चीन से तनाव: रक्षामंत्री ने सीडीएस और तीनों सेना प्रमुखों के साथ की बैठक

rajnath singh
चीन से तनाव: रक्षामंत्री ने सीडीएस और तीनों सेना प्रमुखों के साथ की बैठक

नई दिल्ली। भारत-चीन सीमा पर हुई हिंसक झड़प के बाद देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ हाई लेवल मीटिंग की है। इस दौरान चीन सीमा पर मौजूदा स्थिति को लेकर चर्चा की गई है।

Tension With China Defense Minister Holds Meeting With Cds And Three Army Chiefs :

सेना ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि गलवान घाटी में दोनों सेनाओं के जवानों के पीछे हटने की प्रक्रिया के दौरान सोमवार रात को हिंसक झड़प हुई जिसमें एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए। सेना ने बताया है कि तीन चीनी सैनिक भी मारे गए हैं। सैन्य सूत्रों के मुताबिक चीन के भी तीन सैनिक मारे गए हैं।

सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह ने सेना के वरिष्ठ नेतृत्व से झड़प के बारे में विस्तार से जानकारी ली और आगे की योजना पर चर्चा की। बैठक में इस घटना के बाद उत्पन्न स्थिति से संबंधित तमाम पहलुओं पर बातचीत की गई।

सेना ने स्पष्ट किया है कि झड़प में दोनों ओर के सैनिक हताहत हुए हैं। हालाकि सेना ने चीन के सैनिकों के हताहत होने की संख्या के बारे में कुछ नहीं कहा है। सेना ने यह भी स्पष्ट किया है कि झडप के दौरान फायरिंग नहीं हुई है।

नई दिल्ली। भारत-चीन सीमा पर हुई हिंसक झड़प के बाद देश के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और तीनों सेनाओं के प्रमुखों के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ हाई लेवल मीटिंग की है। इस दौरान चीन सीमा पर मौजूदा स्थिति को लेकर चर्चा की गई है। सेना ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि गलवान घाटी में दोनों सेनाओं के जवानों के पीछे हटने की प्रक्रिया के दौरान सोमवार रात को हिंसक झड़प हुई जिसमें एक अधिकारी और दो जवान शहीद हो गए। सेना ने बताया है कि तीन चीनी सैनिक भी मारे गए हैं। सैन्य सूत्रों के मुताबिक चीन के भी तीन सैनिक मारे गए हैं। सूत्रों के अनुसार राजनाथ सिंह ने सेना के वरिष्ठ नेतृत्व से झड़प के बारे में विस्तार से जानकारी ली और आगे की योजना पर चर्चा की। बैठक में इस घटना के बाद उत्पन्न स्थिति से संबंधित तमाम पहलुओं पर बातचीत की गई। सेना ने स्पष्ट किया है कि झड़प में दोनों ओर के सैनिक हताहत हुए हैं। हालाकि सेना ने चीन के सैनिकों के हताहत होने की संख्या के बारे में कुछ नहीं कहा है। सेना ने यह भी स्पष्ट किया है कि झडप के दौरान फायरिंग नहीं हुई है।