प्रस्तावित टीईटी परीक्षा के लिए 17 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाया

उरई । शिक्षक पात्रता परीक्षा केन्द्र (टीईटी) हेतु प्रस्तावित विद्यालयों का सर्वे कर जांच लिया जाये कि वह परीक्षा हेतु उपयुक्त है। उक्त बात जिलाधिकारी श्रीमती संदीप कौर ने आज कलेेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) की परीक्षा कराये जाने हेतु परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण हेतु बुलाई गई बैठक में कही।




उन्होंने कहाकि जोभी परीक्षा केन्द्र निर्धारित का शासन को प्रस्तावित किये जाने है उन पर यह देख लिया जाये कि वहा सभी सम्बन्धित सुरक्षा सहित बिजली पानी, कुर्सी, टेबिल, उपलब्ध है। बैठक में 17 विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र निर्धारित कर शासन को भेजने हेतु प्रस्तावित किया गया है। इसके साथ ही इस बात पर भी चर्चा की गईकि 17 पर्यवेक्षण टीमें बनाई जायेगी। जिसमें एक-एक अधिकारी शिक्षा एवं जिला प्रशासन से तैनात किया जायेगा। रेलवे स्टेशन एवं बस स्टैण्ड पर परीक्षार्थियों को जानकारी देने हेतु पिछली बार की तरह उन्हें परीक्षा केन्द्रों की जानकारी देने हेतु एक-एक जानकारी केन्द्र संचालित किया जाये जिससे गैर जनपद से आने वाले परीक्षार्थियों को सही-सही जानकारी देकर परीक्षा केन्द्रों तक पहुंचाया जा सके।



इस परीक्षा को नकल विहीन कराने हेतु कारगर कदम उठाने के भी निर्देश दिये गये। बैठक में निर्णय लिया गया कि अगली बैठक में अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद उरई, तथा एआरटीओ, एआरएम रोडवेज वरिष्ठ कोषाधिकारी सहित रेलवे के अधिकारी को बुलाया जाये। जिला विद्यालय निरीक्षक राजेन्द्रबाबू ने अवगत कराया कि जो 17 विद्यालयों को परीक्षा केन्द्र हेतु प्रस्तावित किया गयाहै उनसे सहमति पत्र प्राप्त कर लिया गया है। यह परीक्षा 19 दिसम्बर को दो पालियों में सम्पन्न कराई जायेगी जिसमें प्रथम पाली 10 से 12.30 बजे तक होगी। जिसमें उच्च प्राथमिक के 9147 परीक्षार्थी तथा द्वितीय पाली में 2.30 से 5 बजे तक होगी। जिसमें प्राथमिक के 3518 परीक्षार्थियों के सम्मिलित होने की सूचना प्राप्त हुई है। इस अवसर पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रदीप कुमार पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक सुभाषचन्द्र शाक्य सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

जालौन से सौरभ पांडेय की रिपोर्ट