बच्ची के साथ खेल गया हैवानियत का गंदा खेल, शहर-दर-शहर बेची गई छात्रा

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के न्यू अशोक नगर थाना पुलिस ने एक ऐसे शातिर गिरोह को गिरफ्तार किया है जिसने एक छात्रा को स्कूल से लौटते वक्त अगवा किया और फिर हरियाणा के हिसार इलाके में एक शख्स को डेढ़ लाख रुपये में बेच दिया। इसके बाद पीड़ित छात्रा को लगातार हवस का शिकार बनाया गया। इसके बाद उसे दूसरे शख्स को बेच दिया गया। इस पूरे गिरोह में पुलिस ने तीन महिलाओं समेत छह मानव तस्करों को गिरफ्तार किया है। हालांकि छात्रा को अगवा करने वाला मुख्य आरोपी दम्पत्ति अभी पुलिस गिरफ्त से बाहर है।



जिला पुलिस उपायुक्त ओमबीर सिंह ने बताया कि आरोपियों की पहचान सतवीर सिंह, मुकेश ठाकुर, कृष्ण कुमार, कविता उर्फ लक्ष्मी, ज्योति और ममता के रूप में हुई। उनके मुताबिक 14 वर्षीय नाबालिग छात्रा अपने परिवार के साथ गाजियाबाद में रहती है। छात्रा न्यू अशोक नगर इलाके में स्थित एक सरकारी स्कूल में 8वीं कक्षा में पढ़ती थीं। 27 अगस्त 2016 को वह स्कूल से घर नहीं पहुंची। काफी तलाश के बाद भी जब उसका पता नहीं चला तो न्यू अशोक नगर थाने में शिकायत दर्ज करवाई।

पुलिस अपहरण समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर उसकी तलाश में जुट गई। काफी तलाशने के बाद भी छात्रा का कोई सुराग हाथ नहीं लगा। जांच टीम को सूचना मिली कि न्यू अशोक नगर से अगवा एक नाबालिग लड़की हिसार हरियाणा में कहीं पर है। सूचना पर एक टीम हरियाणा के लिए रवाना हो गई। पुलिस ने वहां पहुंचकर लोकल पुलिस के साथ मिलकर विभिन्न जगहों पर छापेमारी कर पीड़िता को सकुशल मुक्त करवाकर उसे बेचने और देह व्यापार में धकेलने के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जिनमें तीन महिलाएं और तीन पुरुष शामिल हैं।




हालांकि छात्रा को उसके घर के पास से जिस दम्पत्ति ने अगवा किया पुलिस उसकी तलाश कर रही है। पूछताछ में पीड़िता ने खुलासा किया कि आरोपी दंपति ने जिस दिन उसे अगवा किया उसी दिन नोएडा में उसका शारीरिक शोषण किया गया। पहले फरार आरोपी प्रदीप ने उसके साथ बलात्कार किया। वहां से उसे कानपुर ले जाया गया। वहां भी उसका शारीरिक शोषण किया गया। इसके बाद हिसार में रहने वाले कृष्ण कुमार से उसका ढाई लाख रुपये में सौदा कर दिया। वहां भी उसके साथ जबरन संबंध बनाए गए और जिस्मफरोशी का धंधा कराया गया। इसके बाद कृष्ण ने मासूम को सतबीर के हाथों बेच दिया। वहां भी उसका शारीरिक शोषण किया गया।