यात्रियों की शरारत से परेशान हो रहीं तेजस की होस्टेस, अब सभ्यता सिखाएगा रेलवे

Tejas hostes
यात्रियों की शरारत से परेशान हो रहीं तेजस की होस्टेस, अब सभ्यता सिखाएगा रेलवे

नई दिल्ली। देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को होस्टेस से सही तरीके से पेश आने का सलीका सिखाया जाएगा। होस्टेस की ओर से लगातार मिल रही शिकायतों के बाद प्रबंधन ने यह फैसला किया है। अब तेजस एक्सप्रेस की उद्घोषणा प्रणाली में होस्टेस की सेल्फी व वीडियो नहीं बनाने का आग्रह किया जाएगा। इसके साथ ही नियमों में बदलाव कर शरारती यात्रियों से निपटने के प्रबंध किए जाएंगे।

Tejas Hostess Who Is Troubled By The Mischief Of Passengers Will Now Teach Civilization :

दिल्ली-लखनऊ के बीच चल रही तेजस एक्सप्रेस में विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ हवाई जहाज की तर्ज पर यात्रियों की सेवा के लिए ट्रेन होस्टेस रहती हैं। हवाई यात्रियों के ठीक उलट ट्रेन में यात्री खान पान सेवा में लगी होस्टेस से सलीके से पेश नहीं आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि खाना परोसते समय और वेलकम ड्रिंक देते समय रेल यात्री बैगर उनकी मर्जी के सेल्फी ले रहे हैं। काम करते समय उनका वीडियो बना रहे हैं। बार-बार सीट पर लगे कॉल बटन को दबाकर होस्टेस को बेवजह परेशान करते हैं। कई यात्री एक कदम आगे बढ़ते हुए होस्टेस का मोबाइन नंबर तक मांगने से नहीं हिचकते हैं।

इसके चलते आईआरसीटीसी ने तेजस ट्रेन की उद्घोषणा प्रणाली में बदलाव का फैसला किया है। अब ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों से होस्टेस से सभ्यता से पेश आने के लिए बार बार उद्घोषणा की जाएगी। इसके अलावा सीट पर लगे कॉल बटन को बार-बार दबाने, होस्टेस की सेल्फी अथवा वीडियो नहीं बनाने का आग्रह किया जाएगा। सफर के दौरान ट्रेन में आईआरसीटीसी टीम के पांच अधिकारी यात्रियों पर नजर रखेंगे। सभी 28 ट्रेन होस्टेस से प्रतिदिन फीडबैक लिया जाएगा, इस आधार पर नियमों में बदलाव करेंगे। जिससे शरारती किस्म के यात्रियों को समझाने के अलावा दंड का प्रावधान किया जाएगा।

आईआरसीटसी के चीफ रीजनल मैनेजर (सीआरएम) अश्वनी श्रीवास्तव ने बताया कि देश की पहली कॉरपोरेट तेजस टे्रन को लेकर लोगों में काफी उत्साह है। इसके चलते शुरूआत में यात्रियों ने सेल्फी खींची व वीडियो बनाए। लेकिन इसे परंपरा नहीं बनाया जा सकता है, यह सीधे निजिता से जुड़ा मामला है। आईआरसीटीसी पूरे सफर के दौरान ट्रे्रन के उद्घोषण प्राणाली में यात्रियों से ऐसा नहीं करने का बार बार अनुरोध करेगा। होस्टेस से फीडबैक के आधार पर नियमों में बदलाव किए जांएगे।

नई दिल्ली। देश की पहली निजी ट्रेन तेजस एक्सप्रेस के यात्रियों को होस्टेस से सही तरीके से पेश आने का सलीका सिखाया जाएगा। होस्टेस की ओर से लगातार मिल रही शिकायतों के बाद प्रबंधन ने यह फैसला किया है। अब तेजस एक्सप्रेस की उद्घोषणा प्रणाली में होस्टेस की सेल्फी व वीडियो नहीं बनाने का आग्रह किया जाएगा। इसके साथ ही नियमों में बदलाव कर शरारती यात्रियों से निपटने के प्रबंध किए जाएंगे। दिल्ली-लखनऊ के बीच चल रही तेजस एक्सप्रेस में विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ हवाई जहाज की तर्ज पर यात्रियों की सेवा के लिए ट्रेन होस्टेस रहती हैं। हवाई यात्रियों के ठीक उलट ट्रेन में यात्री खान पान सेवा में लगी होस्टेस से सलीके से पेश नहीं आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि खाना परोसते समय और वेलकम ड्रिंक देते समय रेल यात्री बैगर उनकी मर्जी के सेल्फी ले रहे हैं। काम करते समय उनका वीडियो बना रहे हैं। बार-बार सीट पर लगे कॉल बटन को दबाकर होस्टेस को बेवजह परेशान करते हैं। कई यात्री एक कदम आगे बढ़ते हुए होस्टेस का मोबाइन नंबर तक मांगने से नहीं हिचकते हैं। इसके चलते आईआरसीटीसी ने तेजस ट्रेन की उद्घोषणा प्रणाली में बदलाव का फैसला किया है। अब ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों से होस्टेस से सभ्यता से पेश आने के लिए बार बार उद्घोषणा की जाएगी। इसके अलावा सीट पर लगे कॉल बटन को बार-बार दबाने, होस्टेस की सेल्फी अथवा वीडियो नहीं बनाने का आग्रह किया जाएगा। सफर के दौरान ट्रेन में आईआरसीटीसी टीम के पांच अधिकारी यात्रियों पर नजर रखेंगे। सभी 28 ट्रेन होस्टेस से प्रतिदिन फीडबैक लिया जाएगा, इस आधार पर नियमों में बदलाव करेंगे। जिससे शरारती किस्म के यात्रियों को समझाने के अलावा दंड का प्रावधान किया जाएगा। आईआरसीटसी के चीफ रीजनल मैनेजर (सीआरएम) अश्वनी श्रीवास्तव ने बताया कि देश की पहली कॉरपोरेट तेजस टे्रन को लेकर लोगों में काफी उत्साह है। इसके चलते शुरूआत में यात्रियों ने सेल्फी खींची व वीडियो बनाए। लेकिन इसे परंपरा नहीं बनाया जा सकता है, यह सीधे निजिता से जुड़ा मामला है। आईआरसीटीसी पूरे सफर के दौरान ट्रे्रन के उद्घोषण प्राणाली में यात्रियों से ऐसा नहीं करने का बार बार अनुरोध करेगा। होस्टेस से फीडबैक के आधार पर नियमों में बदलाव किए जांएगे।