यहां इस बार रावण की जगह जलेगा आतंकियों का पुतला

नई दिल्ली| दशहरे पर रावण के पुतले जलाने की परंपरा तो सदियों से चली आ रही है। हर बार की तरह इस बार भी दशहरे के दिन रावण का पुतला जलाया जाएगा लेकिन इस बार हमेशा से हटकर एक और नई चीज देखने को मिलेगी।




इस बार दशहरे के अवसर पर न केवल रावण का पुतला जलाया जाएगा बल्कि आज के दौर में रावण का प्रतीक बने आतंकियों का पुतला भी जलाया जाएगा। राजौरी गार्डन के गांव तितारपुर की रावण मंडी में इस बार खास किस्म के पुतले बन रहे हैं। दशहरा पर जलाने के लिए आतंकवाद और पाकिस्तान के पुतले बनाए गए हैं।

आतंकवादियों के बने पुतले के बारे में पुतला निर्माता रोहित और विजेंद्र ने बताया कि इस बार जो पुतले दशहरे पर फूंकने के लिए बने हैं उन पुतलों पर आतंकवादियों की पहचान भी अंकित की गयी है। पुतले में कुछ आतंकवादियों के नाम भी लगाए हैं।

वहीं आतंकवादियों को पनाह देने वाले देश पाकिस्तान के भी पुतले तैयार किए गए हैं। रावण के साथ ही इन पुतलों की भी काफी मांग है। कुछ लोगों ने और पुतले बनाने के ऑर्डर भी दिए हैं।

रिपोर्ट: आस्था सिंह