ठाकुर दलित संघर्षः पुलिस छावनी में तब्दील हुआ नवली गांव, सुलग रही बदले की आग

gazipur news
ठाकुर दलित संघर्षः पुलिस छावनी में तब्दील हुआ नवली गांव, सुलग रही बदले की आग

गाजीपुर। मोबाईल में बिना पैसे के रिचार्ज कराने और इस बात का विरोध करने के बाद दो दलित भाइयों को राइस मिल में बंधक बनाकर पिटाई करने के बाद जनपद के नवली गांव में भड़के संघर्ष की आग अभी बुझ नहीं पायी है। गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। कई दर्जन लोग गांव छोड़ चुके है इसी बीच क्षत्रिय महासभा और बहुजन समाज पार्टी के लोगो की ओर से अपनी बाते प्रशासन तक पहुचाई जा रही है और दावा किया जा रहा है कि उनके साथ अन्याय हुआ।

जानकारी के अनुसार जनपद के रेवतीपुर थाना क्षेत्र में स्थित इस गांव में मामूली विवाद के बाद भड़का दलितों और ठाकुरों के बीच संघर्ष में दोनों तरफ से डेढ़ दर्जन से अधिक लोग घायल है। कुछ जिला अस्पताल में कुछ स्थानीय स्तर पर इलाज करा रहे है। ग्रामीणों में घटना के बाद से ही दहशत का माहौल है। शान्ति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस और पीएसी की तैनाती गांव में की गयी है। जिले में धारा 144 भी लगी है। एलआईयू व ख़ुफ़िया विभाग के लोग पल-पल पर निगाह बनाए हुए है।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ: पुलिस ने मुठभेढ़ के बाद दो बांग्लादेशी बदमाशों को दबोचा }

घटना के बाद से राजनीतिक दिगजो के बयान व संवेदना का क्रम शुरू हो चुका है। घटना के बारे में यहाँ के पुलिस अधीक्षक सोमेन वर्मा ने बताया कि कानून तेजी से अपना काम कर रहा है। मामूली विवाद को तूल देकर इस हिंसक माहौल को पैदा करने वाले चिन्हित हो चुके है और उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

बता दे कि इस मामले में मुहम्मदाबाद की विधायक अल्का राय व जमानियां के विधायक सुनीता सिंह ने पुलिस पर मनमानी का आरोप लगाकर धरना भी दिया जिसके परिणाम स्वरुप क्षेत्राधिकारी कासिमाबाद कृष्ण कान्त जिनके पास जमानियां का अतिरिक्त प्रभार था उन्हें हटा दिया गया। अब मुहम्मदाबाद के सीओ जमानियां का काम देखेंगे। साथ-साथ रेवतीपुर थानाध्यक्ष रामबहादुर चौधरी को निलम्बित व दिलदार नगर के थानाध्यक्ष अखिलेश त्रिपाठी को लाइन हाजिर कर दिया गया। दोनों वर्गो के बीच तना तनी बनी हुयी है।

{ यह भी पढ़ें:- अवैध निर्माण ध्वस्त : आक्रोशित ग्रामीणों ने किया चक्का जाम }

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा की ओर से एक प्रतिनिधि मण्डल एसपी से मिला जबकि बहुजन समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष व मण्डल कोऑर्डिनेटर विनोद बागड़ी व सीताराम भारती भी एसपी से मिले और एक दूसरे के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की।

रिपोर्ट- राकेश पांडे

{ यह भी पढ़ें:- श्मशान घाट पर टैक्टर व कार में टक्कर, दो दरोगा घायल }

गाजीपुर। मोबाईल में बिना पैसे के रिचार्ज कराने और इस बात का विरोध करने के बाद दो दलित भाइयों को राइस मिल में बंधक बनाकर पिटाई करने के बाद जनपद के नवली गांव में भड़के संघर्ष की आग अभी बुझ नहीं पायी है। गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। कई दर्जन लोग गांव छोड़ चुके है इसी बीच क्षत्रिय महासभा और बहुजन समाज पार्टी के लोगो की ओर से अपनी बाते प्रशासन तक पहुचाई जा रही…
Loading...