7 साल की मोहब्बत फिर भी बारात लेकर नही आया दूल्हा, दुल्हन करती रही इंतजार

bride
7 साल की मोहब्बत फिर भी बारात लेकर नही आया दूल्हा, दुल्हन करती रही इंतजार

गुरदासपुर। पंजाब के गुरदासपुर में रहने वाले युवक युवती 7 साल से एक दूसरे से बेइंतहा मोहब्बत करते थे। दोनो ने किसी तरह अपने घर वालो को मनाया तो शादी तय हुई लेकिन जिस दिन शादी थी उस दिन दूल्हा बारात लेकर ही नही पंहुचा और दुल्हन मंडप में बैठकर इंतजार ही करती रह गयी। जब शाम त​क बारात नही आयी तो दुल्हन के परिजनो ने लड़के के घर जाकर देखा तो उनके होश उड़ गये। दूल्हे के घर पर ताला पड़ा था और सारे मोबाईल नम्बर बन्द थे, दुल्हन के परिजनो ने तुरन्त थाने जाकर शिकायत दर्ज करवाई।

The Groom Did Not Bring The 7 Year Old Love Procession The Bride Waited :

बताया गया कि गुरदासपुर की रहने वाली युवती का पास के ही संगलपुरा में रहने वाले युवक से करीब 7 साल से अफेयर था। दोनो परिवार पहले शादी के लिए राजी नही थे लेकिन किसी तरह दोनो ने अपने परिवार वालो को मनाया और रविवार को उनकी शादी की तारीख तय कर दी गयी। लड़की के परिवार वालों की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नही थी इसलिए शादी मन्दिर मे होनी थी। सुबह 11 बजे बारात आनी थी लेकिन जब कई घंटो तक बारात नही आयी तो दुल्हन व उसके घर वालों को चिन्ता होने लगी।

पुलिस का कहना है कि लड़की वालो की शिकायत पर छापेमारी की गयी लेकिन लड़के या उसके घर वालो का कहीं कोई पता नही चल पा रहा है। वहीं लड़की के परिजनो का कहना है कि लड़का उनकी बेटी से बहुत ज्यादा प्यार करता था, पहले लड़के के चाचा शादी के लिए राजी नही थे तो लड़की वाले भी शादी करने में डर रहे थे लेकिन जब वो राजी हो गये तब शादी तय कर दी गयी थी। लड़की वालो का कहना है कि एक दिन पहले ही शगुन भी आया था।

गुरदासपुर। पंजाब के गुरदासपुर में रहने वाले युवक युवती 7 साल से एक दूसरे से बेइंतहा मोहब्बत करते थे। दोनो ने किसी तरह अपने घर वालो को मनाया तो शादी तय हुई लेकिन जिस दिन शादी थी उस दिन दूल्हा बारात लेकर ही नही पंहुचा और दुल्हन मंडप में बैठकर इंतजार ही करती रह गयी। जब शाम त​क बारात नही आयी तो दुल्हन के परिजनो ने लड़के के घर जाकर देखा तो उनके होश उड़ गये। दूल्हे के घर पर ताला पड़ा था और सारे मोबाईल नम्बर बन्द थे, दुल्हन के परिजनो ने तुरन्त थाने जाकर शिकायत दर्ज करवाई। बताया गया कि गुरदासपुर की रहने वाली युवती का पास के ही संगलपुरा में रहने वाले युवक से करीब 7 साल से अफेयर था। दोनो परिवार पहले शादी के लिए राजी नही थे लेकिन किसी तरह दोनो ने अपने परिवार वालो को मनाया और रविवार को उनकी शादी की तारीख तय कर दी गयी। लड़की के परिवार वालों की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नही थी इसलिए शादी मन्दिर मे होनी थी। सुबह 11 बजे बारात आनी थी लेकिन जब कई घंटो तक बारात नही आयी तो दुल्हन व उसके घर वालों को चिन्ता होने लगी। पुलिस का कहना है कि लड़की वालो की शिकायत पर छापेमारी की गयी लेकिन लड़के या उसके घर वालो का कहीं कोई पता नही चल पा रहा है। वहीं लड़की के परिजनो का कहना है कि लड़का उनकी बेटी से बहुत ज्यादा प्यार करता था, पहले लड़के के चाचा शादी के लिए राजी नही थे तो लड़की वाले भी शादी करने में डर रहे थे लेकिन जब वो राजी हो गये तब शादी तय कर दी गयी थी। लड़की वालो का कहना है कि एक दिन पहले ही शगुन भी आया था।