लखनऊ: अगवा कर बनाया बंधक फिर धर्म बदलवा कर किशोरी से की शादी, जानें पूरा मामला

bride
लखनऊ: अगवा कर बनाया बंधक फिर धर्म बदलवा कर किशोरी से की शादी, जानें पूरा मामला

लखनऊ। राजधानी के मड़ियांव इलाके में रहने वाली 17 वर्ष की किशोरी को कार सवार युवक ने अगवा कर बंधक बनाकर रखा। इसके बाद उसका धर्म परिवर्तन कराकर शादी कर ली। अगवा किशोरी की मां ने मड़ियांव थाने में बेलीगारद निवासी युवक सूरज के खिलाफ तहरीर दी। अपहरण का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने चुप्पी साध ली।

Teenager Girl Kidnapped In Lucknow :

दरअसल, परिजन पांच दिन से लगातार थाने के चक्कर काट रहें थे। कोई कारवाई न होने से परेशान परिवार वालों ने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री व डीजीपी को पत्र लिखकर गुहार लगाई है। मड़ियांव के पलटन छावनी की रहने वाली बुजुर्ग महिला के मुताबिक, नौ नवंबर को उसकी बेटी का अपहरण हुआ था। इसके बाद उसे बंधक बनाकर युवक ने परिवारीजनों की मदद से उसका धर्म बदला और शादी कर ली।

वहीं, घटना वाली रात पीड़िता ने मड़ियांव थाने पर तहरीर दी। पुलिस ने 24 घंटे का इंतजार व तलाश की बात कहकर उसे लौटा दिया। तीन दिन बाद पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज किया था।

परिजनों ने आरोप लगाया है कि केस होने के बाद मोबाइल पर धमकी भरे कॉल आने लगे। धमकाया गया कि उसकी बेटी की शादी सूरज से हो गई है। वह मुकदमा वापस ले ले। मुकदमा वापस नहीं लोगी तो पूरे परिवार को खत्म कर दिया जाएगा। आरोप है पुलिस ने जबरन उसकी तहरीर बदलवा दी। असलहे की बात को भी तहरीर में न रखने को कहा। प्रभारी निरीक्षक विपिन सिंह के मुताबिक, तहरीर बदलवाने का आरोप गलत है। अगवा किशोरी नहीं है, बल्कि बालिग है।

लखनऊ। राजधानी के मड़ियांव इलाके में रहने वाली 17 वर्ष की किशोरी को कार सवार युवक ने अगवा कर बंधक बनाकर रखा। इसके बाद उसका धर्म परिवर्तन कराकर शादी कर ली। अगवा किशोरी की मां ने मड़ियांव थाने में बेलीगारद निवासी युवक सूरज के खिलाफ तहरीर दी। अपहरण का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने चुप्पी साध ली। दरअसल, परिजन पांच दिन से लगातार थाने के चक्कर काट रहें थे। कोई कारवाई न होने से परेशान परिवार वालों ने बृहस्पतिवार को मुख्यमंत्री व डीजीपी को पत्र लिखकर गुहार लगाई है। मड़ियांव के पलटन छावनी की रहने वाली बुजुर्ग महिला के मुताबिक, नौ नवंबर को उसकी बेटी का अपहरण हुआ था। इसके बाद उसे बंधक बनाकर युवक ने परिवारीजनों की मदद से उसका धर्म बदला और शादी कर ली। वहीं, घटना वाली रात पीड़िता ने मड़ियांव थाने पर तहरीर दी। पुलिस ने 24 घंटे का इंतजार व तलाश की बात कहकर उसे लौटा दिया। तीन दिन बाद पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज किया था। परिजनों ने आरोप लगाया है कि केस होने के बाद मोबाइल पर धमकी भरे कॉल आने लगे। धमकाया गया कि उसकी बेटी की शादी सूरज से हो गई है। वह मुकदमा वापस ले ले। मुकदमा वापस नहीं लोगी तो पूरे परिवार को खत्म कर दिया जाएगा। आरोप है पुलिस ने जबरन उसकी तहरीर बदलवा दी। असलहे की बात को भी तहरीर में न रखने को कहा। प्रभारी निरीक्षक विपिन सिंह के मुताबिक, तहरीर बदलवाने का आरोप गलत है। अगवा किशोरी नहीं है, बल्कि बालिग है।