मजदूरों को वापस बुलाने बिल्डर ने भेजा एयर टिकट

GO AIR
मां सीता पर अभद्र टिप्पणी करने वाले मुश्लिम कर्मचारी को गो एयर ने निकाला

हैदराबाद: लॉकडाउन के बाद दूसरे राज्यों में काम करने वाले श्रमिक अपने घरों को लौट गए थे। अब लॉकडाउन खुलने के बाद वे सभी धीरे-धीरे काम पर लौटना चाहते हैं। कई श्रमिक ऐसे हैं जो अब अपने गृहनगर को अब छोड़कर नहीं जाना चाहते तो कई अब जाने को तैयार हैं। हैदराबाद की एक कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूरों को वापस लाने के लिए उनके मालिक ने फ्लाइट का इंतजाम किया है। बिल्डर ने उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में रहने वाले श्रमिकों को एयर टिकट भेजे हैं।

The Builder Sent An Air Ticket To Recall The Workers :

लॉकडाउन में परेशान होकर श्रमिक अपने गृहनगर लौटे तो वापस आकर उन्होंने कहा कि वे अब वापस नहीं जाना चाहते हैं। ऐसे में उनके मालिक परेशान हो गए हैं। उनके यहां काम करने वालों की कमी हो गई है। अब जब लॉकडाउन खुल रहा है तो मालिकों को मजदूरों की कमी खल रही है। हैदराबाद के कई बिल्डर ऐसे हैं जो मजदूरों के लिए एसी ट्रेन का टिकट बुक कर रहे हैं।

एक बिल्डर ने मजदूरों को एयर टिकट का लालच देकर वापस बुलाया है। प्रत्येक टिकट के लिए उसे 4000 से 5000 रुपये खर्च करने पड़े हैं। अब ये मजदूर झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल से यहां लाए जाएंगे। बताया जा रहा है कि श्रमिको के पलायन के बाद हैदराबाद में लगभग 50 फीसदी श्रमिकों की कमी हो गई है।

प्रेस्टीज ग्रुप के तीन प्रॉजेक्ट हैदराबाद में चल रहे हैं। उनके वाइस प्रेसिडेंट आर सुरेश कुमार ने बताया कि मजदूरों को वापस लाने के लिए उन्होंने फ्लाइट की बुकिंग की है। सारे कॉन्ट्रैक्टर्स को भी कह दिया गया है कि मजदूरों को फ्लाइट से वापस काम पर बुलाएं।

हैदराबाद: लॉकडाउन के बाद दूसरे राज्यों में काम करने वाले श्रमिक अपने घरों को लौट गए थे। अब लॉकडाउन खुलने के बाद वे सभी धीरे-धीरे काम पर लौटना चाहते हैं। कई श्रमिक ऐसे हैं जो अब अपने गृहनगर को अब छोड़कर नहीं जाना चाहते तो कई अब जाने को तैयार हैं। हैदराबाद की एक कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूरों को वापस लाने के लिए उनके मालिक ने फ्लाइट का इंतजाम किया है। बिल्डर ने उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में रहने वाले श्रमिकों को एयर टिकट भेजे हैं। लॉकडाउन में परेशान होकर श्रमिक अपने गृहनगर लौटे तो वापस आकर उन्होंने कहा कि वे अब वापस नहीं जाना चाहते हैं। ऐसे में उनके मालिक परेशान हो गए हैं। उनके यहां काम करने वालों की कमी हो गई है। अब जब लॉकडाउन खुल रहा है तो मालिकों को मजदूरों की कमी खल रही है। हैदराबाद के कई बिल्डर ऐसे हैं जो मजदूरों के लिए एसी ट्रेन का टिकट बुक कर रहे हैं। एक बिल्डर ने मजदूरों को एयर टिकट का लालच देकर वापस बुलाया है। प्रत्येक टिकट के लिए उसे 4000 से 5000 रुपये खर्च करने पड़े हैं। अब ये मजदूर झारखंड, बिहार, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल से यहां लाए जाएंगे। बताया जा रहा है कि श्रमिको के पलायन के बाद हैदराबाद में लगभग 50 फीसदी श्रमिकों की कमी हो गई है। प्रेस्टीज ग्रुप के तीन प्रॉजेक्ट हैदराबाद में चल रहे हैं। उनके वाइस प्रेसिडेंट आर सुरेश कुमार ने बताया कि मजदूरों को वापस लाने के लिए उन्होंने फ्लाइट की बुकिंग की है। सारे कॉन्ट्रैक्टर्स को भी कह दिया गया है कि मजदूरों को फ्लाइट से वापस काम पर बुलाएं।