाने की है। कोरोना लॉकडाउन के चलते आजकल ज्‍यादातर स्‍कूलों में ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही है। इसके लिए व्हाट्सएप और वेबकास्ट ग्रुप बने हैं। जीएन नेशनल पब्लिक स्‍कूल में जोरशोर से ऑनलाइन क्लासेस चल रही हैं। इसी दौरान शुक्रवार को कक्षा चार-ए के व्हाट्एसएप ग्रुप में अंग्रेजी की ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान शिक्षिका शादाब खानम ने कई पोस्‍ट डाले। वह नाउन का मतलब समझा रही थीं। लेकिन उनके उदाहरणों में भारत के नहीं पाकित्‍स्‍तान जिक्र किया जा रहा था। पाकिस्‍तान को 'मदर लैंड' बताने की कोशिश के साथ कई आपत्तिजनक बातें लिखी जा रही थीं। कुछ ही देर में ये पोस्ट सोशल मीडिया में वायरल हो गए। शिक्षिका ने व्हाट्स एप ग्रुप पर एक पीडीएफ फाइल भी पोस्‍ट की थी जिसमें पाकिस्तान से संबंधित तीन अलग-अलग बातें थीं। एक में लिखा था 'पाकिस्तानी आर्मी' (I will join pak army), दूसरे में लिखा था, 'पाकिस्तान हमारी मातृभूमि' (Pakistan is our dear homeland) बताया गया। तीसरे उदाहरण में पाकिस्तानी पायलट राशिद मिन्हास (Rashid minhas was a brave soldier) की बहादुरी का जिक्र था। यह पीडीएफ अभिभावकों ने देखी तो उन्‍होंने तत्‍काल इसकी शिकायत स्कूल प्रबंधन से की। अभिभावकों ने आरोप लगाया कि यह बच्चों पर राष्ट्रविरोधी मानसिकता थोपने की साजिश है। कई अभिभावकों ने शिक्षिका को गिरफ्तार करने और राष्‍ट्रदोह का मुकदमा चलाने की भी मांग की। अभिभावकों ने बताया कि इस व्हाट्स एप ग्रुप की एडमिन शिक्षिका शादाब खानम ही हैं। ग्रुप में 40-50 बच्चे जुड़े हैं।   स्कूल ने शिक्षिका को काम से रोका पाकिस्तान से जुड़ा उदाहरण ऑनलाइन क्लास में डाला गया। ये खबर जैसे ही स्कूल प्रबंधन तक पंहुची तो स्कूल प्रबंधन भी हरकत में आ गया है। स्कूल प्रबंधक गोरख प्रसाद सिंह ने कहा कि ये गलती स्वीकार्य नहीं है। शिक्षिका को कारण बताओं नोटिस जारी कर दिया गया है। साथ ही जब तक उनका जवाब नहीं मिलता है तब तक शिक्षिका को ऑनलाइन क्लास में अध्ध्यन सामाग्री डालने पर रोक लगा दी गई है। शिक्षिका का जवाब देखने के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी। जो हुआ वह गलती थी, मैं भारतीय हूं ऑनलाइन क्लास में पाकिस्तान का उदाहरण देने वाली शिक्षिका शादाब खानम ने कहा कि जल्दबाजी में ऑनलाइन कंटेंट अपलोड करने में गलती हुई है। गूगल से मैने जब ‘डिफिनेशन ऑफ नाउन विद एक्जाम्पल’ इमेज में सर्च किया तो उसमें ये पाकिस्तान वाले उदाहरण मिले। जल्दबाजी में मैने बिना पढ़े उसे व्हॉट्सग्रुप पर अपलोड कर दिया। हालांकि उसके फौरन बाद ही मैने ग्रुप पर साफ कर दिया था कि गलती से इंडिया की जगह पाकिस्तान लिखा गया है। इन्हे सिर्फ उदाहरण समझा जाये। मैं सच्ची देशभक्त हूं और कभी ऐसी बात जानबूझ कर नहीं कर सकती जो देशद्रोह की श्रेणी में आये। मुझे भारतीय होने पर गर्व है।