तेजस्वी ने दी राहुल को नसीहत, कहा- डंडा नहीं कलम की बात करनी चाहिए

tejshawi
तेजस्वी ने दी राहुल को नसीहत, कहा- डंडा नहीं कलम की बात करनी चाहिए

नई दिल्ली। ‘युवा प्रधानमंत्री को डंडा मारेंगे’ वाले बयान से चौतरफा घिरे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को अब उनके गठबंधन सहयोगी तेजस्वी यादव ने भी नसीहत दी है। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को यहां कहा कि हमें लाठी, डंडे नहीं कलम की बात करनी चाहिए।

Tejaswi Gave Advice To Rahul Said Should Talk About Pen Not Stick :

राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था, ‘ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहा है, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएगा. हिंदुस्तान के युवा इसको ऐसा डंडा मारेंगे, इसको समझा देंगे कि हिंदुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता।’  

दिल्ली चुनाव प्रचार से पटना लौटने के बाद तेजस्वी ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार को केंद्रीय आम बजट में कुछ नहीं मिला परंतु बिहार के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री को धन्यवाद दे रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि आखिर बिहार को इस बजट में क्या मिला?

पत्रकारों द्वारा राहुल गांधी के ‘युवा प्रधानमंत्री को डंडे से मारेंगे’ बयान के संबंध में पूछे जाने पर तेजस्वी ने कहा, “हमें डंडा और लाठी जैसे बयान देने से बचना चाहिए। इसके बजाय ‘कलम’ की बात करनी चाहिए।” उन्होंने आगे कहा कि सभी जानते हैं कि झारखंड में किसे ‘डंडे’ का सामना करना पड़ा। लोगों को हरियाणा में भी कांग्रेस के अच्छे नतीजों की उम्मीद नहीं थी। हमें चुनाव परिणामों तक इंतजार करना चाहिए।

संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी के एक बयान को लेकर उन पर कटाक्ष भी किया था। उन्होंने कहा कि वह अब सूर्य नमस्कर की संख्या इतनी बढ़ा देंगे ताकि उनकी डंडे झेल सके। प्रधानमंत्री ने कहा था कि कांग्रेस के एक नेता ने घोषणा की है कि छह महीने में (युवा) मोदी को डंडे मारेंगे। यह काम कठिन है तो छह महीने तो लगेगा। मैं भी छह महीने में सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। अपने आप को गालीप्रूफ बना दिया है। इतनी सूर्य नमस्कार करूंगा कि मेरी पीठ डंडे झेलने के लिए मजबूत हो जाए।

नई दिल्ली। 'युवा प्रधानमंत्री को डंडा मारेंगे' वाले बयान से चौतरफा घिरे कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को अब उनके गठबंधन सहयोगी तेजस्वी यादव ने भी नसीहत दी है। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को यहां कहा कि हमें लाठी, डंडे नहीं कलम की बात करनी चाहिए। राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था, 'ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहा है, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएगा. हिंदुस्तान के युवा इसको ऐसा डंडा मारेंगे, इसको समझा देंगे कि हिंदुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता।'   दिल्ली चुनाव प्रचार से पटना लौटने के बाद तेजस्वी ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार को केंद्रीय आम बजट में कुछ नहीं मिला परंतु बिहार के मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री को धन्यवाद दे रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री को बताना चाहिए कि आखिर बिहार को इस बजट में क्या मिला? पत्रकारों द्वारा राहुल गांधी के 'युवा प्रधानमंत्री को डंडे से मारेंगे' बयान के संबंध में पूछे जाने पर तेजस्वी ने कहा, “हमें डंडा और लाठी जैसे बयान देने से बचना चाहिए। इसके बजाय 'कलम' की बात करनी चाहिए।” उन्होंने आगे कहा कि सभी जानते हैं कि झारखंड में किसे 'डंडे' का सामना करना पड़ा। लोगों को हरियाणा में भी कांग्रेस के अच्छे नतीजों की उम्मीद नहीं थी। हमें चुनाव परिणामों तक इंतजार करना चाहिए। संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी के एक बयान को लेकर उन पर कटाक्ष भी किया था। उन्होंने कहा कि वह अब सूर्य नमस्कर की संख्या इतनी बढ़ा देंगे ताकि उनकी डंडे झेल सके। प्रधानमंत्री ने कहा था कि कांग्रेस के एक नेता ने घोषणा की है कि छह महीने में (युवा) मोदी को डंडे मारेंगे। यह काम कठिन है तो छह महीने तो लगेगा। मैं भी छह महीने में सूर्य नमस्कार की संख्या बढ़ा दूंगा। अपने आप को गालीप्रूफ बना दिया है। इतनी सूर्य नमस्कार करूंगा कि मेरी पीठ डंडे झेलने के लिए मजबूत हो जाए।