1. हिन्दी समाचार
  2. गरीब, युवा और नौकरीपेशा लोगों को बजट से हुई निराशा : अखिलेश यादव

गरीब, युवा और नौकरीपेशा लोगों को बजट से हुई निराशा : अखिलेश यादव

The Disappointment Of The Poor The Young And The Working People Of The Budget Says Akhilesh Yadav

By आशीष यादव 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को बीजेपी सरकार द्वारा पेश किए गए बजट के बाद कहा कि इसमें गरीबों, युवाओं व नौकरीपेशा लोगों के लिए कुछ भी नहीं है। उन्होने कहा कि बजट देखकर तो यही लग रहा है कि एक हाथ से देकर दूसरे हा​थ से छीन लिया गया है। लिहाजा ये भ्रमित करने वाला है। अखिलेश यादव ने कहा कि केवल भाजपा नेता ही बजट का गुणगान कर रहे हैं, उन्हें सावन में हरा हरा ही दिखता है लेकिन सच्चाई को बादलों के घटाटोप से छिपाया नहीं जा सकता।

पढ़ें :- सोनिया गांधी ने दी विजयादशमी की बधाई, कहा-अंत में सच की विजय ही नियति है

बता दें कि अखिलेश यादव ने कहा कि केंद्रीय बजट से पेट्रोल व डीजल के दामों में अतिरिक्त सेस लगने से 2.50 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी से ट्रांसपोर्ट मंहगा हो गया। जिससे रोजाना प्रयोग ​की जाने वाली वस्तुएं मंहगी हो जाएंगी और घरेलू बजट बिगड़ जाएगा। उन्होने कहा कि डीजल का सबसे ज्यादा उपभोग किसान करता है। अब रेट बढ़ने से उसका बहुत नुकसान होगा। नवजवानों को रोजगार देने के नाम पर स्टार्टअप, मुद्रालोन जैसी पुरानी घिसीपिटी योजनाओं की ही चर्चा है। इसकी कोई भी ठोस योजना नहीं है। विदेशी किताबें महंगी कर उसने शोध व शिक्षा क्षेत्र के विकास में बाधा डाली है।

उन्होने कहा कि सच तो यह है कि जब भाजपा सरकार के पांच सालों में कुछ नहीं हुआ तो अब कैसे आशा की जा सकती है कि वह अपने वादे निभाने और जनकांक्षाओं को पूरा करने के लिए ठोस कदम उठाएगी। जनता को तुकबंदी, कविता व शायरी से छलावा की नहीं समस्याओं के ठोस विकल्प की जरूरत थी, जिसका दूर दूर तक केंद्रीय बजट में संकेत नहीं है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...