1. हिन्दी समाचार
  2. रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर पहुंचा वैशाली के हाजीपुर, अंतिम यात्रा में उमड़ा हुजूम

रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर पहुंचा वैशाली के हाजीपुर, अंतिम यात्रा में उमड़ा हुजूम

The Dead Body Of Raghuvansh Prasad Singh Reached Hajipur Vaishali

By सोने लाल 
Updated Date

पटना। आरजेडी (RJD) के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह का रविवार को निधन हो गया। रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर रविवार देर शाम पटना पहुंचा। रघुवंश प्रसाद सिंह के पटना के कौटिल्य नगर आवास पर समर्थकों का हुजूम टूट पड़ा, अपने चहेते नेता जी को अंतिम विदाई देने के लिए उनके आवास पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी।

पढ़ें :- दिवाली, छठ पर घर पहुंचना होगा मुश्किल, 25 अक्टूबर से 10 दिसंबर तक यूपी-बिहार की ट्रेनों में कोई जगह नहीं

उनका पार्थिव शरीर रविवार की शाम में पटना लाया गया, जहां मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी सहित कई लोगों ने श्रद्धांजलि दी। विदित हो कि रघुवंश प्रसाद सिंह राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के बड़े नेता रहे, लेकिन मौत से केवल तीन दिन पहले ही पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया था।

लालगंज में विधायक राजकुमार साह, पूर्व विधायक विजय कुमार शुक्ला उर्फ मुन्ना शुक्ला सहित बड़ी संख्या में लोगों ने उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। सड़क के दोनों किनारे काफी संख्या में लोग खड़े थे। इसके बाद वैशाली गढ़ से पटेढ़ी बेलसर, गोरौल, भगवानपुर, इमादपुर, महुआ मंगरू चौक, गुरु चौक, सलहा, चमरहरा, महनार के शाहपुर होते हुए पार्थिव शरीर महनार के ही हसनपुर तीनमुहानी गंगा घाट ले जाया जाएगा, जहां दोपहर बाद दो बजे अंतिम संस्कार होगा।

विधानसभा परिसर में दी श्रद्धां‍जलि

इसके पहले रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर रविवार की शाम में पटना लाया गया, जिसे विधानसभा परिसर ले जाया गया। वहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्पीकर विजय कुमार चौधर, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव तथा राबड़ी देवी सहित कई लोगों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी। उसके बाद आम लोगों के दर्शन के लिए पार्थिव शरीर को कौटिल्या नगर स्थित आवास में रखा गया।

पढ़ें :- हाथरस गैंगरेप पीड़िता ने उपचार के दौरान विवेचक के सामने कई बार बदले बयान, मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं : पुलिस

पार्थिव शरीर नहीं ले जाया गया आरजेडी कार्यालय

रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर आरजेडी कार्यालय नहीं ले जाया गया। महज तीन दिन पहले ही 10 सितंबर को उन्होंने पत्र के जरिए आरजेडी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी थी। हालांकि, उनके इस्तीफे को पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने खारिज कर दिया था और कहा था कि आप कहीं नहीं जा रहे हैं।

पार्थिव शरीर नहीं ले जाया गया आरजेडी कार्यालय

रघुवंश प्रसाद सिंह का पार्थिव शरीर आरजेडी कार्यालय नहीं ले जाया गया। महज तीन दिन पहले ही 10 सितंबर को उन्होंने पत्र के जरिए आरजेडी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी थी। हालांकि, उनके इस्तीफे को पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने खारिज कर दिया था और कहा था कि आप कहीं नहीं जा रहे हैं।

रविवार को दिल्‍ली एम्‍स में हुआ था निधन

विदित हो कि रघुवंश प्रसाद सिंह का 74 वर्ष की उम्र में रविवार को दिल्ली के एम्स के आइसीयू में निधन हो गया। दो दिन पहले ही उनकी हालत बिगड़ गई थी। सांस लेने में परेशानी के बाद उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। इसके पहले जून में कोरोना पॉजिटिव होने पर उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया था, जिससे वे उबर गए थे, किंतु निमोनिया की शिकायत बरकरार रहने पर उन्हें बेहतर इलाज के लिए दिल्ली एम्स ले जाया गया था, जहां उन्होंने आखिरी सांस ली। उनके साथ बिहार की राजनीति के एक समाजवादी स्तंभ का अंत हो गया है।

पढ़ें :- पुलिस ने परिजनों की गैर मौजूदगी में किया हाथरस गैंगरेप पीड़िता का अंतिम संस्कार, ग्रामीणों में भारी आक्रोश

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...