देश को सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून की जरुरत: गिरिराज सिंह

giriraj singh

नई दिल्ली: अपने बयानों की वजह से अक्सर चर्चाओं में रहने वाले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विश्वस जनसंख्या दिवस पर भारत में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की जरूरत पर जोर दिया है। वह अक्सर जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दे को उठाते रहे हैं। गिरिराज सिंह ने शनिवार को कहा कि अगर हमें विकसित देशों से मुकाबला करना है तो एक सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून जरूरी है।

The Country Needs A Strict Population Control Law Giriraj Singh :

गिरिराज सिंह ने कहा, ‘बढ़ती जनसंख्या हमारे लिए चुनौती बन चुकी है। अगर हम विकसित देशों से मुकाबला करना चाहते हैं तो हमें एक सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना होगा जो देश के हर लोगों पर लागू हो, चाहे उनका धर्म जो भी हो।’ बिहार के बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह को बीजेपी का फायरब्रांड नेता माना जाता है। इससे पहले भी वह कई बार सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून लाए जाने की मांग कर चुके हैं। कई बार वह अपने बयानों की वजह से विवादों में भी आते रहे हैं।

11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। साल 1989 में इसी दिन दुनिया की आबादी 5 अरब हुई थी। ऐसे में तब लोगों को लगने लगा था कि अब जनसंख्या कई देशों के लिए विकराल समस्या बनने वाला है। इसके एहतियातन उपायों को लेकर जागरूकता फैलाने के लक्ष्य से संयुक्त राष्ट्र संघ ने 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस घोषित कर दिया।

नई दिल्ली: अपने बयानों की वजह से अक्सर चर्चाओं में रहने वाले केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विश्वस जनसंख्या दिवस पर भारत में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने की जरूरत पर जोर दिया है। वह अक्सर जनसंख्या नियंत्रण के मुद्दे को उठाते रहे हैं। गिरिराज सिंह ने शनिवार को कहा कि अगर हमें विकसित देशों से मुकाबला करना है तो एक सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून जरूरी है। गिरिराज सिंह ने कहा, 'बढ़ती जनसंख्या हमारे लिए चुनौती बन चुकी है। अगर हम विकसित देशों से मुकाबला करना चाहते हैं तो हमें एक सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून लाना होगा जो देश के हर लोगों पर लागू हो, चाहे उनका धर्म जो भी हो।' बिहार के बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह को बीजेपी का फायरब्रांड नेता माना जाता है। इससे पहले भी वह कई बार सख्त जनसंख्या नियंत्रण कानून लाए जाने की मांग कर चुके हैं। कई बार वह अपने बयानों की वजह से विवादों में भी आते रहे हैं। 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। साल 1989 में इसी दिन दुनिया की आबादी 5 अरब हुई थी। ऐसे में तब लोगों को लगने लगा था कि अब जनसंख्या कई देशों के लिए विकराल समस्या बनने वाला है। इसके एहतियातन उपायों को लेकर जागरूकता फैलाने के लक्ष्य से संयुक्त राष्ट्र संघ ने 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस घोषित कर दिया।