युवराज के बाद अब हरभजन सिंह जल्द ले सकते है संन्यास!

harbhajan singh
हरभजन सिंह बोले- अगर ऐसा ही बना रहा कोरोना का खतरा तो रद्द कर देना चाहएि IPL

नई दिल्ली। टीम इंडिया (Team INdia) के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) इंग्लैंड (England) में क्रिकेट खेलने के लिए जल्द ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket) को अलविदा कह सकते हैं। पिछले तीन साल से ज्यादा वक्त से हरभजन टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। हाल ही में उनके साथी युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि भज्जी भी बहुत जल्दी ये ऐलान कर सकते हैं।  

The Hundred Will Harbhajan Singh Retire To Be In The Hundred :

भारतीय क्रिकेट के धुरंधर स्पिनर्स में से एक हरभजन सिंह लगातार टीम इंडिया में जगह बनाने में नाकाम रहे हैं। इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलने वाले हरभजन इन दिनों घरेलू क्रिकेट में भी नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में उनके इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की खबरें सामने आई है। इसके पीछे इंग्लैंड में पहली बार शुरु हो रहे 100 बॉल क्रिकेट को भी माना जा रहा है।

ऐसी खबर है कि हरभजन को इंग्लैंड में पहली बार शुरू हो रहे 100 बॉल क्रिकेट के ड्राफ्ट में शामिल किया गया है। उनका ब्रेस प्राइस 1 लाख पाउंड है और वह इस टूर्नामेंट में खेलते नजर आ सकते हैं। हालांकि बीसीसीआई की तरफ से भारतीय खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने की इजाजत नहीं है। इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद युवराज सिंह बीसीसीआई से इसकी खास इजाजत लेकर कनाडा के ग्लोबल टी20 लीग में खेलने पहुंचे थे।

जुलाई 2020 में शुरू होगा टूर्नामेंट

द हंड्रेड (The Hundred) लीग के लिए जिन 25 विदेशी खिलाड़ियों की सूची का ऐलान किया गया है, उनमें हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) एकमात्र भारतीय हैं। यह लीग अगले साल जुलाई महीने में शुरू होगी. लीग के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 20 अक्टूबर को लंदन में की जाएगी। ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, फिलहाल हरभजन सिंह का नाम ड्राफ्ट में है और अगर उन्हें किसी टीम में चुन लिया जाता है तो फिर उन्हें बीसीसीआई (BCCI) को अपने कदम के बारे में बताना ही होगा। टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार, किसी टीम में सिर्फ तीन ही विदेशी खिलाड़ी खेल सकते हैं। ऐसे में अगर हरभजन को चुन लिया जाता है तो फिर उनके पास लीग में खेलने के लिए रिटायर होने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। इस बात की उम्मीद कम ही है कि हरभजन ये फैसला लेने से पीछे हटेंगे।  

…तो लेना ही होगा संन्यास

बेशक, पिछले कुछ समय से हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) टीम इंडिया में वापसी की आस लगाए बैठे हैं, लेकिन वास्तविकता ये भी है कि अगले साल वे 40 साल के हो जाएंगे। हालांकि हरभजन का मानना है कि उनमें सीमित ओवर प्रारूप में दो साल का क्रिकेट और बचा है। मगर हरभजन सिर्फ आईपीएल में ही नियमित रूप से खेल रहे हैं और पिछले साल से उन्होंने घरेलू क्रिकेट खेलना भी छोड़ दिया है, ताकि किसी युवा खिलाड़ी के करियर में रुकावट न आए। इस बात की संभावना कम ही है कि बीसीसीआई अपने नियमों में किसी तरह का बदलाव करेगा। ऐसे में हरभजन को अगर अगले साल इस लीग में खेलना है तो फिर उन्हें संन्यास का ऐलान करना ही होगा।

नई दिल्ली। टीम इंडिया (Team INdia) के ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) इंग्लैंड (England) में क्रिकेट खेलने के लिए जल्द ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International Cricket) को अलविदा कह सकते हैं। पिछले तीन साल से ज्यादा वक्त से हरभजन टीम इंडिया से बाहर चल रहे हैं। हाल ही में उनके साथी युवराज सिंह ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहा है। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि भज्जी भी बहुत जल्दी ये ऐलान कर सकते हैं।   भारतीय क्रिकेट के धुरंधर स्पिनर्स में से एक हरभजन सिंह लगातार टीम इंडिया में जगह बनाने में नाकाम रहे हैं। इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स की तरफ से खेलने वाले हरभजन इन दिनों घरेलू क्रिकेट में भी नहीं खेल रहे हैं। ऐसे में उनके इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की खबरें सामने आई है। इसके पीछे इंग्लैंड में पहली बार शुरु हो रहे 100 बॉल क्रिकेट को भी माना जा रहा है। ऐसी खबर है कि हरभजन को इंग्लैंड में पहली बार शुरू हो रहे 100 बॉल क्रिकेट के ड्राफ्ट में शामिल किया गया है। उनका ब्रेस प्राइस 1 लाख पाउंड है और वह इस टूर्नामेंट में खेलते नजर आ सकते हैं। हालांकि बीसीसीआई की तरफ से भारतीय खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने की इजाजत नहीं है। इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद युवराज सिंह बीसीसीआई से इसकी खास इजाजत लेकर कनाडा के ग्लोबल टी20 लीग में खेलने पहुंचे थे। जुलाई 2020 में शुरू होगा टूर्नामेंट द हंड्रेड (The Hundred) लीग के लिए जिन 25 विदेशी खिलाड़ियों की सूची का ऐलान किया गया है, उनमें हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) एकमात्र भारतीय हैं। यह लीग अगले साल जुलाई महीने में शुरू होगी. लीग के लिए खिलाड़ियों की नीलामी 20 अक्टूबर को लंदन में की जाएगी। ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, फिलहाल हरभजन सिंह का नाम ड्राफ्ट में है और अगर उन्हें किसी टीम में चुन लिया जाता है तो फिर उन्हें बीसीसीआई (BCCI) को अपने कदम के बारे में बताना ही होगा। टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार, किसी टीम में सिर्फ तीन ही विदेशी खिलाड़ी खेल सकते हैं। ऐसे में अगर हरभजन को चुन लिया जाता है तो फिर उनके पास लीग में खेलने के लिए रिटायर होने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। इस बात की उम्मीद कम ही है कि हरभजन ये फैसला लेने से पीछे हटेंगे।   ...तो लेना ही होगा संन्यास बेशक, पिछले कुछ समय से हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) टीम इंडिया में वापसी की आस लगाए बैठे हैं, लेकिन वास्तविकता ये भी है कि अगले साल वे 40 साल के हो जाएंगे। हालांकि हरभजन का मानना है कि उनमें सीमित ओवर प्रारूप में दो साल का क्रिकेट और बचा है। मगर हरभजन सिर्फ आईपीएल में ही नियमित रूप से खेल रहे हैं और पिछले साल से उन्होंने घरेलू क्रिकेट खेलना भी छोड़ दिया है, ताकि किसी युवा खिलाड़ी के करियर में रुकावट न आए। इस बात की संभावना कम ही है कि बीसीसीआई अपने नियमों में किसी तरह का बदलाव करेगा। ऐसे में हरभजन को अगर अगले साल इस लीग में खेलना है तो फिर उन्हें संन्यास का ऐलान करना ही होगा।