तेजस्वी की सफाई से खुश नहीं हैं नीतीश, कुर्सी जाने का खतरा अभी भी बरकरार

पटना। मंगलवार को तेजस्वी यादव की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से हुई बैठक के बाद यह कयास लगाया जाने लगा कि अब बिहार की सियासत में नया मोड आ सकता है, लालू पुत्र व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सीएम नीतीश के सामने अपनी सफाई पेश कर समस्या का समाधान निकाल सकते हैं। लेकिन ऐसा होता बिलकुल नहीं दिख रहा है, मुद्दा जस का तश बना हुआ है, कुर्सी जाने का खतरा अभी भी तेजस्वी पर मंडरा रहा है। इस बैठक के बाद भी जेडीयू ने साफ कर दिया है कि भ्रष्टाचार से कोई समझौता नहीं होगा, जिस किसी को भी सफाई देनी होगी वह बिहार की जनता को देगा। वहीं तेजस्वी ने इस मुलाक़ात के बाद कहा कि यह एक सामान्य मुलाक़ात थी जैसा मीडिया में चल रहा है वैसा कुछ नहीं था।

मीडिया द्वारा सवाल किए जाने पर कि क्या नीतीश के कहने पर आप अपना पद से इस्तीफा दे देंगे। इस सवाल के जबाब में तेजस्वी ने कहा कि हमारी पार्टी ने हमको विधायक दल का नेता चुना है। पार्टी जैसा कहेगी वैसा करूंगा। इस मसले पर जनता को सफाई देंगे। उन्‍होंने कहा कि मैं लोगों के बीच जाऊंगा और सारी बात बताऊंगा। वहीं इस 45 मिनट की बैठक के बाद जेडीयू ने भी वही पुराना राग अलापते हुए कहा है कि हमारा स्टैंड बिलकुल क्लियर है, गठबंधन के दौरान ही यह तय हुआ था कि भ्रष्टाचार के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

गौरतलब है कि तेजस्वी और नीतीश के बीच मंगलवार को कैबिनेट बैठक के बाद करीब 45 मिनट तक बातचीत हुई। तेजस्वी यादव ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर सफाई दी और कहा कि सीबीआई ने उन्हें फंसाया है. साथ ही वह कोर्ट में इसके खिलाफ जाएंगे और अग्रिम जमानत के साथ-साथ केस में पूछताछ के खिलाफ भी अपील करेंगे। लेकिन लगता है कि नीतीश कुमार उनके जवाब से संतुष्ट नहीं हैं तभी उन्होंने इस बातचीत के बाद किसी से कोई बात नहीं की है। इस बीच तेजस्वी यादव आज दिल्ली जा रहे हैं। माना जा रहा है कि कानूनी सलाह लेने के लिए वह दिल्ली जा रहे हैं. हांलाकि इसके अलावा भी कई अटकलें लग रही हैं।