साइकिल लेकर मां से मिलने एटा से दिल्ली निकल पड़ा 10 साल का मासूम बच्चा

etah ten year boy
साइकिल लेकर मां से मिलने एटा से दिल्ली निकल पड़ा 10 साल का मासूम बच्चा

नई दिल्ली। मां-बाप का तलाक होने के बाद से पिता के पास दो साल से रह रहा एक मासूम बच्चा साइकिल पर एटा से दिल्ली के लिए निकल पड़ा। उसे जानकारी मिल गई थी कि उसकी मां दिल्ली में रह रही है। काफी दूर तक साइकिल चलाने पर जब वो पसीने से तर-बतर हो गया तो उसने एक ई-रिक्शे वाले से मदद मांगी। पूरा माजरा समझने के बाद ​रिक्शा चालक उसे लेकर ​थाने पहुंचा, जहां पुलिस ने उसके पिता से संप​र्क कर उसे पिता के हवाले कर दिया।

Ten Year Boy Went Out Etah To Delhi On Bicycle To Meet His Mother :

बताया जा रहा है कि एटा के मोहल्ला कांशीराम कॉलोनी के रहने वाले महफूज का अपनी पत्नी से करीब दो वर्ष पहले तलाक हो गया था। इसके बाद मजफूज ने दो लड़की व एक लड़के को महफूज ने अपने पास रख लिया। इसके कुछ दिन बाद उसने दूसरी शादी कर ​ली। वहीं उसके पत्नी भी दूसरी शादी करके दिल्ली में रहने लगी। इधर पिता के पास रह रहे दस वर्षीय जुबैल को कहीं से मां का पता चला तो उसकी मां से मिलने की इच्छा हुई। वह सुबह स्कूल जाने के बहाने साइकिल से अपनी मां से मिलने एटा से दिल्ली जाने के लिए चल दिया।

बता दें कि एटा से 32 किलोमीटर की दूरी साढ़े तीन घंटे में तय कर वो जीटी रोड से होता हुआ सिकंदराराऊ रेलवे क्रॉसिंग पर आ गया। जब वो बुरी तरह थक गया तो वहां मौजूद एक ई-रिक्शा चालक को पांच रुपये देकर बोला, अंकल दिल्ली तक छोड़ दो। रिक्शा चालक को शक हुए तो उसने बच्चे को पुलिस को सौंप दिया। स्कूल के आईकार्ड की मदद से पुलिस ने इसकी सूचना महफूज को दी तो वो थाने पहुंचे। तब पुलिस ने बच्चे को उनके हवाले कर दिया।

नई दिल्ली। मां-बाप का तलाक होने के बाद से पिता के पास दो साल से रह रहा एक मासूम बच्चा साइकिल पर एटा से दिल्ली के लिए निकल पड़ा। उसे जानकारी मिल गई थी कि उसकी मां दिल्ली में रह रही है। काफी दूर तक साइकिल चलाने पर जब वो पसीने से तर-बतर हो गया तो उसने एक ई-रिक्शे वाले से मदद मांगी। पूरा माजरा समझने के बाद ​रिक्शा चालक उसे लेकर ​थाने पहुंचा, जहां पुलिस ने उसके पिता से संप​र्क कर उसे पिता के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है कि एटा के मोहल्ला कांशीराम कॉलोनी के रहने वाले महफूज का अपनी पत्नी से करीब दो वर्ष पहले तलाक हो गया था। इसके बाद मजफूज ने दो लड़की व एक लड़के को महफूज ने अपने पास रख लिया। इसके कुछ दिन बाद उसने दूसरी शादी कर ​ली। वहीं उसके पत्नी भी दूसरी शादी करके दिल्ली में रहने लगी। इधर पिता के पास रह रहे दस वर्षीय जुबैल को कहीं से मां का पता चला तो उसकी मां से मिलने की इच्छा हुई। वह सुबह स्कूल जाने के बहाने साइकिल से अपनी मां से मिलने एटा से दिल्ली जाने के लिए चल दिया। बता दें कि एटा से 32 किलोमीटर की दूरी साढ़े तीन घंटे में तय कर वो जीटी रोड से होता हुआ सिकंदराराऊ रेलवे क्रॉसिंग पर आ गया। जब वो बुरी तरह थक गया तो वहां मौजूद एक ई-रिक्शा चालक को पांच रुपये देकर बोला, अंकल दिल्ली तक छोड़ दो। रिक्शा चालक को शक हुए तो उसने बच्चे को पुलिस को सौंप दिया। स्कूल के आईकार्ड की मदद से पुलिस ने इसकी सूचना महफूज को दी तो वो थाने पहुंचे। तब पुलिस ने बच्चे को उनके हवाले कर दिया।