सबसे बड़े कोरोना वायरस एक्सपर्ट का दावा, 4 हफ्तों में खत्म होगी महामारी, वायरस से मिलेगी दुनिया को राहत!

uui-696x367

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में आतंक मचा रखा है अब तक पूरी दुनिया में 10 लाख से भी ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो चुके है और 50 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके है वही 2 लाख से ज्यादा लोग अब तक इस बीमारी से ठीक हो चुके है लेकिन फ़िलहाल इस महामारी का प्रकोप बढ़ाता जा रहा है लेकिन इसी बीच चीन से से अच्छी खबर आई है। यह सिर्फ चीन के लिए नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए पॉजिटिव खबर है।

The Biggest Corona Virus Expert Claims Epidemic Will End In 4 Weeks World Will Get Relief From Virus :

बता दे की चीन के सबसे बड़े कोरोना वायरस एक्सपर्ट ने महामारी के खत्म होने का दावा किया है। एक्सपर्ट का दावा है कि अगले 4 हफ्तों में पूरी दुनिया पहले जैसी हो जाएगी। चीन में कोरोना वायरस के केस में पहले ही कमी आई है. एक्सपर्ट का मानना है कि अगले 4 हफ्तों में इसमें और गिरावट आएगी।चीन के सबसे बड़े कोरोना एक्सपर्ट डॉ. झोंग नानशान ने भविष्यवाणी की है कि आने वाले दिन अच्छे होंगे। कोरोना के मामलों में लगातार गिरावट आएगी। अगले 4 हफ्तों में सबकुछ सामान्य हो जाएगा।

डॉ. झोंग नानशान संक्रामक बीमारियों के विशेषज्ञ हैं। खासकर कोरोना वायरस जैसी महामारी का एक्सपर्ट बताया जाता है। डॉ. झोंग की वो सदस्य हैं, जिन्हें चीन सरकार ने स्थिति का आकलन करने बीजिंग से वुहान भेजा था। उन्होंने सार्स से मुकाबले में भी प्रमुख भूमिका निभाई थी। वहीं, चीन में भी अब कोरोना वायरस का दूसरा हमला नहीं होगा। बता दें, डॉ. झोंग नानशान वो ही शख्स हैं, जिन्हें चीन की सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर तैनात मुख्य टीम का प्रमुख बनाया है।

ब्रिटेन की ऑनलाइन मीडिया की कंपनी डेली मेल को दिए एक इंटरव्यू में 83 वर्षीय डॉ. झोंग ने दावा किया कि चीन ने मॉनिटरिंग सिस्टम को बहुत ज्यादा मजबूत कर दिया है। इसलिए अब यहां दूसरा हमला होने की गुंजाइश नहीं बची है। डॉ. झोंग के मुताबिक, इसका असर दुनिया में भी दिखेगा। अगले 4 हफ्ते काफी बेहद अहम हैं।झोंग नानशान के इस इंटरव्यू को डेली मेल वेबसाइट ने प्रकाशित किया है।

डॉ. झोंग नानशान ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दो तरीके भी बताए हैं। पहला- संक्रमण की दर को सबसे कम स्तर पर ले जाएं। उसे बढ़ने से रोकें। इससे वैक्सीन तैयार करने के लिए समय और मदद मिलेगी। इस तरह ही इस महामारी को खत्म करने में मदद मिलेगी। वही दूसरा तरीका यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण में देरी लाई जाए और मरीजों की संख्या को अलग तरीकों से कम किया जाए। ज्यादातर देशों ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए हैं। डॉ. झोंगे नानशान ने कहा मुझे उम्मीद है कि अगले चार हफ्तों में कोरोना वायरस के नए मामले आना बंद हो जाएंगे।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में आतंक मचा रखा है अब तक पूरी दुनिया में 10 लाख से भी ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित हो चुके है और 50 हजार से ज्यादा लोग अपनी जान गवा चुके है वही 2 लाख से ज्यादा लोग अब तक इस बीमारी से ठीक हो चुके है लेकिन फ़िलहाल इस महामारी का प्रकोप बढ़ाता जा रहा है लेकिन इसी बीच चीन से से अच्छी खबर आई है। यह सिर्फ चीन के लिए नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए पॉजिटिव खबर है। बता दे की चीन के सबसे बड़े कोरोना वायरस एक्सपर्ट ने महामारी के खत्म होने का दावा किया है। एक्सपर्ट का दावा है कि अगले 4 हफ्तों में पूरी दुनिया पहले जैसी हो जाएगी। चीन में कोरोना वायरस के केस में पहले ही कमी आई है. एक्सपर्ट का मानना है कि अगले 4 हफ्तों में इसमें और गिरावट आएगी।चीन के सबसे बड़े कोरोना एक्सपर्ट डॉ. झोंग नानशान ने भविष्यवाणी की है कि आने वाले दिन अच्छे होंगे। कोरोना के मामलों में लगातार गिरावट आएगी। अगले 4 हफ्तों में सबकुछ सामान्य हो जाएगा। डॉ. झोंग नानशान संक्रामक बीमारियों के विशेषज्ञ हैं। खासकर कोरोना वायरस जैसी महामारी का एक्सपर्ट बताया जाता है। डॉ. झोंग की वो सदस्य हैं, जिन्हें चीन सरकार ने स्थिति का आकलन करने बीजिंग से वुहान भेजा था। उन्होंने सार्स से मुकाबले में भी प्रमुख भूमिका निभाई थी। वहीं, चीन में भी अब कोरोना वायरस का दूसरा हमला नहीं होगा। बता दें, डॉ. झोंग नानशान वो ही शख्स हैं, जिन्हें चीन की सरकार ने कोरोना वायरस को लेकर तैनात मुख्य टीम का प्रमुख बनाया है। ब्रिटेन की ऑनलाइन मीडिया की कंपनी डेली मेल को दिए एक इंटरव्यू में 83 वर्षीय डॉ. झोंग ने दावा किया कि चीन ने मॉनिटरिंग सिस्टम को बहुत ज्यादा मजबूत कर दिया है। इसलिए अब यहां दूसरा हमला होने की गुंजाइश नहीं बची है। डॉ. झोंग के मुताबिक, इसका असर दुनिया में भी दिखेगा। अगले 4 हफ्ते काफी बेहद अहम हैं।झोंग नानशान के इस इंटरव्यू को डेली मेल वेबसाइट ने प्रकाशित किया है। डॉ. झोंग नानशान ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दो तरीके भी बताए हैं। पहला- संक्रमण की दर को सबसे कम स्तर पर ले जाएं। उसे बढ़ने से रोकें। इससे वैक्सीन तैयार करने के लिए समय और मदद मिलेगी। इस तरह ही इस महामारी को खत्म करने में मदद मिलेगी। वही दूसरा तरीका यह है कि कोरोना वायरस के संक्रमण में देरी लाई जाए और मरीजों की संख्या को अलग तरीकों से कम किया जाए। ज्यादातर देशों ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए कड़े कदम उठाए हैं। डॉ. झोंगे नानशान ने कहा मुझे उम्मीद है कि अगले चार हफ्तों में कोरोना वायरस के नए मामले आना बंद हो जाएंगे।