बहू ने एक- एक कर पूरे परिवार को उतारा मौत के घाट, 17 साल बाद खुला राज

murder
बहू ने एक- एक कर पूरे परिवार को उतारा मौत के घाट, 17 साल बाद ऐसे खुला राज

नई दिल्ली। केरल के कोझिकोड जिले में एक महिला ने 14 साल के अंतराल में एक एक करके अपने ही परिवार के छह सदस्यों की हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने आरोपी महिला सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी भी की है।
पुलिस का कहना है कि आरोपी महिला ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। जॉलीअम्मा नाम की इस महिला ने सारी हत्याएं साइनाइट देकर की हैं। पुलिस सभी छह हत्या के मामले में जॉली के खिलाफ सबूत जुटाने में लगी है। जॉली के अलावा गिरफ्तार किए गए दो अन्य आरोपियों एमएस मैथ्यू और प्राजी कुमार पर जॉली को सायनाइड उपलब्ध कराने का आरोप है।

The Daughter In Law Killed The Entire Family One By One After 17 Years Such An Open Secret :

कोझिकोड जिले के ग्रामीण इलाके के प्रभारी केजी साइमन ने बताया कि जॉलीअम्मा के पति रॉय थॉमस की मौत के बाद उनके शव का परीक्षण कराया गया था। इस दौरान उनके शरीर में सायनाइड पाया गया था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही आरोपियों पर पांच और हत्याओं के लिए भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। बता दें कि रॉय थॉमस की मौत साल 2011 में हुई थी।

महिला ने सबसे पहले अपनी सास अनम्मा की साल 2002 में, ससुर टॉम थॉमस की साल 2008 में ,पति के चाचा मैथ्यू मंचडी की साल 2014 में और पति के चचेरे भाई शाजू की पत्नी सिली की साल 2016 में और उनकी भतीजी अल्फाइन की साल 2014 में हत्या की थी। इन 14 साल के दौरान हुई इन छह मौतों को लोग अब तक प्राकृतिक मानते रहे लेकिन ऐसे में पुलिस के खुलासे ने सभी को हैरान कर दिया है। रॉय के परिजन भी इसे सामान्य मौत ही मानते रहे लेकिन उन्हें इन मौतों पर संदेह तब हुआ जब रॉय की मौत के बाद जॉली उनकी प्रॉपर्टी पर कब्जा करने की कोशिश में थी।

नई दिल्ली। केरल के कोझिकोड जिले में एक महिला ने 14 साल के अंतराल में एक एक करके अपने ही परिवार के छह सदस्यों की हत्या कर दी। मामले में पुलिस ने आरोपी महिला सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी भी की है। पुलिस का कहना है कि आरोपी महिला ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। जॉलीअम्मा नाम की इस महिला ने सारी हत्याएं साइनाइट देकर की हैं। पुलिस सभी छह हत्या के मामले में जॉली के खिलाफ सबूत जुटाने में लगी है। जॉली के अलावा गिरफ्तार किए गए दो अन्य आरोपियों एमएस मैथ्यू और प्राजी कुमार पर जॉली को सायनाइड उपलब्ध कराने का आरोप है। कोझिकोड जिले के ग्रामीण इलाके के प्रभारी केजी साइमन ने बताया कि जॉलीअम्मा के पति रॉय थॉमस की मौत के बाद उनके शव का परीक्षण कराया गया था। इस दौरान उनके शरीर में सायनाइड पाया गया था। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है और जल्द ही आरोपियों पर पांच और हत्याओं के लिए भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। बता दें कि रॉय थॉमस की मौत साल 2011 में हुई थी। महिला ने सबसे पहले अपनी सास अनम्मा की साल 2002 में, ससुर टॉम थॉमस की साल 2008 में ,पति के चाचा मैथ्यू मंचडी की साल 2014 में और पति के चचेरे भाई शाजू की पत्नी सिली की साल 2016 में और उनकी भतीजी अल्फाइन की साल 2014 में हत्या की थी। इन 14 साल के दौरान हुई इन छह मौतों को लोग अब तक प्राकृतिक मानते रहे लेकिन ऐसे में पुलिस के खुलासे ने सभी को हैरान कर दिया है। रॉय के परिजन भी इसे सामान्य मौत ही मानते रहे लेकिन उन्हें इन मौतों पर संदेह तब हुआ जब रॉय की मौत के बाद जॉली उनकी प्रॉपर्टी पर कब्जा करने की कोशिश में थी।