1. हिन्दी समाचार
  2. सोशल डिस्टेंस को कर रहे हैं तार-तार, लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा रहे जिम्मेदार

सोशल डिस्टेंस को कर रहे हैं तार-तार, लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा रहे जिम्मेदार

Telegrams Are Doing Social Distance Responsible For Breaking The Lockdown

By मुनेंद्र शर्मा 
Updated Date

फतेहपुर: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के धाता थाना प्रभारी वीरेन्द्र यादव के सम्मान में की जा रही पुष्प वर्षा का वॉयरल वीडियो में लॉकडाउन व सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उड़ते देखा जा सकता है। जिसमें थाना प्रभारी के सम्मान में क्षेत्रीय लोगों के द्वारा पुष्प वर्षा किये जाने के अति उत्साह में भीड़ के झुंड के साथ साथ दरोगा जी चलते नजर आ रहे हैं। कोरोना के बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के लिए जारी दिशानिर्देशों के अनुसार कम से कम एक दूसरे के बीच छह फिट की दूरी होना ही चाहिए। परंतु यहां पर ऐसा कुछ भी देखने को नहीं मिला।

पढ़ें :- विश्व के सबसे बड़े पर्यटन क्षेत्र के रूप में उभर रहा है केवड़िया: PM मोदी

यक्ष प्रश्न है कि जब जिम्मेदार ही सोशल डिस्टेंसिंग को तोड़ेगे तो फिर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कौन करायेगा। लॉकडाउन-2 लागू करने के बाद प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा था कि अब हमें और अधिक सतर्कता बरतने की जरूरत है ताकि कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या पर लगाम लगाई जा सके। लेकिन दरोगा जी अपने सम्मान में इतना भाव—विभोर हो गये कि प्रधानमंत्री की अपील को धता बता कर सोशल डिस्टेंसिंग को तार-तार करते नजर आये। सरकार के निर्देशों के अनुसार किसी भी सार्वजनिक स्थल पर जाने के लिए मास्क आवश्यक कर दिया गया है। फिर चाहे वह घर का ही बना मास्क क्यों ना हो।

धाता थाना प्रभारी के साथ चल रही भीड़ में यह भी मॉस्क की भी कमी नजर आई। कुछ लोगों को छोड़कर अधिकतर लोग बिना मास्क के ही नजर आए। पुलिस द्वारा ऐसा गैर जिम्मेदाराना रवैया अपनाना कहां तक ठीक है। जब देश कोरोना जैसे महासंकट से जूझ रहा हो। ऐसे में तो पुलिस प्रशासन को गंभीरता दिखाते हुए सख्ती के साथ लॉकडाउन का पालन कराना चाहिए और स्वयं भी करना चाहिए। नहीं तो स्थिति बद से बदतर होने से रोकना संभव नहीं होगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...