जज बोले- मास्क कहां है, लगाया 10 हजार का जुर्माना, कोर्ट में दिखाई शादी की तस्वीर

mask

होशियारपुर: पंजाब के होशियारपुर में कोरोना संकट के बीच एक दंपति को अपनी शादी में मास्क न पहनना महंगा पड़ गया. पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने दंपति के खिलाफ 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. असल में, दंपति की शादी से परिवार के लोग नाराज हैं. इसकी वजह से सुरक्षा की मांग को लेकर दंपति ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और परिजनों से अपने लिए सुरक्षा मुहैया कराये जाने की मांग की.

The Judge Said Where Is The Mask Imposed A Fine Of 10 Thousand The Picture Of The Wedding Shown In Court :

दंपति ने सबूत के तौर पर अपने शादी समारोह की तस्वीर कोर्ट के समक्ष पेश की और बताया कि उन्होंने शादी कर ली है. तस्वीर देखने के बाद जस्टिस हरि पाल वर्मा ने पाया कि शादी समारोह में उपस्थित लोगों और दंपति ने मास्क नहीं पहना था. जबकि शादी समारोह का आयोजन कोरोना लॉकडाउन के दौरान किया गया था. इसके बाद जज ने एक तरफ जिला प्रशासन को यह कहा कि वो दंपति को सुरक्षा मुहैया कराये और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करे और दूसरी तरफ दंपति पर मास्क न पहने के लिए 10 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया.

जज ने आदेश दिया कि जुर्माने की राशि होशियारपुर जिला कलेक्टर के यहां जमा करानी होगी जिसका इस्तेमाल जरूरतमंद लोगों के लिए मास्क खरीदने में किया जाएगा.

होशियारपुर: पंजाब के होशियारपुर में कोरोना संकट के बीच एक दंपति को अपनी शादी में मास्क न पहनना महंगा पड़ गया. पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने दंपति के खिलाफ 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. असल में, दंपति की शादी से परिवार के लोग नाराज हैं. इसकी वजह से सुरक्षा की मांग को लेकर दंपति ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और परिजनों से अपने लिए सुरक्षा मुहैया कराये जाने की मांग की. दंपति ने सबूत के तौर पर अपने शादी समारोह की तस्वीर कोर्ट के समक्ष पेश की और बताया कि उन्होंने शादी कर ली है. तस्वीर देखने के बाद जस्टिस हरि पाल वर्मा ने पाया कि शादी समारोह में उपस्थित लोगों और दंपति ने मास्क नहीं पहना था. जबकि शादी समारोह का आयोजन कोरोना लॉकडाउन के दौरान किया गया था. इसके बाद जज ने एक तरफ जिला प्रशासन को यह कहा कि वो दंपति को सुरक्षा मुहैया कराये और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करे और दूसरी तरफ दंपति पर मास्क न पहने के लिए 10 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया. जज ने आदेश दिया कि जुर्माने की राशि होशियारपुर जिला कलेक्टर के यहां जमा करानी होगी जिसका इस्तेमाल जरूरतमंद लोगों के लिए मास्क खरीदने में किया जाएगा.