रामलीला मैदान में PM मोदी की रैली पर आतंकी खतरा, खुफिया अलर्ट के बाद एजेंसियां सक्रिय

pm modi
रामलीला मैदान में पीएम मोदी की रैली पर आतंकी खतरा, खुफिया अलर्ट के बाद एजेंसियां सक्रिय

नई दिल्ली। दिल्ली की रामलीला मैदान में 22 दिसंबर को होने वाली बीजेपी की महारैली पर आतंकी खतरा मंडरा रहा है। खुफिया एंजेंसियों के अलर्ट के बाद पुलिस सक्रिय हो गयी है। खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला कर सकते हैं। एजेसियों ने इस खुफिया जानकारी को स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप और दिल्ली पुलिस को दे दी है।

Terrorist Threat On Pm Modis Rally At Ramlila Maidan Agencies Active After Intelligence Alert :

केंद्रीय एजेंसियों के मुताबिक, उन्हें इनपुट मिले हैं कि जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी भारत भेजे जा चुके हैं और वे रामलीला मैदान में हजारों लोगों के बीच पीएम मोदी पर हमला कर सकते हैं। इस रैली में एनडीए सरकार से जुड़े अलग-अलग राज्यों के सीएम और कैबिनेट मंत्री भी शामिल होंगे।

खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद एसपीजी समेत सभी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गयीं हैं और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि सरकार द्वारा लिए गए हालिया फैसलों से आतंकी बौखलाए हुए हैं। जिनमें नागरिकता कानून, राम जन्मभूमि, अनुच्छेद 370, तीन तलाक जैसे मुद्दे शामिल हैं।

नई दिल्ली। दिल्ली की रामलीला मैदान में 22 दिसंबर को होने वाली बीजेपी की महारैली पर आतंकी खतरा मंडरा रहा है। खुफिया एंजेंसियों के अलर्ट के बाद पुलिस सक्रिय हो गयी है। खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान स्थित आतंकी गुट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला कर सकते हैं। एजेसियों ने इस खुफिया जानकारी को स्पेशल प्रोटक्शन ग्रुप और दिल्ली पुलिस को दे दी है। केंद्रीय एजेंसियों के मुताबिक, उन्हें इनपुट मिले हैं कि जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी भारत भेजे जा चुके हैं और वे रामलीला मैदान में हजारों लोगों के बीच पीएम मोदी पर हमला कर सकते हैं। इस रैली में एनडीए सरकार से जुड़े अलग-अलग राज्यों के सीएम और कैबिनेट मंत्री भी शामिल होंगे। खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद एसपीजी समेत सभी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गयीं हैं और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुख्ता इंतजाम कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि सरकार द्वारा लिए गए हालिया फैसलों से आतंकी बौखलाए हुए हैं। जिनमें नागरिकता कानून, राम जन्मभूमि, अनुच्छेद 370, तीन तलाक जैसे मुद्दे शामिल हैं।