पुलिसकर्मियों के परिजनों पर निशाना साध रहे आतंकी, 48 घंटे में 11 अगवा

पुलिसकर्मियों के परिजनों पर निशाना साध रहे आतंकी,
पुलिसकर्मियों के परिजनों पर निशाना साध रहे आतंकी, 48 घंटे में 11 अगवा

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर में सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखलाए आतंकियों ने गुरुवार से अब पुलिसकर्मियों के परिजनों पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। पिछले 48 घंटों  में अज्ञात आतंकियों ने कश्मीर घाटी के अलग-अलग जिलों से 11 लोगों को अगवा किया है।

Terrorists Abduct 11 Relatives Of Policemen In South Kashmir :

दो दिन में पुलिसकर्मियों के 11 परिवार वालों के अपहरण की जानकारी मिलने के बाद पूरी घाटी में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं डीजीपी डॉ. एसपी वैद ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।

आतंकी सैयद सलाहुदीन के बेटे की गिरफ्तारी के बाद सामने आई घटना

आतंकियों ने पहले भी धमकी दी थी कि यदि उनके परिवार वालों के साथ ज्यादती की गई तो सुरक्षाबलों के परिवार भी सुरक्षित और सुकून से नहीं रह पाएंगे। बीते दिनों दो आतंकियों के घर जलाए जाने और आतंकी सैयद सलाहुदीन के दूसरे बेटे को एनआईए की ओर से गिरफ्तार किए जाने के बाद पुलिसकर्मियों के परिजनों के अगवा होने की घटनाएं सामने आई हैं।

गुरुवार के दिन पहले तीन पुलिसकर्मियों के परिजनों के अगवा होने की खबर आई फिर धीरे-धीरे यह संख्या बढ़कर पांच हो गयी और देर रात तक यह नौ हो गई थी। शुक्रवार यानि आज फिर से दो लोगों के अगवा होने की खबर आते ही अगवा होने वालों की संख्या 11 पहुँच गयी।

अगवा हुए परिजनों की लिस्ट

आरवानी बिजबिहाड़ा निवासी पुलिसकर्मी मोहम्मद मकबूल भट के बेटे जुबैर अहमद भट
आरवानी निवासी एसएचओ नजीर अहमद संकार के भाई आरिफ अहमद संकार
खारपोरा कुलगाम निवासी बशीर अहमद मकरू का बेटा फैजान अहमद मकरू
यारीपोरा कुलगाम के अब्दुल सलाम राथर का बेटा सुमर अहमद राथर
डीएसपी एजाज का भाई गौहर अहमद मलिक शामिल है।
पुलवामा जिले के कंगन से पुलिसकर्मी के भाई
काकपोरा व मिदूरा-त्राल से दो पुलिसकर्मियों के बेटे को अगवा किया
मिदूरा से पुलिसकर्मी गुलाम हसन मीर के बेटे नसीर अहमद मीर

श्रीनगर। दक्षिणी कश्मीर में सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखलाए आतंकियों ने गुरुवार से अब पुलिसकर्मियों के परिजनों पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। पिछले 48 घंटों  में अज्ञात आतंकियों ने कश्मीर घाटी के अलग-अलग जिलों से 11 लोगों को अगवा किया है। दो दिन में पुलिसकर्मियों के 11 परिवार वालों के अपहरण की जानकारी मिलने के बाद पूरी घाटी में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं डीजीपी डॉ. एसपी वैद ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। आतंकी सैयद सलाहुदीन के बेटे की गिरफ्तारी के बाद सामने आई घटना आतंकियों ने पहले भी धमकी दी थी कि यदि उनके परिवार वालों के साथ ज्यादती की गई तो सुरक्षाबलों के परिवार भी सुरक्षित और सुकून से नहीं रह पाएंगे। बीते दिनों दो आतंकियों के घर जलाए जाने और आतंकी सैयद सलाहुदीन के दूसरे बेटे को एनआईए की ओर से गिरफ्तार किए जाने के बाद पुलिसकर्मियों के परिजनों के अगवा होने की घटनाएं सामने आई हैं। गुरुवार के दिन पहले तीन पुलिसकर्मियों के परिजनों के अगवा होने की खबर आई फिर धीरे-धीरे यह संख्या बढ़कर पांच हो गयी और देर रात तक यह नौ हो गई थी। शुक्रवार यानि आज फिर से दो लोगों के अगवा होने की खबर आते ही अगवा होने वालों की संख्या 11 पहुँच गयी। अगवा हुए परिजनों की लिस्ट आरवानी बिजबिहाड़ा निवासी पुलिसकर्मी मोहम्मद मकबूल भट के बेटे जुबैर अहमद भट आरवानी निवासी एसएचओ नजीर अहमद संकार के भाई आरिफ अहमद संकार खारपोरा कुलगाम निवासी बशीर अहमद मकरू का बेटा फैजान अहमद मकरू यारीपोरा कुलगाम के अब्दुल सलाम राथर का बेटा सुमर अहमद राथर डीएसपी एजाज का भाई गौहर अहमद मलिक शामिल है। पुलवामा जिले के कंगन से पुलिसकर्मी के भाई काकपोरा व मिदूरा-त्राल से दो पुलिसकर्मियों के बेटे को अगवा किया मिदूरा से पुलिसकर्मी गुलाम हसन मीर के बेटे नसीर अहमद मीर