‘विश्व दिव्यांग दिवस‘ पर राज्यपाल ने दिव्यांगजनों और संस्थाओं को सम्मानित किया

‘विश्व दिव्यांग दिवस‘ पर राज्यपाल ने दिव्यांगजनों और संस्थाओं को सम्मानित किया
‘विश्व दिव्यांग दिवस‘ पर राज्यपाल ने दिव्यांगजनों और संस्थाओं को सम्मानित किया

लखनऊ। विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर आज यहां इन्दिरा गाँधी प्रतिष्ठान में दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय पुरस्कार वितरण समारोह में सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी, खिलाड़ी, प्रेरणास्रोत, सृजनशील दिव्यांग, व्यस्क एवं बालक/बालिका तथा संस्थाओं को प्रदेश के राज्यपाल ने प्रत्येक को 25 हज़ार रूपये, प्रशस्ति-पत्र, शाॅल तथा मेडल देकर सम्मानित किया।

The Governor Honored The People And Organizations On World Disabilities Day :

सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी की श्रेणी में प्रयागराज जिले के आशीष जैन तथा कुशीनगर की अल्का भारती, सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग खिलाड़ी की श्रेणी में लखनऊ के अमन रिज़वी तथा बिजनौर ज़िले की आकांक्षा चौधरी, दिव्यांगजन के लिए प्रेरणास्रोत श्रेणी में मेरठ ज़िले की रूपाली तथा बाराबंकी के कृत वर्मा, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग व्यस्क की श्रेणी में पीलीभीत ज़िले के जगन्नाथ प्रसाद चकवर्ती, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग बालक श्रेणी में बांदा ज़िले के सूर्यप्रकाश, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग बालिका श्रेणी में लखनऊ की शबीना सैफी, सर्वश्रेष्ठ ब्रेल प्रेस श्रेणी में लखनऊ के दृष्टिबाधितार्थ पुनर्वास संस्थान, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति श्रेणी में कानपुर की प्रमिला कटियार तथा चित्रकूट के शंकर लाल गुप्ता, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत सर्वश्रेष्ठ संस्था श्रेणी में कानपुर की पहल विकलांग पुनर्वास केन्द्र समिति तथा कानपुर की ही दिव्यांग डेवलपमेण्ट सोसायटी, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत अधिकारी श्रेणी में मुरादाबाद की तत्कालीन मुख्य विकास अधिकारी एवं वर्तमान में विशेष सचिव पर्यटन सी. इन्दुमती तथा दिव्यांगजन के लिए कार्यरत कर्मचारी श्रेणी में मिर्ज़ापुर के आलोक कुमार सिंह को सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा संचालित विशेष विद्यालयों के शैक्षणिक सत्र 2017-18 में हाई-स्कूल में 80 प्रतिशत या उससे अधिक अंक से उत्तीर्ण छात्र/छात्राओं तथा इण्टरमीडिएट परीक्षा में 75 प्रतिशत या उससे अधिक अंक से उत्तीर्ण छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया। यह सम्मान पहली बार दिया गया है। हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले जिन छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया उनमें स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालिका इण्टर कालेज, मोहान रोड, लखनऊ की रति मिश्रा, निधि मिश्रा, कोमल जायसवाल, रूपवती, पूनम कश्यप, रूखसार एवं रेखा गौतम, स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, लालडिग्गी, गोरखपुर के ज्ञानप्रकाश वर्मा, विकेश कुमार गौड़ एवं सौरभ तिवारी तथा स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, मेरठ के कृष्ण कुमार शामिल हैं।

इसी तरह इण्टरमीडिएट परीक्षा के जिन छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया उनमें स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालिका इण्टर कालेज, मोहान रोड, लखनऊ की रोशनी गुप्ता, स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, लालडिग्गी, गोरखपुर के बृजलाल चैधरी तथा स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, महोखर, बांदा के दिलीप कुमार एवं शिव प्रसाद शामिल हैं।

इस अवसर पर दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर, अपर मुख्य सचिव दिव्यांगजन सशक्तीकरण महेश कुमार गुप्ता, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे, निदेशक दिव्यांगजन सशक्तीकरण डा0 बलकार सिंह तथा विभाग के समस्त अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।

लखनऊ। विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर आज यहां इन्दिरा गाँधी प्रतिष्ठान में दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय पुरस्कार वितरण समारोह में सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी, खिलाड़ी, प्रेरणास्रोत, सृजनशील दिव्यांग, व्यस्क एवं बालक/बालिका तथा संस्थाओं को प्रदेश के राज्यपाल ने प्रत्येक को 25 हज़ार रूपये, प्रशस्ति-पत्र, शाॅल तथा मेडल देकर सम्मानित किया।सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग कर्मचारी की श्रेणी में प्रयागराज जिले के आशीष जैन तथा कुशीनगर की अल्का भारती, सर्वश्रेष्ठ दिव्यांग खिलाड़ी की श्रेणी में लखनऊ के अमन रिज़वी तथा बिजनौर ज़िले की आकांक्षा चौधरी, दिव्यांगजन के लिए प्रेरणास्रोत श्रेणी में मेरठ ज़िले की रूपाली तथा बाराबंकी के कृत वर्मा, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग व्यस्क की श्रेणी में पीलीभीत ज़िले के जगन्नाथ प्रसाद चकवर्ती, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग बालक श्रेणी में बांदा ज़िले के सूर्यप्रकाश, सर्वश्रेष्ठ सृजनशील दिव्यांग बालिका श्रेणी में लखनऊ की शबीना सैफी, सर्वश्रेष्ठ ब्रेल प्रेस श्रेणी में लखनऊ के दृष्टिबाधितार्थ पुनर्वास संस्थान, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति श्रेणी में कानपुर की प्रमिला कटियार तथा चित्रकूट के शंकर लाल गुप्ता, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत सर्वश्रेष्ठ संस्था श्रेणी में कानपुर की पहल विकलांग पुनर्वास केन्द्र समिति तथा कानपुर की ही दिव्यांग डेवलपमेण्ट सोसायटी, दिव्यांगजन के लिए कार्यरत अधिकारी श्रेणी में मुरादाबाद की तत्कालीन मुख्य विकास अधिकारी एवं वर्तमान में विशेष सचिव पर्यटन सी. इन्दुमती तथा दिव्यांगजन के लिए कार्यरत कर्मचारी श्रेणी में मिर्ज़ापुर के आलोक कुमार सिंह को सम्मानित किया गया।इस अवसर पर दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग द्वारा संचालित विशेष विद्यालयों के शैक्षणिक सत्र 2017-18 में हाई-स्कूल में 80 प्रतिशत या उससे अधिक अंक से उत्तीर्ण छात्र/छात्राओं तथा इण्टरमीडिएट परीक्षा में 75 प्रतिशत या उससे अधिक अंक से उत्तीर्ण छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया। यह सम्मान पहली बार दिया गया है। हाईस्कूल परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले जिन छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया उनमें स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालिका इण्टर कालेज, मोहान रोड, लखनऊ की रति मिश्रा, निधि मिश्रा, कोमल जायसवाल, रूपवती, पूनम कश्यप, रूखसार एवं रेखा गौतम, स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, लालडिग्गी, गोरखपुर के ज्ञानप्रकाश वर्मा, विकेश कुमार गौड़ एवं सौरभ तिवारी तथा स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, मेरठ के कृष्ण कुमार शामिल हैं।इसी तरह इण्टरमीडिएट परीक्षा के जिन छात्र/छात्राओं को सम्मानित किया गया उनमें स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालिका इण्टर कालेज, मोहान रोड, लखनऊ की रोशनी गुप्ता, स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, लालडिग्गी, गोरखपुर के बृजलाल चैधरी तथा स्पर्श राजकीय दृष्टिबाधित बालक इण्टर कालेज, महोखर, बांदा के दिलीप कुमार एवं शिव प्रसाद शामिल हैं।इस अवसर पर दिव्यांगजन सशक्तीकरण मंत्री ओम प्रकाश राजभर, अपर मुख्य सचिव दिव्यांगजन सशक्तीकरण महेश कुमार गुप्ता, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे, निदेशक दिव्यांगजन सशक्तीकरण डा0 बलकार सिंह तथा विभाग के समस्त अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।