सुरक्षा में सेंध : संसद भवन के पास तेज रफ्तार आडी हुई बेकाबू, मचा हड़कंप

parliament house
सुरक्षा में सेंध : संसद भवन के पास तेज रफ्तार आडी हुई बेकाबू, मचा हड़कंप

नई दिल्ली। देश के सबसे सुरक्षित और संवेदनशील माने जाने वाले इलाके विजय चौक की सुरक्षा की पोल शनिवार को सुबह खुलती दिखी। दरअसल शनिवार सुबह 4 बजे यहां एक ऑडी कार ने आतंक मचा दिया। तेज रफ्तार से आई इस सफेद रंग की ऑडी कार के चालक ने विजय चौक के पास खूब स्टंट किए। इस दौरान कार की रफ्तार काफी तेज थी। ये वहीं जगह है जहां पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आवास के साथ ही संसद भवन मौजूद है।

The Fast Speed Car Uncontrollable Near Parliament Building :

बताया जा रहा है कि यहां पर आतंक मचाने वाली कार की आवाज इतनी तेज थी कि यहां पर मौजूद सुरक्षाकर्मी और कुछ मीडियाकर्मी इधर—उधर भागने लगे। इसके बाद चालक कार को एक बार फिर कार को भगाता हुआ वहां से गायब हो गया। फिलहाल पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज की मदद से कार चालक का पता लगाने का प्रयास कर रही है।

बता दें कि संसद के पास जिस तरह से इस कार ने आतंक मचाया उससे संसद की सुरक्षा को लेकर एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं। गौरतलब है कि 13 दिसंबर 2001 में भी संसद पर आतंकी हमला हुआ था। इस घटना में नौ लोगों की मौत हो गई थी। उस समय एक सफेद एम्बेसेडर कार में पांच आतंकवादी संसद तक पहुंचे थे और 45 मिनट तक संसद पर गोलीबारी की थी।

नई दिल्ली। देश के सबसे सुरक्षित और संवेदनशील माने जाने वाले इलाके विजय चौक की सुरक्षा की पोल शनिवार को सुबह खुलती दिखी। दरअसल शनिवार सुबह 4 बजे यहां एक ऑडी कार ने आतंक मचा दिया। तेज रफ्तार से आई इस सफेद रंग की ऑडी कार के चालक ने विजय चौक के पास खूब स्टंट किए। इस दौरान कार की रफ्तार काफी तेज थी। ये वहीं जगह है जहां पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आवास के साथ ही संसद भवन मौजूद है। बताया जा रहा है कि यहां पर आतंक मचाने वाली कार की आवाज इतनी तेज थी कि यहां पर मौजूद सुरक्षाकर्मी और कुछ मीडियाकर्मी इधर—उधर भागने लगे। इसके बाद चालक कार को एक बार फिर कार को भगाता हुआ वहां से गायब हो गया। फिलहाल पुलिस अब सीसीटीवी फुटेज की मदद से कार चालक का पता लगाने का प्रयास कर रही है। बता दें कि संसद के पास जिस तरह से इस कार ने आतंक मचाया उससे संसद की सुरक्षा को लेकर एक बार फिर सवाल उठ रहे हैं। गौरतलब है कि 13 दिसंबर 2001 में भी संसद पर आतंकी हमला हुआ था। इस घटना में नौ लोगों की मौत हो गई थी। उस समय एक सफेद एम्बेसेडर कार में पांच आतंकवादी संसद तक पहुंचे थे और 45 मिनट तक संसद पर गोलीबारी की थी।