1. हिन्दी समाचार
  2. करतारपुर कॉरिडोर पर आतंकी साया, पाकिस्तान में गुरुद्वारे के पास चल रहा टेरर कैंप

करतारपुर कॉरिडोर पर आतंकी साया, पाकिस्तान में गुरुद्वारे के पास चल रहा टेरर कैंप

Terror Camps In District That Houses Kartarpur Gurdwara

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। सिखों के पवित्र स्थल करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर कॉरिडोर खुलने में अब एक हफ्ते का समय भी नहीं बचा है। इस बीच वहां से मिली खुफिया जानकारी के मुताबिक जिस जेले में ये गुरुद्वारा है वहीं पर कई आतंकी कैंप (Terror Camp) चल रहे हैं।  

पढ़ें :- 17 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाली है शुभ सूचना, जानिए अपनी राशि का हाल

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, करतारपुर कॉरिडोर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में है। सूत्रों के मुताबिक, इस जिले में आंतकी कई कैंप चल रहे हैं। खुफिया एजेंसियों से जुड़े सूत्रों का कहना है कि ये आतंकी कैंप पाकिस्तानी पंजाब के मुरीदके, शाकरगढ़ और नारोवाल में है। कहा जा रहा है कि यहां बड़ी संख्या में महिलाएं और पुरुष कैंप में मौजूद हैं और ट्रेनिंग ले रहे हैं।

तीर्थयात्रियों से पैसे लेगा पाकिस्तान

बता दें कि पाकिस्तान ने गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा करने के लिए हर दिन पांच हजार तीर्थयात्रियों को अनुमति दी है। पाकिस्तान प्रति तीर्थयात्री 20 डॉलर सेवा शुल्क भी वसूलेगा जिससे उसे हर रोज एक लाख डॉलर की कमाई होगी। लेकिन गुरुपर्व के दिन पाकिस्तान तीर्थयात्रियों से सेवा शुल्क नहीं लेगा।

तैयार है कॉरिडोर

पढ़ें :- रामपुर:मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी की चौदह सौ बीघा जमीन सरकार के नाम करने के आदेश,जाने पूरा मामला

पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को करतारपुर परिसर और गुरुद्वारा दरबार साहिब की कुछ तस्वीरें शेयर की हैं। इमरान ने कहा कि आस्था का ये केन्द्र गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करने के लिए तैयार है।

बता दें कि इसी महीने सिख धर्म के संस्थापक और पहले गुरु, गुरुनानक देव की 550वीं जयंती मनाई जानी है। सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने पाकिस्तान के करतारपुर में रावी नदी के किनारे स्थित दरबार साहिब गुरुद्वारे में अपने जीवन के अंतिम 18 साल बिताए थे। ये गलियारा पंजाब के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे को करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब से जोड़ता है।  

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...