सावरकर को भारत रत्न देने पर सियासत तेज, कांग्रेस ने पोस्टर लगाकर कहा-भारत माता इन्हें क्षमा करना

congress poster
सावरकर को भारत रत्न देने पर सियासत तेज, कांग्रेस ने पोस्टर लगाकर कहा-भारत माता इन्हें क्षमा करना

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियों ने अपना-अपना दाव चल दिया है। कांग्रेस और बीजेपी ने अपना घोषण पत्र जारी करके जनता को लुभाने की कोशिश की है। वहीं, बीजेपी के द्वारा जारी घोषणा पत्र को लेकर कांग्रेस हमलावर है। दरअसल, बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है कि वह वीर सावरकर को भारत रत्न देंगे। इसी को लेकर कांग्रेस लगातार भाजपा पर हमला बोल रही है।

The Case Of Awarding Bharat Ratna To Savarkar Congress Attacked Bjp By Putting Up Posters :

वहीं, 21 अक्टूबर को यहां पर चुनाव होने वाला है। वीर सावरकर को भारत रत्न दिये जाने की घोषणा के बाद बवाल मचा हुआ है। कांग्रेस बीजेपी पर हमला बोल रही है। इसी बीच मध्यप्रदेश के इंदौर में कुछ पोस्टर दिखाई दिए हैं। जिसमें लिखा है, ‘भारत माता इन्हें क्षमा करना। यह आजादी के आंदोलन में आपसे गद्दारी करने वाले सावरकर को गोडसे समर्थक भाजपा द्वारा भारत रत्न देने का संकल्प लिया। इन्हें सदबुद्धि दें।’

इसके साथ ही दूसरे पोस्टर में सावरकर के अंग्रजी शासन को लिखे माफीनामा को दिखाया गया है। बताया जा रहा कि इन पोस्टर्स को कथित तौर पर कांग्रेस नेता विवेक खंडेलवाल और गिरीश जोशी ने लगवाया है। वहीं, दूसरी ओर वीर सावरकर के पोते रणजीत सावरकर ने शुक्रवार को कहा कि इंदिरा गांधी भी वीर सावरकर की अनुयायी थी।

क्योंकि उन्होंने पाकिस्तान को घुटनों पर ला दिया था। विदेशी और सेना के संबंधो को मजबूत किया। इतना ही नहीं उन्होंने नेहरू और गांधी के दर्शन के खिलाफ जाकर परमाणु परीक्षण भी किया। रणजीत सावरकर ने कहा कि वीर सावरकर सबसे ज्यादा धर्म निरपेक्ष इंसान है।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियों ने अपना-अपना दाव चल दिया है। कांग्रेस और बीजेपी ने अपना घोषण पत्र जारी करके जनता को लुभाने की कोशिश की है। वहीं, बीजेपी के द्वारा जारी घोषणा पत्र को लेकर कांग्रेस हमलावर है। दरअसल, बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में वादा किया है कि वह वीर सावरकर को भारत रत्न देंगे। इसी को लेकर कांग्रेस लगातार भाजपा पर हमला बोल रही है। वहीं, 21 अक्टूबर को यहां पर चुनाव होने वाला है। वीर सावरकर को भारत रत्न दिये जाने की घोषणा के बाद बवाल मचा हुआ है। कांग्रेस बीजेपी पर हमला बोल रही है। इसी बीच मध्यप्रदेश के इंदौर में कुछ पोस्टर दिखाई दिए हैं। जिसमें लिखा है, 'भारत माता इन्हें क्षमा करना। यह आजादी के आंदोलन में आपसे गद्दारी करने वाले सावरकर को गोडसे समर्थक भाजपा द्वारा भारत रत्न देने का संकल्प लिया। इन्हें सदबुद्धि दें।' इसके साथ ही दूसरे पोस्टर में सावरकर के अंग्रजी शासन को लिखे माफीनामा को दिखाया गया है। बताया जा रहा कि इन पोस्टर्स को कथित तौर पर कांग्रेस नेता विवेक खंडेलवाल और गिरीश जोशी ने लगवाया है। वहीं, दूसरी ओर वीर सावरकर के पोते रणजीत सावरकर ने शुक्रवार को कहा कि इंदिरा गांधी भी वीर सावरकर की अनुयायी थी। क्योंकि उन्होंने पाकिस्तान को घुटनों पर ला दिया था। विदेशी और सेना के संबंधो को मजबूत किया। इतना ही नहीं उन्होंने नेहरू और गांधी के दर्शन के खिलाफ जाकर परमाणु परीक्षण भी किया। रणजीत सावरकर ने कहा कि वीर सावरकर सबसे ज्यादा धर्म निरपेक्ष इंसान है।