मेरठ पहुंचा शहीद मेजर का पार्थिव शरीर, एक झलक पाने के लिए उमड़ा जनसैलाब

meerut
मेरठ पहुंचा शहीद मेजर का पार्थिव शरीर, एक झलक पाने के लिए उमड़ा जनसैलाब

मेरठ। जम्मू—कश्मीर के अनंतनाग के अच्छाबल इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए क्रांतिधर के लाल केतन शर्मा का पार्थिव शरीर मेरठ पहुंच गया है। इस दौरान शहीद मेजर की झलक पाने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। मेजर केतन शर्मा को सेना के जवानों ने सलामी दी। कुछ देर बाद सूरजकुंड पर शहीद मेजर का अंतिम संस्कार किया जायेगा।

The Body Of Martyr Major Will Reach Meerut :

वहीं इस दौरान शहीद केतन के परिजनों का रो—रोकर बुरा हाल है। शहीद मेजर की मां रोते हुए अफसरों से कह रही हैं कि मेरा शेर लौटा दो। उधर, बिलखते हुए पिता कह रहे हैं कि अब क्या होगा। इस दौरान सेना के अफसरों ने शहीद केतन शर्मा के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश राणा भी शहीद के घर पहुंचे हैं।

गौरतलब है कि अच्छाबल के बिडूरा गांव में रविवार देर रात सुरक्षाबलों को दो से तीन आतंकियों के छीपे होने की सूचना मिली थी। सेना की 19 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया था। इस दौरान सोमवार तड़के आतंकियों के साथ मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान सेना के मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए थे।

मेरठ। जम्मू—कश्मीर के अनंतनाग के अच्छाबल इलाके में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए क्रांतिधर के लाल केतन शर्मा का पार्थिव शरीर मेरठ पहुंच गया है। इस दौरान शहीद मेजर की झलक पाने के लिए जनसैलाब उमड़ पड़ा। मेजर केतन शर्मा को सेना के जवानों ने सलामी दी। कुछ देर बाद सूरजकुंड पर शहीद मेजर का अंतिम संस्कार किया जायेगा। वहीं इस दौरान शहीद केतन के परिजनों का रो—रोकर बुरा हाल है। शहीद मेजर की मां रोते हुए अफसरों से कह रही हैं कि मेरा शेर लौटा दो। उधर, बिलखते हुए पिता कह रहे हैं कि अब क्या होगा। इस दौरान सेना के अफसरों ने शहीद केतन शर्मा के परिवार के सदस्यों को सांत्वना दी। प्रदेश सरकार के मंत्री सुरेश राणा भी शहीद के घर पहुंचे हैं। गौरतलब है कि अच्छाबल के बिडूरा गांव में रविवार देर रात सुरक्षाबलों को दो से तीन आतंकियों के छीपे होने की सूचना मिली थी। सेना की 19 राष्ट्रीय राइफल्स (आरआर), सीआरपीएफ और पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) के जवानों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया था। इस दौरान सोमवार तड़के आतंकियों के साथ मुठभेड़ हो गई। मुठभेड़ के दौरान सेना के मेजर केतन शर्मा शहीद हो गए थे।