तेज बहादुर ने छोड़ा JJP का साथ, कहा-BJP को समर्थन देकर दुष्यंत ने जनता को दिया धोखा

tejbhadur yadav
तेज बहादुर ने छोड़ा JJP का साथ, कहा-BJP को समर्थन देकर दुष्यंत ने जनता को दिया धोखा

चंडीगढ़। दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) से जुड़े बर्खास्त बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने पार्टी छोड़ दी है। शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने इसका ऐलान किया। उन्होंने दुष्यंत चौटाला के खिलाफ मोर्चा खेलने की बात कही है। तेज बहादुर का कहना है कि बीजेपी के खिलाफ ही उन्होंने जेजेपी ज्वॉइन की थी लेकिन दुष्यंत ने बीजेपी से ही हाथ मिला लिया। यह सही नहीं हुआ, ऐसा होना नहीं चाहिए था।

Tej Bahadur Left Jjp Said Dushyant Betrayed By Supporting Bjp :

देवी लाल की सोच पर जनता ने जजपा को वोट दिए थे, लेकिन दुष्यंत ने बिना बुलाए भाजपा को समर्थन देकर प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि दुष्यंत ने समर्थन देकर यह साफ कर दिया है कि वह बीजेपी की बी टीम है। अब वे प्रदेश की खाप पंचायतों के साथ मिलकर दुष्यंत के खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ेंगे।

बता दें कि, बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ चुनाव लड़े थे। इससे पहले लोकसभा में वह पीएम मोदी के खिलाफ पर्चा दाखिल किया था। हालांकि बाद में चुनाव आयोग ने उनका नामांकन रद्द कर दिया था। जिसके चलते वह चुनाव नहीं लड़ पाए थे। लेकिन अब उन्होंने सीएम खट्टर के सामने ताल ठोक दी थी।

हरियाणा में महेंद्रगढ़ के राताकलां गांव के रहने वाले तेज बहादुर सिंह स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार से है। बीएसएफ में रहते हुए तेज बहादुर ने खराब खाना मिलने की शिकायत दी थी, जिसके बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था।

चंडीगढ़। दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) से जुड़े बर्खास्त बीएसएफ जवान तेज बहादुर ने पार्टी छोड़ दी है। शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने इसका ऐलान किया। उन्होंने दुष्यंत चौटाला के खिलाफ मोर्चा खेलने की बात कही है। तेज बहादुर का कहना है कि बीजेपी के खिलाफ ही उन्होंने जेजेपी ज्वॉइन की थी लेकिन दुष्यंत ने बीजेपी से ही हाथ मिला लिया। यह सही नहीं हुआ, ऐसा होना नहीं चाहिए था। देवी लाल की सोच पर जनता ने जजपा को वोट दिए थे, लेकिन दुष्यंत ने बिना बुलाए भाजपा को समर्थन देकर प्रदेश की जनता के साथ विश्वासघात किया है। उन्होंने कहा कि दुष्यंत ने समर्थन देकर यह साफ कर दिया है कि वह बीजेपी की बी टीम है। अब वे प्रदेश की खाप पंचायतों के साथ मिलकर दुष्यंत के खिलाफ बड़ा आंदोलन छेड़ेंगे। बता दें कि, बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर के खिलाफ चुनाव लड़े थे। इससे पहले लोकसभा में वह पीएम मोदी के खिलाफ पर्चा दाखिल किया था। हालांकि बाद में चुनाव आयोग ने उनका नामांकन रद्द कर दिया था। जिसके चलते वह चुनाव नहीं लड़ पाए थे। लेकिन अब उन्होंने सीएम खट्टर के सामने ताल ठोक दी थी। हरियाणा में महेंद्रगढ़ के राताकलां गांव के रहने वाले तेज बहादुर सिंह स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार से है। बीएसएफ में रहते हुए तेज बहादुर ने खराब खाना मिलने की शिकायत दी थी, जिसके बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया था।