गजब: हैरान कर देने वाली अनोखी कार, स्पीड जानकर रह जाएंगे दंग

tesla_car_2008842_835x547-m

Tesla New Second Generation Roadster Fastest Car

नई दिल्ली: टेस्ला ने बिजली से चलने वाली गाड़ियों की दुनिया में क्रांति कर दी है। दरअसल बिजली से चलने वाले वाहनों के साथ सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि एक बार चार्ज करने के बाद वो बहुत ज्यादा दूरी तय नहीं कर पाते। साथ ही माना जाता है कि इलेक्ट्रिक व्हीकल्स उतनी तेज गति से नहीं दौड़ पाते, जितनी तेजी से डीजल या पेट्रोल के वाहन फर्राटा भरते हैं।

मगर अब ऐसा लगता है कि टेस्ला दोनों ही अवधारणाओं को गुजरे वक्त की बात बना देना चाहती है। शायद आपको विश्वास नहीं हो रहा होगा, मगर टेस्ला ने एक कार और ट्रक को पेश करके क्रांति की शुरुआत तो कर ही दी है।

टेस्ला की नई रोडस्टर कार एक बार चार्ज होने पर 620 मील तक जा सकती है। अगर इसकी बैटरी की बात करें तो यह 620 किलोवॉट की है। यह कार महज 1.9 सेकेंड में 0 से 60 मील प्रति घंटा की स्पीड पकड़ लेगी। कंपनी ने दावा किया है कि यह 100 मील प्रति घंटा की स्पीड महज 4 सेकेंड में पकड़ लेगी। कंपनी के सीईओ ऐलन मस्क ने इसकी टॉप स्पीड के बारे में बात नहीं की है। लेकिन हिंट जरूर दिया है कि इसकी टॉप स्पीड 400 किलोमीटर प्रति घंटा से ज्यादा हो सकती है। कंपनी ने यह भी दावा किया है कि उनकी यह कार मात्र 8.9 सेकंड में क्‍वार्टर माइल को पूरा कर लेगी। इससे पहले यह‍ रिकॉर्ड मात्र 9 सेकंड का था।

टेस्‍ला की इस शानदार रोडस्टर कार में चार लोगों के बैठने की व्‍यवस्‍था है। कार की बुकिंग की बात करें तो आप 50 हजार डॉलर जमा कर इसकी बुकिंग करा सकते हैं। अगर आपको यह कार अभी चाहिए तो जो 1000 कार फाउंडर मेंबर्स के लिए बनाई गई हैं। उसे 2.5 लाख डॉलर में खरीद सकते हैं। रोडस्‍टर कार टेस्‍ला की पहली कार थी, जिसे 2008 से 2012 तक बनाया बनाया गया था। अब इसका दूसरा वर्जन लांच किया गया है।

अगर बात टेस्‍ला के नए ट्रक की करें तो कंपनी ने दावा किया है कि यह ट्रक मात्र 5 सेकंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड पकड़ लेगा। यह ट्रक 40 टन वजन के साथ 20 सेकंड में 100 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड पकड़ लेगा। टेस्ला का यह सेमी इलेक्ट्रिक ट्रक मेगाचार्जर से महज 30 मिनट चार्ज करने के बाद करीब 650 किलोमीटर की दूरी तय कर सकेगा। ऐलन मस्क ने इसे अब तक का सबसे सुरक्षित और आरामदायक ट्रक बताया है।

टेस्ला के इस ट्रक की प्रति किलोमीटर ऑपरेटिंग कॉस्ट डीजल ट्रक के मुकाबले 20 फीसदी कम है। ऑटो पायलट सिस्टम का इस्तेमाल करते हुए टेस्ला के कई ट्रक हाईवे पर एक काफिला बना सकते हैं, जिससे इनकी ऑपरेटिंग कॉस्ट और घटाई जा सकती है। यह फुली इलेक्ट्रिक क्लास-8 ट्रक है, यह ऐसे व्हीकल की कैटेगरी है, जो 16.5 टन से ज्यादा वजन लेकर जा सकते हैं। इस ट्रक में सुरक्षा का खास ख्याल रखा गया है। इसमें ऑटोमैटिक ब्रेक सिस्टम के अलावा लेन ट्रैकिंग और विंडशील्ड के लिए न्यूक्लियर एक्सप्लोजन-प्रूफ ग्लास दिए गए हैं। हालांकि कंपनी ने इस ट्रक की कीमत का खुलासा नहीं किया है।

  • कार वाले पोर्शन के हेडर
  • टेस्‍ला के लांच किया इलेक्ट्रिक सेमी ट्रक और रोडस्‍टर कार
  • रोडस्टर कार एक बार चार्ज होने पर 620 माइल्‍स करेगी सफर
  • 400 किमी प्रति घंटा हो सकती है कार की टॉप स्‍पीड
  • 50 हजार डॉलर डिपोजिट कर करा सकते हैं कार की बुकिंग
  • 2008-12 बीच में तैयार हुआ था कार का पहला वर्जन
  • टेस्‍ला का सेमी ट्रक 5 सेकंड में पकड़ेगा 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार
  • 40 टन तक वजन लेकर जा सकता है ट्रक
  • डीजल ट्रक के मुकाबले 20 फीसदी ऑपरेटिंग कॉस्‍ट कम
  • ऑटोमैटिंक ब्रेकिंग सिस्टम के अलावा लेन ट्रैकिंग स्स्टिम भी मौजूद
  • न्यूक्लियर एक्सप्लोजन-प्रूफ ग्लास जैसे फीचर मौजूद
नई दिल्ली: टेस्ला ने बिजली से चलने वाली गाड़ियों की दुनिया में क्रांति कर दी है। दरअसल बिजली से चलने वाले वाहनों के साथ सबसे बड़ी दिक्कत ये है कि एक बार चार्ज करने के बाद वो बहुत ज्यादा दूरी तय नहीं कर पाते। साथ ही माना जाता है कि इलेक्ट्रिक व्हीकल्स उतनी तेज गति से नहीं दौड़ पाते, जितनी तेजी से डीजल या पेट्रोल के वाहन फर्राटा भरते हैं। मगर अब ऐसा लगता है कि टेस्ला दोनों ही अवधारणाओं…