1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. दिल्ली पर एक बार फिर मंडराया संकट का बादल, लॉकडाउन का उल्लंघन कर यमुना किनारे जुटे हजारों प्रवासी

दिल्ली पर एक बार फिर मंडराया संकट का बादल, लॉकडाउन का उल्लंघन कर यमुना किनारे जुटे हजारों प्रवासी

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली: देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों को देखते हुए केंद्र सरकार ने लॉकडाउन की समयसीमा बढ़ा दी है। दूसरे चरण के लॉकडाउन के पहले ही दिन दिल्ली में हजारों की संख्या में प्रवासी मजदूर यमुना किनारे जमा हो गए हैं। हालांकि दो दिन पहले ऐसा ही कुछ मुंबई में देखने को मिला था। मंगलवार को मुंबई के बांद्रा टर्मिनल के बाहर भी प्रवासी मजदूरों की भयंकर भीड़ जुट गई थी।

जानकारी के अनुसार, इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जुटने की जानकारी के बाद पुलिस और प्रशासन के कई अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए हैं। इन लोगों को दिल्ली के अलग-अलग शेल्टर होम ले जाने की तैयारी की जा रही है। इसकी जानकारी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर के जरिये दी है। उन्होंने ट्वीट कर बताया कि यमुना घाट पर मजदूर इकठ्ठा हुए। उनके लिए रहने और खानेे की व्यवस्था कर दी है। उन्हें तुरंत शिफ्ट करने के आदेश दे दिए हैं।

रहने और खाने की कोई कमी नहीं है। किसी को कोई भूखा या बेघर मिले तो हमें जरूर बताएं। उन्होंने कहा कि हम रोज 10 लाख लोगों को खाना खिलाते हैं, 75 लाख लोगों को मुफ्त राशन दिया। हजारों बेघरों के लिए छत का इंतजाम किया। लोग इतने गरीब हैं, कई लोगों को सरकारी इंतजाम का पता ही नहीं चलता। थैंक यू मीडिया, ऐसे गरीबों के बारे में हमें बताने के लिए। हर गरीब तक सरकारी इंतजाम पहुंचायेंगे।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि मुंबई के बांद्रा इलाके में मंगलवार को हजारों प्रवासी मजदूर सड़कों पर उतर आए थे। ये लोग घर वापस जाने की मांग कर रहे थे और भोजन की समस्या के को कारण बता रहे थे। इस भयावह घटना के बाद महाराष्ट्र प्रशासन की व्यवस्था पर भी कई लोगों ने सवाल उठाए। हालांकि बाद में पुलिस ने बल प्रयोग कर इनको तितर-बितर कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...