तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को बताया ‘वैचारिक रूप से कंगाल नेता’

tejswi yadav
बिहार में बढ़ी रार: गोपालगंज के लिए निकले तेजस्वी को रोका गया, स्पी​कर से मिलने पहुंचे

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार विपक्ष और एनडीए के बीच घमासान जारी है। वहीं बिहार में भी आरजेडी लगातार नितीश सरकार को घेरती नजर आ रही है। एकबार फिर राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोला है। इस बार तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को वैचारिक रूप से कंगाल नेता बताया है।

Tejashwi Yadav Calls Nitish Kumar Ideologically Poor :

तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है “आदरणीय नीतीश कुमार जी ऐसे नेता व ऐसी पार्टी के अध्यक्ष है जिनकी विचारधारा व वैचारिक दृष्टि की स्पष्टता उन्हीं की पार्टी के वरिष्ठ विद्वान नेताओं को मालूम नहीं है। आम जनता और कार्यकर्ताओं को तो छोड़ ही दिजीए. क्या वैचारिक रूप से कंगाल ऐसे दुर्लभ नेता और पार्टी कहीं और मिलेंगे?”

आपको बता दें कि बिहार में नितीश कुुमार बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं लेकिन नागरिकता संशोधन कानून का उन्होने विरोध किया है। इसके बाद जब दिल्ली ​में विधानसभा चुनाव का ऐलान हुआ तो नितीश कुमार ने बीजेपी से गठबंधन कर लिया। इसको लेकर जेडीयू पार्टी के नेता पवन कुमार वर्मा ने भी अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाए थे। जिसका जबाब देते हुए नितीश कुमार ने कहा कि पब्लिक में उनका बयान देना हैरानी भरा है। वह जा सकते हैं और जो भी पार्टी उन्हें पसंद हो, उसे जॉइन कर सकते हैं।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर लगातार विपक्ष और एनडीए के बीच घमासान जारी है। वहीं बिहार में भी आरजेडी लगातार नितीश सरकार को घेरती नजर आ रही है। एकबार फिर राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर हमला बोला है। इस बार तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को वैचारिक रूप से कंगाल नेता बताया है। तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है "आदरणीय नीतीश कुमार जी ऐसे नेता व ऐसी पार्टी के अध्यक्ष है जिनकी विचारधारा व वैचारिक दृष्टि की स्पष्टता उन्हीं की पार्टी के वरिष्ठ विद्वान नेताओं को मालूम नहीं है। आम जनता और कार्यकर्ताओं को तो छोड़ ही दिजीए. क्या वैचारिक रूप से कंगाल ऐसे दुर्लभ नेता और पार्टी कहीं और मिलेंगे?" आपको बता दें कि बिहार में नितीश कुुमार बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं लेकिन नागरिकता संशोधन कानून का उन्होने विरोध किया है। इसके बाद जब दिल्ली ​में विधानसभा चुनाव का ऐलान हुआ तो नितीश कुमार ने बीजेपी से गठबंधन कर लिया। इसको लेकर जेडीयू पार्टी के नेता पवन कुमार वर्मा ने भी अपनी ही पार्टी पर सवाल उठाए थे। जिसका जबाब देते हुए नितीश कुमार ने कहा कि पब्लिक में उनका बयान देना हैरानी भरा है। वह जा सकते हैं और जो भी पार्टी उन्हें पसंद हो, उसे जॉइन कर सकते हैं।