60 सालों में पहली बार इतनी देर से लौटेगा मानसून, हर तरफ तबाही

rain
60 सालों में पहली बार इतनी देर से लौटेगा मानसून, हर तरफ तबाही

नई दिल्ली। मानसून के आखिर में देश के अलग-अलग हिस्सों में अप्रत्याशित तौर पर हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। पिछले 60 सालों में पहली बार मानसून इतना देरी से लौट रहा है।

The First Time In 60 Years The Monsoon Will Return So Late Destruction Everywhere :

महाराष्ट्र के पुणे में बाढ़ के हालात हैं। इस बाढ़ ने यहां अब तक 17 जिंदगियां लील ली हैं। हैदराबाद में भी बाढ़ से जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त है । यहां अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में अबतक 14 जानें जा चुकी हैं। अब तक बाढ़ और बारिश से 34 लोगों की मौत हो चुकी है।

हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में बारिश ने भारी तबाही मचा रखी है। लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी समेत कई शहरों में शुक्रवार को स्कूल-कॉलेज बंद करा दिए गए। बिहार में अगले तीन दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। इतनी भारी बारिश किसानों के लिए भी अच्छी नहीं बताई जा रही है।

मानसून के अभी 10 दिन तक लौटने के आसार भी नहीं है। 1960 के बाद यह पहली बार है, जब मानसून इतनी देरी से अलविदा कहेगा। भारतीय मौसम विभाग के प्रमुख मृत्युंजय महापात्र के अनुसार, पांच अक्तूबर तक मानसून के लौटने भारी बारिश का अनुमान है। इसलिए हो सकता है कि पांच अक्तूबर तक मानसून का लौटना शुरू भी नहीं हो पाएगा।

उत्तर प्रदेश के कई जिलों में दो दिन से लगातार हो रही बारिश से लोगों की जान पर आ गई है। पूर्वांचल में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। चारों तरफ फैले पानी के बीच लोगों का जीना दूभर हो गया है। उत्तर प्रदेश में आफत बनकर बरस रही बारिश ने गुरुवार रात से अबतक 14 से ज्यादा लोगों की जान ले ली है।

भारी बारिश के बीच पिछले दो दिनों में वाराणसी में दो लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं चंदौली में तीन, आजमगढ़ में एक, भदोही में तीन, जबकि रायबरेली में दो लोगों की मौत हो गई है। प्रदेश में अबतक कुल 14 लोगों की मौत हो चुकी है।

हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड से लेकर महाराष्ट्र तक हुई भारी बारिश के बीच मौसम विभाग ने बिहार में अगले दो दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के मुताबिक 29 सितंबर को बिहार में भारी बारिश हो सकती है। शनिवार को कुछ इलाकों में तो बहुत ही ज्यादा बारिश का पूर्वानुमान है।

बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र, दक्षिण भारत और अन्य हिस्सों में हो रही बारिश का रुख पूर्वी भारत बिहार की ओर हो गया है। 29 सितंबर तक बिहार में भारी बारिश होने की संभावना है, जिसके बाद पूर्वोत्तर राज्यों की ओर बारिश का रुख होगा।

 

नई दिल्ली। मानसून के आखिर में देश के अलग-अलग हिस्सों में अप्रत्याशित तौर पर हो रही बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। पिछले 60 सालों में पहली बार मानसून इतना देरी से लौट रहा है। महाराष्ट्र के पुणे में बाढ़ के हालात हैं। इस बाढ़ ने यहां अब तक 17 जिंदगियां लील ली हैं। हैदराबाद में भी बाढ़ से जनजीवन बुरी तरह अस्त-व्यस्त है । यहां अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश में अबतक 14 जानें जा चुकी हैं। अब तक बाढ़ और बारिश से 34 लोगों की मौत हो चुकी है। हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में बारिश ने भारी तबाही मचा रखी है। लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज और वाराणसी समेत कई शहरों में शुक्रवार को स्कूल-कॉलेज बंद करा दिए गए। बिहार में अगले तीन दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। इतनी भारी बारिश किसानों के लिए भी अच्छी नहीं बताई जा रही है। मानसून के अभी 10 दिन तक लौटने के आसार भी नहीं है। 1960 के बाद यह पहली बार है, जब मानसून इतनी देरी से अलविदा कहेगा। भारतीय मौसम विभाग के प्रमुख मृत्युंजय महापात्र के अनुसार, पांच अक्तूबर तक मानसून के लौटने भारी बारिश का अनुमान है। इसलिए हो सकता है कि पांच अक्तूबर तक मानसून का लौटना शुरू भी नहीं हो पाएगा। उत्तर प्रदेश के कई जिलों में दो दिन से लगातार हो रही बारिश से लोगों की जान पर आ गई है। पूर्वांचल में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। चारों तरफ फैले पानी के बीच लोगों का जीना दूभर हो गया है। उत्तर प्रदेश में आफत बनकर बरस रही बारिश ने गुरुवार रात से अबतक 14 से ज्यादा लोगों की जान ले ली है। भारी बारिश के बीच पिछले दो दिनों में वाराणसी में दो लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं चंदौली में तीन, आजमगढ़ में एक, भदोही में तीन, जबकि रायबरेली में दो लोगों की मौत हो गई है। प्रदेश में अबतक कुल 14 लोगों की मौत हो चुकी है। हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड से लेकर महाराष्ट्र तक हुई भारी बारिश के बीच मौसम विभाग ने बिहार में अगले दो दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के मुताबिक 29 सितंबर को बिहार में भारी बारिश हो सकती है। शनिवार को कुछ इलाकों में तो बहुत ही ज्यादा बारिश का पूर्वानुमान है। बताया जा रहा है कि महाराष्ट्र, दक्षिण भारत और अन्य हिस्सों में हो रही बारिश का रुख पूर्वी भारत बिहार की ओर हो गया है। 29 सितंबर तक बिहार में भारी बारिश होने की संभावना है, जिसके बाद पूर्वोत्तर राज्यों की ओर बारिश का रुख होगा।