टीचर पर हमला करने के मामले में नौ गिरफ्तार

नई दिल्ली: एमसीडी चुनाव में दूसरी पार्टी का समर्थन कर उसे वोट देने पर एक टीचर पर जानलेवा हमला करने के मामले में नौं लोगों को धर दबोचा गया है। इनमें तीन नाबालिग है। पकड़े आरोपियों की पहचान फैसल उर्फ आबिद, अजय उर्फ उमाशंकर, आमिर उर्फ सेमुद्दीन, कपिल उर्फ अंकित अमित उर्फ शंकर और गैंग लीडर राजेश मिश्रा उर्फ धांसू के रूप में हुई । पुलिस ने बताया कि आरोपियों के पास से एक बाइक, स्कूटी और वारदात में इस्तेमाल रॉड व लाठियां बरामद हुई है।




पुलिस की मानें तो सीसीटीवी से आरोपियों की शिनाख्त के बाद उनको गिरफ्तार किया गया और रविवार को सभी छह आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया।पुलिस उपायुक्त चिन्मय बिस्वाल का कहना है कि शुक्रवार दोपहर को टीचर कप्तान सिंह (51) अपने स्कूल जा रहे थे। इस बीच करीब एक दर्जन लड़कों ने रास्ते में उन पर लाठी व रॉड से अचानक हमला कर दिया था। इस हमले में टीचर की एक टांग टूट गई। उनके बयान के आधार पर मामला दर्ज कर जांच प्रांरभ की गई और जांच कारवाई में ही एक कपड़े की दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से एक आरोपी फैसल की पहचान हुई।




जिसके बाद पुलिस ने उसके निषानदेही पर अन्य आरोपियों को धर दबोचा। फिलहाल पुलिस एक आरोपी अनीश उर्फ आसिफ की तलाश कर रहीं है। आरोपियों ने बताया कि उन्होंने राजेश मिश्रा उर्फ धांसू के कहने पर यह हमला किया। धांसू संगम विहार वार्ड नंबर-77 से चुनाव लड़ रहे इंडियन नेशनल लोकदल के उम्मीदवार राजेश कुमार का समर्थक था जबकि कप्तान सिंह किसी अन्य का समर्थक था। धांसू ने पुलिस को बताया कि चूंकि टीचर ने उसके उम्मीदवार को वोट नहीं दिया, जिसके बाद इसका बदला लेने के लिए उसने यह हमला करवाया।