1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. कोरोना संकट में बेपटरी हुई सेक्स वर्कर की जिंदगी को मिली नई पहचान, आशा वर्कर्स की मेहनत ने बदली जिंदगी

कोरोना संकट में बेपटरी हुई सेक्स वर्कर की जिंदगी को मिली नई पहचान, आशा वर्कर्स की मेहनत ने बदली जिंदगी

The Life Of The Sex Worker Who Was Destroyed In The Corona Section Got New Identity The Hard Work Of Asha Workers Changed The Life

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी के कारण लाखों लोगों की जिंदगी पर बड़ा असर पड़ा है। कोरोना महामाारी के कारण लाखों लोगों का रोजगार छीन गया, जिसके कारण अभी तक उनकी जिंदगी बेपटरी है। वहीं, ऐसी स्थिति में सेक्स वर्कर्स का एक बड़ा तबका भुखमरी के कागार पर पहुंच गया।

पढ़ें :- आज बुंदेलखंड जाएंगे योगी आदित्यनाथ, तीन बांध परियोजनाओं की देंगे सौगात, पेयजल और सिंचाई की समस्या से मिलेगी निजात

आमदनी नहीं होने के कारण सेक्स वर्कर को एक—एक दिन काटना मुश्किल हो गया। हालांकि, ऐसी स्थिति में आशा वर्कर्स ने इन्हें नही राह दिखाई, जिसके कारण उनकी जिंदगी और पहचान भी बदल गयी। कोरोना महामारी के दौरान महाराष्ट्र के नासिक के पास भद्रकाली में सेक्स वर्कर्स को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

भद्रकाली में रहने वाली सेक्स वर्कर्स का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से उनका बहुत बुरा हाल हो गया। दो वक्त के खाने के लिए भी काफी संघर्ष करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि इन सबके बीच आशा वर्कर्स ने हमारे हुनर को नया रंग दियाा, जिसके कारण जिंदगी पटरी पर धीरे धीरे लौटने लगी है।

उन्होंने हम लोगों को ज्वैलरी बनाने का काम सिखाया, जिसके कारण अब अपना घर चलाने के लिए आभूषण बनाकर बाजार में बेचने का काम शुरू कर दिया। महिलाओं ने हमारे बनाए आभूषणों पर अच्छी प्रतिक्रिया दी, जिससे हमारा आत्मविश्वास बढ़ा। इस कोरोना संकट ने हमारी पहचान और काम दोनों बदल दिए हैं। उस महिला ने कहा कि अब हम भी एक अच्छी जिंदगी जी सकते हैं।

 

पढ़ें :- सरकारी नौकरी: आबकारी विभाग की प्रयोगशाला में खाली पदों पर होंगी भर्ती

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...