बागपत में देश के विभिन्न राज्याें के पकड़े गए जमातियों की संख्या हुई 249

HS

बागपत: जिले में अलग-अलग क्षेत्रों की मस्जिद और मदरसों से पकड़े गए जमातियों की संख्या 249 तक पहुंच गई है। इनमें बुधवार देर रात पकड़े जमातियों की संख्या 214 है। इससे पहले 25 जमाती पकड़े गए थे। ये सभी देश के विभिन्न राज्यों के हैं और निजामुद्दीन मरकज से होकर यहां आए थे। इनमें कुछ नेपाली भी हैं। सभी जमातियों का मेडिकल टेस्ट कराया गया है। सभी को मेडिकल टेस्ट के बाद क्वॉरेंटाइन किया गया। अब जिला प्रशासन यह पता लगाने का भी प्रयास कर रहा है कि इन लोगों ने कहां-कहां भ्रमण किया ताकि इनके संपर्क में आए लोगों का भी पता लगाया जा सके।

The Number Of Deposits Held In Baghpat From Various States Of The Country Was 249 :

जिला प्रशासन और पुलिस बुधवार को बागपत जनपद में जमातियों की तलाश के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमों के साथ कई जगहों पर पड़ताल की। खुफिया विभाग और आम लोगों से आई जानकारी के आधार पर पुलिस ने छापामारी करते हुए देर रात्रि तक 214 जमातियों को हिरासत में लिया गया, जिसमें नेपाल, पश्चिम बंगाल, असम, आंध्रप्रदेश, बिहार, झारखंड, मणिपुर के जमाती शामिल हैं।

छापामारी में बिनौली से 29, दाहा से 14, रमाला से नौ, छपरौली से 29, बड़ौत 61, रटौल 30 हैं। इनमें 17 नेपाल के जमाती हैं। डौला में 13, बागपत से 29 हैं। इनमें 11 नेपाली हैं। सबसे अधिक जमाती पश्चिमी बंगाल के हैं। इनकी संख्या 60 है। असम से 37 और आंधप्रदेश से 21 हैं। इन सभी का सीएचसी बागपत, बिनौली, खेकड़ा, पिलाना सहित अन्य स्वास्थ्य केंद्रों पर इनका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया है। इसके अलावा डौला और रटौल के 43 जमातियों को श्री कृष्ण इंटर कॉलेज बालैनी में क्वॉरेंटाइन किया गया है। इनमें 14 लोग शामली जमात में गए थे, उनका भी मेडिकल टेस्ट कराकर उनको भी क्वारेंटाइन किजा रहा है।
एसपी बागपत का कहना है कि जानकारी छिपाने और सही सूचना न देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके साथ ही पुलिस और खुफिया विभाग की टीम जांच में जुटी हुई हैं। जिला प्रशासन बार-बार सभी से अपील कर रहा है कि कहीं पर भी 144 का उल्लंघन नहीं किया जाए। लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन हो, तभी इस महामारी से बचाव किया जा सकता है। जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने भी जनपद के लोगों से प्रशासन का पूरा सहयोग करने की अपील की है।

पुलिस अधीक्षक गोपेंन्द्र यादव ने बताया कि जिले में आए देश के 13 राज्यों के अलावा नेपाल के जमाती शामिल हैं। इनकी संख्या लगभग 249 के आसपास है। उन्होंने बताया कि सबसे अधिक जमाती बागपत, बड़ौत और खेकड़ा में पकड़े गए हैं। कुछ जमातियों ने अपनी सूचना प्रशासन को दी थी जिन्होंने सूचना नहीं दी थी। उन सभी की पड़ताल लगातार की जा रही है। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद सभी को क्वारेंटाइन किया जा रहा है और इनके संपर्क में आए हुए लोगों की भी जानकारी की जा रही है।

बागपत: जिले में अलग-अलग क्षेत्रों की मस्जिद और मदरसों से पकड़े गए जमातियों की संख्या 249 तक पहुंच गई है। इनमें बुधवार देर रात पकड़े जमातियों की संख्या 214 है। इससे पहले 25 जमाती पकड़े गए थे। ये सभी देश के विभिन्न राज्यों के हैं और निजामुद्दीन मरकज से होकर यहां आए थे। इनमें कुछ नेपाली भी हैं। सभी जमातियों का मेडिकल टेस्ट कराया गया है। सभी को मेडिकल टेस्ट के बाद क्वॉरेंटाइन किया गया। अब जिला प्रशासन यह पता लगाने का भी प्रयास कर रहा है कि इन लोगों ने कहां-कहां भ्रमण किया ताकि इनके संपर्क में आए लोगों का भी पता लगाया जा सके। जिला प्रशासन और पुलिस बुधवार को बागपत जनपद में जमातियों की तलाश के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीमों के साथ कई जगहों पर पड़ताल की। खुफिया विभाग और आम लोगों से आई जानकारी के आधार पर पुलिस ने छापामारी करते हुए देर रात्रि तक 214 जमातियों को हिरासत में लिया गया, जिसमें नेपाल, पश्चिम बंगाल, असम, आंध्रप्रदेश, बिहार, झारखंड, मणिपुर के जमाती शामिल हैं। छापामारी में बिनौली से 29, दाहा से 14, रमाला से नौ, छपरौली से 29, बड़ौत 61, रटौल 30 हैं। इनमें 17 नेपाल के जमाती हैं। डौला में 13, बागपत से 29 हैं। इनमें 11 नेपाली हैं। सबसे अधिक जमाती पश्चिमी बंगाल के हैं। इनकी संख्या 60 है। असम से 37 और आंधप्रदेश से 21 हैं। इन सभी का सीएचसी बागपत, बिनौली, खेकड़ा, पिलाना सहित अन्य स्वास्थ्य केंद्रों पर इनका मेडिकल टेस्ट भी कराया गया है। इसके अलावा डौला और रटौल के 43 जमातियों को श्री कृष्ण इंटर कॉलेज बालैनी में क्वॉरेंटाइन किया गया है। इनमें 14 लोग शामली जमात में गए थे, उनका भी मेडिकल टेस्ट कराकर उनको भी क्वारेंटाइन किजा रहा है। एसपी बागपत का कहना है कि जानकारी छिपाने और सही सूचना न देने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा। इसके साथ ही पुलिस और खुफिया विभाग की टीम जांच में जुटी हुई हैं। जिला प्रशासन बार-बार सभी से अपील कर रहा है कि कहीं पर भी 144 का उल्लंघन नहीं किया जाए। लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन हो, तभी इस महामारी से बचाव किया जा सकता है। जिलाधिकारी शकुंतला गौतम ने भी जनपद के लोगों से प्रशासन का पूरा सहयोग करने की अपील की है। पुलिस अधीक्षक गोपेंन्द्र यादव ने बताया कि जिले में आए देश के 13 राज्यों के अलावा नेपाल के जमाती शामिल हैं। इनकी संख्या लगभग 249 के आसपास है। उन्होंने बताया कि सबसे अधिक जमाती बागपत, बड़ौत और खेकड़ा में पकड़े गए हैं। कुछ जमातियों ने अपनी सूचना प्रशासन को दी थी जिन्होंने सूचना नहीं दी थी। उन सभी की पड़ताल लगातार की जा रही है। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद सभी को क्वारेंटाइन किया जा रहा है और इनके संपर्क में आए हुए लोगों की भी जानकारी की जा रही है।