1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. दरिंदगी की हद: क्रूर पति ने डेढ़ साल से पत्नी को कर रखा था बाथरूम मे बंद, पूरा मामला जान आंखे हो जाएंगी नम

दरिंदगी की हद: क्रूर पति ने डेढ़ साल से पत्नी को कर रखा था बाथरूम मे बंद, पूरा मामला जान आंखे हो जाएंगी नम

The Extent Of The Cruelty The Cruel Husband Had Kept The Wife For One And A Half Years Locked In The Bathroom The Whole Matter Will Become Moist

By आराधना शर्मा 
Updated Date

हरियाणा: “औरत तेरी यही कहानी, अंचल मे है दूध और आंखो मे पानी” ये कविता तो आपने सुनी होगी। जहां एक तरफ हाथरस के हैवानो को अभी सजा भी नहीं मिली थी कि हरियाणा के पानीपत से एक ऐसा किस्सा सामने आया जिससे सुन आपकी रूह कांप जाएगी। दरअसल, पानीपत के ऋषपुर गांव से अमानवीयता की हद पार करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला को एक साल से अधिक समय तक के लिए शौचालय में बंद रखा गया।

पढ़ें :- बबीता फोगाट ने हरियाणा के उप खेल निदेशक के पद ​से दिया इस्‍तीफा

आपको बता दें, बुधवार को जिला महिला और बाल कल्याण विभाग के अधिकारियों की एक टीम ने पीड़िता को एक बहुत छोटे और बदबूदार शौचालय से रेस्क्यू किया. महिला को तुरंत सिविल अस्पताल ले जाया गया, इलाज के बाद उसे उसके चचेरे भाई को सौंप दिया गया। पीड़ित महिला तीन बच्चों की मां है।

पड़ोस की एक महिला ने महिला और बाल कल्याण विभाग को इस बारे में खबर दी, जिसके बाद जिला महिला सुरक्षा अधिकारी रजनी गुप्ता पुलिस अधिकारियों के साथ पीड़ित महिला के घर पहुंचीं और पीड़िता को शौचालय के अंदर बंद देखकर हैरान रह गईं।

शौचालय से निकलते मांगा खाना

महिला अधिकारी ने कहा कि टीम ने शौचालय में महिला को बुरी हालत में पाया। जांच के दौरान यह सामने आया कि पीड़िता पिछले डेढ़ साल से अमानवीय परिस्थितियों में रहने को मजबूर थी। वह इतनी कमजोर हो गई थी कि चल भी नहीं पा रही थी। महिला अधिकारी ने कहा कि जब उन्होंने पीड़िता को खाना दिया, तो वह एक साथ आठ रोटियां खा गई। पीड़िता का पति उसे कैद के दौरान सही ने खाना और पानी भी नहीं देता था। पीड़ित महिला की शादी नरेश कुमार नाम के शख्स के साथ 17 साल पहले हुई थी, उसके तीन बच्चे हैं, जिनमें एक 15 साल की बेटी और 11 और 13 साल की उम्र के दो बेटे शामिल हैं।

पढ़ें :- डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप हुए कोरोना पॉज़िटिव, ट्वीट कर कहा- मुकाबला करेंगे

आरोपी हुआ गिरफ्तार 

पीड़िता के पति ने दावा किया कि उनकी पत्नी का मानसिक स्वास्थ्य ठीक नहीं है, लेकिन कल्याण विभाग के अधिकारी ने कहा कि पीड़िता परिवार के सभी सदस्यों की पहचान आसानी से कर सकी और उसने टीम द्वारा पूछे गए सभी सवालों के सही जवाब दिए हैं।

पीड़िता का पति उसके मानसिक बीमारी के इलाज से संबंधित कोई दस्तावेज भी पेश नहीं कर सका। पीड़िता के पति नरेश कुमार के खिलाफ आईपीसी की धारा 498 ए और 342 के तहत मामला दर्ज किया गया है। सनोली पुलिस स्टेशन के प्रभारी सुरेंद्र दहिया के मुताबिक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और जांच की जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...