अलीगढ़: AMU के 14 छात्रों पर लगा राजद्रोह का आरोप, देश विरोधी लगाए थे नारे

amu
अलीगढ़: AMU के 14 छात्रों पर लगा राजद्रोह का आरोप, देश विरोधी लगाए थे नारे

नई दिल्ली। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मंगलवार को हुए बवाल का मामला तूल पकड़ रहा है। भारत के खिलाफ नारेबाजी करने वाले 14 छात्रों पर राजद्रोह की एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं, एएमयू प्रशासन ने छात्र नेता अजय सिंह समेत आठ लोगों को सस्पेंड कर दिया है। मामला बढ़ते देख यहां इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

Tension In Amu Class Closed Girls Withdrew From March Dm Ssp Examined The Campus :

गैर मुस्लिम छात्र को पीटने पर शुरू हुआ था बवाल

मंगलवार को छात्रों के बीच हुआ झगड़ा बवाल बन गया था। बीटेक के गैर मुस्लिम छात्र को पीटने पर रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग को लेकर रजिस्ट्रार ऑफिस पर धरना दे रहे छात्र नेता अजय सिंह को छात्रों ने घेर लिया था। पुलिस ने जैसे-तैसे अजय व उनके साथियों को निकाल रहे थे। तभी एएमयू सर्किल पर अजय सिंह के समर्थन में पहुंचे भाजपा नेताओं पर छात्रों ने पुलिस की मौजूदगी में ही हमला बोल दिया गया था। गैर मुस्लिम छात्र व भाजपा कार्यकर्ताओं को जमकर पीटा गया था और फायङ्क्षरग की गई। एक गोली भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी की गाड़ी में लगी, जिसमें वह बाल-बाल बच गए थे।

क्या कहना है प्रशासन का

डीएम चन्द्रभूषण सिंह ने बताया कि यह एएमयू का अंदरूनी मामला है इसमें हम पार्टी नहीं बन सकते हैं। अगर कोई हमसे किसी भी प्रकार की शिकायत करेगा तो उसके विरुद्ध जांच कर कार्रवाई की जाएगी। लॉ एंड आर्डर पर लगातार नज़र बनी हुई है। किसी भी सूरत में कानून व्यवस्था को बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। इस मामले में प्रॉक्टर एएमयू से भी बात हुई है। हमने कहा है कि अवांछनीय तत्वों के विरूद्ध कार्रवाई करें।

नई दिल्ली। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में मंगलवार को हुए बवाल का मामला तूल पकड़ रहा है। भारत के खिलाफ नारेबाजी करने वाले 14 छात्रों पर राजद्रोह की एफआईआर दर्ज की गई है। वहीं, एएमयू प्रशासन ने छात्र नेता अजय सिंह समेत आठ लोगों को सस्पेंड कर दिया है। मामला बढ़ते देख यहां इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। गैर मुस्लिम छात्र को पीटने पर शुरू हुआ था बवाल मंगलवार को छात्रों के बीच हुआ झगड़ा बवाल बन गया था। बीटेक के गैर मुस्लिम छात्र को पीटने पर रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग को लेकर रजिस्ट्रार ऑफिस पर धरना दे रहे छात्र नेता अजय सिंह को छात्रों ने घेर लिया था। पुलिस ने जैसे-तैसे अजय व उनके साथियों को निकाल रहे थे। तभी एएमयू सर्किल पर अजय सिंह के समर्थन में पहुंचे भाजपा नेताओं पर छात्रों ने पुलिस की मौजूदगी में ही हमला बोल दिया गया था। गैर मुस्लिम छात्र व भाजपा कार्यकर्ताओं को जमकर पीटा गया था और फायङ्क्षरग की गई। एक गोली भाजयुमो जिलाध्यक्ष मुकेश लोधी की गाड़ी में लगी, जिसमें वह बाल-बाल बच गए थे। क्या कहना है प्रशासन का डीएम चन्द्रभूषण सिंह ने बताया कि यह एएमयू का अंदरूनी मामला है इसमें हम पार्टी नहीं बन सकते हैं। अगर कोई हमसे किसी भी प्रकार की शिकायत करेगा तो उसके विरुद्ध जांच कर कार्रवाई की जाएगी। लॉ एंड आर्डर पर लगातार नज़र बनी हुई है। किसी भी सूरत में कानून व्यवस्था को बिगड़ने नहीं दिया जाएगा। इस मामले में प्रॉक्टर एएमयू से भी बात हुई है। हमने कहा है कि अवांछनीय तत्वों के विरूद्ध कार्रवाई करें।