झांसी एनकाउंटर: परिजनों ने मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव लेने से किया इंकार, पुलिस ने किया अंतिम संस्कार

pushpendra yadav
झांसी एनकाउंटर: परिजनों ने मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव लेने से किया इंकार, पुलिस ने किया अंतिम संस्कार

लखनऊ। झांसी मे पुलिस मुठभेड़ में मौत के घाट उतारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव लेने से परिजनों ने इंकार ​कर दिया। हालाकि पुलिस ने कई बार मन्नतें की। कई दौर में चली वार्ता के बाद भी परिजनों द्वारा आरोपित इंस्पेक्टर धर्मेंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग एवं उसकी गिरफ्तारी को लेकर अड़े रहे। परिजन जब नहीं मानें तो देर रात पुलिस पुष्पेंद्र के शव को लेकर झांसी आई और प्रेमनगर थाना क्षेत्र में श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार कर दिया। अंतिम संस्कार के दौरान भी भी उनके परिजन वहां नहीं पहुंचे।

The Family Refused To Take The Body Of Pushpendra Yadav Who Was Killed In The Encounter The Police Performed The Last Rites :

वहीं, अंतिम संस्कार के बाद कही किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो इसके लिए मृतक के गांव समेत मोंठ में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। लोकल पुलिस के साथ आरएएफ फोर्स भी वहां मौजूद है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मृतक का गांव पहले ही छावनी में तब्दील है।

अब शव के अंतिम संस्कार के बाद किसी प्रकार की अप्रिय घंटना न हो इसके लिए अतिरिक्त फोर्स और बुला लिया गया है। घटना के बाद दशहरे के त्यौहार को लेकर प्रशासन हर प्रकार से सर्तक है और हर गतिविधि पर नजर रखे हुए है। हालांकि बताया जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य मृतक पुष्पेन्द्र यादव के गांव पहुंचेगे। जहां वह मृतक की पत्नी और भाई से मुलाकात करेंगे और उनका दर्द सुनेंगें।

लखनऊ। झांसी मे पुलिस मुठभेड़ में मौत के घाट उतारे गए पुष्पेंद्र यादव का शव लेने से परिजनों ने इंकार ​कर दिया। हालाकि पुलिस ने कई बार मन्नतें की। कई दौर में चली वार्ता के बाद भी परिजनों द्वारा आरोपित इंस्पेक्टर धर्मेंद्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग एवं उसकी गिरफ्तारी को लेकर अड़े रहे। परिजन जब नहीं मानें तो देर रात पुलिस पुष्पेंद्र के शव को लेकर झांसी आई और प्रेमनगर थाना क्षेत्र में श्मशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार कर दिया। अंतिम संस्कार के दौरान भी भी उनके परिजन वहां नहीं पहुंचे। वहीं, अंतिम संस्कार के बाद कही किसी प्रकार की अप्रिय घटना घटित न हो इसके लिए मृतक के गांव समेत मोंठ में भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है। लोकल पुलिस के साथ आरएएफ फोर्स भी वहां मौजूद है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर मृतक का गांव पहले ही छावनी में तब्दील है। अब शव के अंतिम संस्कार के बाद किसी प्रकार की अप्रिय घंटना न हो इसके लिए अतिरिक्त फोर्स और बुला लिया गया है। घटना के बाद दशहरे के त्यौहार को लेकर प्रशासन हर प्रकार से सर्तक है और हर गतिविधि पर नजर रखे हुए है। हालांकि बताया जा रहा है कि शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य मृतक पुष्पेन्द्र यादव के गांव पहुंचेगे। जहां वह मृतक की पत्नी और भाई से मुलाकात करेंगे और उनका दर्द सुनेंगें।