श्रीलंका में अस्थायी तौर पर हटाया गया कर्फ्यू

श्रीलंका में अस्थायी तौर हटाया गया कर्फ्यू
श्रीलंका में अस्थायी तौर हटाया गया कर्फ्यू

कोलंबो। श्रीलंकाई पुलिस ने गुरुवार को कैंडी जिले में अस्थायी तौर पर कर्फ्यू को हटा लिया। जिले में सांप्रदायिक संघर्ष के बाद कर्फ्यू लगाया गया था। संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गई थी और कई घायल हुए थे। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जिले में भारी सुरक्षा इंतजामात हैं बुधवार रात को तनाव में कमी आई और कोई बड़ी घटना नहीं घटी।

अधिकारी ने कहा कि रविवार शाम से लागू कर्फ्यू को सुबह 10 बजे हटा लिया गया लेकिन कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए शाम छह बजे इसे फिर से लागू किया जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- श्रीलंका में म्यांमार जैसे हालात​, सांप्रदायिक हिंसा के चलते लगी इमरजेंसी }

सरकार ने बुधवार को जनता को शिकायत दर्ज कराने के लिए हॉटलाइन शुरू की थी। जनता के पास अगर नस्लवाद को बढ़ावा देने या सांप्रदायिक हिंसा को उकसाने वाले व्यक्तियों की जानकारी है तो वह इस सेवा के माध्यस से सूचना दे सकते हैं।

कैंडी में रविवार शाम को संघर्ष की शुरुआत हुई थी। यह हिंसा 22 फरवरी को पिटाई से गंभीर रूप से घायल हुए 41 वर्षीय शख्स की मौत के बाद भड़की थी।

कई घरों, दुकानों, मंदिरों और मस्जिदों को जला दिया गया था और क्षतिग्रस्त कर दिया गया था।

राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने मंगलवार को 10 दिवसीय राष्ट्रव्यापी आपातकाल की घोषणा की थी। 2009 में गृह युद्ध के समाप्त होने के बाद पहली बार आपातकाल घोषित किया गया है।

कोलंबो। श्रीलंकाई पुलिस ने गुरुवार को कैंडी जिले में अस्थायी तौर पर कर्फ्यू को हटा लिया। जिले में सांप्रदायिक संघर्ष के बाद कर्फ्यू लगाया गया था। संघर्ष में तीन लोगों की मौत हो गई थी और कई घायल हुए थे। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जिले में भारी सुरक्षा इंतजामात हैं बुधवार रात को तनाव में कमी आई और कोई बड़ी घटना नहीं घटी। अधिकारी ने कहा कि रविवार शाम से लागू कर्फ्यू को सुबह 10 बजे हटा…
Loading...